1. मनोरंजन
  2. बॉलीवुड
  3. बॉलीवुड न्यूज़
  4. soumitra chatterjee very critical doctors trying their best to save him
Written By
Last Updated: रविवार, 15 नवंबर 2020 (21:09 IST)

मशहूर बंगाली एक्टर सौमित्र चटर्जी की हालत गंभीर, ठीक करने की आखिरी कोशिश में जुटे डॉक्टर्स

Photo : Twitter
मशहूर बांग्ला एक्टर सौमित्र चटर्जी की हालत गंभीर और चिंताजनक बनी हुई है। कोलकाता के एक प्राइवेट अस्पताल में डॉक्टर उनकी सेहत में सुधार लाने की अंतिम कोशिश कर रहे हैं। सौमित्र चटर्जी का इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम ने ये जानकारी दी है।

 
बताया जा रहा है कि उन्हें लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है और वो जीवन के लिए जूझ रहे हैं। दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित सौमित्र चटर्जी को लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है और वह किसी तरह से रिस्पॉन्स नहीं कर रहे हैं। 
सौमित्र चटर्जी का इलाज कर रहे डॉक्टर ने बताया कि 'हमारे सभी प्रयासों के बावजूद उनका फिजियोलॉजिकल सिस्टम रिस्पॉन्ड नहीं कर रहा है। उनकी हालत पहले से ज्यादा खराब है। उन्हें हर तरह के सपोर्ट पर रखा गया है और वह जीवन के लिए जूझ रहे हैं।
 
खबरों के अनुसार डॉक्टर ने बताया कि कोरोना के चलते उनका तंत्रिका तंत्र निष्क्रिय सा हो गया है और सभी प्रयास निष्फल साबित हो रहे हैं। हमने स्टेरॉयड, इम्युनोग्लोबुलिन, कार्डियोलॉजी, एंटी-वायरल थेरेपी, इम्यूनोलॉजी सब कुछ करने की कोशिश की। डॉक्टर ने बताया कि न्यूरोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, कार्डियोलॉजी, क्रिटिकल केयर मेडिसिन के विशेषज्ञों की एक बड़ी टीम ने पिछले 40 दिनों में सौमित्र चटर्जी के स्वास्थ्य को फिर पटरी पर लाने का प्रयास किया।
 
डॉक्टर ने कहा कि 'हमें खेद है कि वह कोई प्रतिक्रिया नहीं दे रहे हैं। हम अपना अंतिम प्रयास कर रहे हैं। यहां तक कि उनके परिवार ने मान लिया है कि उनकी सेहत में सुधार होने वाला नहीं है। उनकी तबीयत और बिगड़ गई है। हमने सीटी स्कैन किया ताकि पता चल सके कि कहीं कोई समस्या तो नहीं है। हमने एक ईईजी किया था, लेकिन उनके मस्तिष्क के भीतर बहुत कम गतिविधि हो रही है। उसकी ऑक्सीजन की आवश्यकता बढ़ गई थी और किडनी ठीक ढंग से काम नहीं कर रही है।
 
बता दें ‍कि सत्यजीत रॉय की फिल्म 'अपुर संसार' से अपने करियर की शुरुआत करने वाले सौमित्र चटर्जी को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद 6 अक्टूबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के बाद वह कोरोना निगेटिव हो गए, लेकिन कोविड एन्सेफैलोपैथी के चलते कई अन्य जटिलताएं पैदा हो गईं।