0

आज है बुद्ध पूर्णिमा : देखिए विशेष सामग्री

बुधवार,मई 26, 2021
0
1
माना जाता है कि हिन्दू कैलेंडर अनुसार वैशाख माह की पूर्णिमा को गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था और इसी दिन उन्हें ज्ञान भी प्राप्त हुआ था। बुद्ध जयंती को हिन्दू और बौद्ध दोनों ही धर्मों के अनुयायी मनाते हैं। भारत और विश्व में ऐसे कई संयुक्त मंदिर है जो ...
1
2
26 मई 2021 बुधवार के दिन है बुद्ध पूर्णिमा। आनंद, अनिरुद्ध, महाकश्यप, रानी खेमा (महिला), महाप्रजापति (महिला), भद्रिका, भृगु, किम्बाल, देवदत्त, उपाली, सारिपुत्र, मोंगलियान आदि। इन्हीं में से तीन प्रमुख थे महाकश्यप, सारिपुत्र और मोंगलियान। आओ जानते ...
2
3
भगवान बुद्ध का आदर्श जीवन युग-युग तक लोगों को सत्य, प्रेम और करुणा की प्रेरणा देता रहेगा। काश, हम उनके जीवन से, उनके उपदेश से कुछ सीख पाएं!
3
4
इस वर्ष बुधवार, 26 मई 2021 को बुद्ध जयंती मनाई जा रही है। हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए बुद्ध विष्णु के नौवें अवतार हैं। अतः हिन्दुओं के लिए भी बुद्ध पूर्णिमा का दिन पवित्र माना जाता है।
4
4
5
गौतम बुद्ध को कौन नहीं जानता। यहां पढ़ें उनके जीवन से जुड़ी रोचक एवं शिक्षाप्रद कहानियां-
5
6
बौद्ध धर्म का यह चमत्कारी मंत्र सभी प्रकार के खतरों से सुरक्षा के लिए जपा जाता है। यह निम्न षडाक्षरीय मंत्र आने वाले हर संकटों से सुरक्षित रखता है।
6
7
वैशाख पूर्णिमा के दिन बुद्ध का जन्म नेपाल के लुम्बिनी वन में ईसा पूर्व 563 को हुआ। इस बार बुद्ध जयंती 26 मई 2021 बुधवार को मनाई जाएगी। शोध बताते हैं कि दुनिया में सर्वाधिक प्रवचन बुद्ध के ही रहे हैं। यह रिकॉर्ड है कि बुद्ध ने जितना कहा और जितना ...
7
8
बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध का जन्म कपिलवस्तु के राजा शुद्धोदन के यहां वैशाख पूर्णिमा को हुआ था। इस पूर्णिमा का बुद्ध पूर्णिमा कहा जाता है। उनकी माता का नाम महामाया देवी था। इस बार अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार उनका जन्मोत्सव 26 मई 2021 बुधवार को ...
8
8
9
दुनिया को शांति और अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाले गौतम बुद्ध बौद्ध धर्म के संस्थापक माने जाते हैं। यहां पढ़ें भगवान बुद्ध के 12 अनमोल विचार-
9
10
बुद्ध के जन्म के बाद एक भविष्यवक्ता ने राजा शुद्धोदन से कहा था कि यह बालक चक्रवर्ती सम्राट बनेगा, लेकिन यदि वैराग्य भाव उत्पन्न हो गया तो इसे बुद्ध होने से कोई नहीं रोक सकता और इसकी ख्‍याति समूचे संसार में अनंतकाल तक कायम रहेगी। राजा शुद्धोदन ...
10
11
वैसाखी पूर्णिमा पावनता की त्रयी है। इस पुनीत तिथि को ही बुद्ध का अवतरण हुआ, आत्मज्ञान अर्थात बोध हुआ और महापरिनिर्वाण हुआ। गौतम बुद्ध ने अपने उपदेशों में संतुलन की धारणा को महत्व दिया।
11
12
बुधवार, 26 मई 2021 को बुद्ध पूर्णिमा है। बैसाख पूर्णिमा, वैशाख पूर्णिमा को ही बुद्ध पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। यह भगवान बुद्ध का जन्मोत्सव का दिन है।
12
13
बुद्ध भगवान ने अनेक प्रकार से प्राणी हिंसा की निंदा और उसके त्याग की प्रशंसा की है। उन्होंने कहा है कि कोई भी चर्म नहीं धारण करना चाहिए। मनुष्य को क्रोध नहीं करना चाहिए।
13
14
आज बुद्ध पूर्णिमा- बुद्ध पूर्णिमा वैशाख मास में मनाया जाता है। वैशाख महीने में आने वाली पूर्णिमा को सूर्य अपनी उच्च राशि मेष में होता है और चंद्रमा भी तुला में होता है। अत: ऐसे शुभ मुहूर्त में पवित्र जल से स्नान करने से कई जन्मों के पापों का नाश हो ...
14
15
बुद्ध को महात्मा या स्वामी कहने वाले उन्हें कतई नहीं जानते। बुद्ध सिर्फ बुद्ध जैसे हैं। अवतारों की कड़ी में बुद्ध अंतिम हैं। उनके बाद प्रलयकाल तक कोई अवतार नहीं होने वाला है।
15
16
एक बार भगवान बुद्ध अपने अनुयायियों के साथ किसी गांव में उपदेश देने जा रहे थे। उस गांव से पूर्व ही मार्ग में उन लोगों को जगह-जगह बहुत सारे गड्ढे़ खुदे हुए मिले।
16
17
हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए बुद्ध विष्णु के नौवें अवतार हैं। अतः हिन्दुओं के लिए भी बुद्ध पूर्णिमा का दिन पवित्र माना जाता है।
17
18
बांग्लादेश, पाकिस्तान, मलेशिया, इंडोनेशिया, सिंगापुर और अफगानिस्तान में बौद्धों पर हुए अत्याचार के चलते वहां इनकी संख्या कम हो चली है। आओ जानते हैं गौतम बुद्ध के बारे में 25 खास जानकारियां।
18
19
7 मई 2020 को बुद्ध जयंती हैं। बुद्ध यानी सिद्धार्थ का जन्म नेपाल की तराई के लुम्बिनी वन में ईसा पूर्व कपिलवस्तु के महाराजा शुद्धोदन की धर्मपत्नी महारानी महामाया देवी के घर हुआ था।
19