छात्रों का सपोर्ट करने JNU पहुंचीं दीपिका पादुकोण, सोशल मीडिया पर छिड़ी बहस

पुनः संशोधित बुधवार, 8 जनवरी 2020 (11:05 IST)
दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हुए हमले का हर तरफ विरोध हो रहा है। इस हिंसा का हर जगह विरोध हो रहा है। बीते दिनों मुंबई में कई फिल्मी हस्तियां सड़क पर उतरीं थीं तो मंगलवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हो रहे छात्रों के प्रदर्शन में फिल्म अभिनेत्री भी शामिल हुईं।
बॉलीवुड2019 के सर्वेक्षण में भाग लेने के लिए क्लिक करें

दीपिका पादुकोण यूनिवर्सिटी में हो रहे प्रदर्शन में करीब 10 मिनट तक मौजूद रहीं। हालांकि वह पूरे समय खामोश ही दिखाई दीं। दीपिका यहां काले कपड़ों में पहुंची थीं।

हिंसा के खिलाफ प्रदर्शनकारी छात्रों के समर्थन में उतरीं दीपिका के कदम की एक तरफ जहां जमकर तारीफ हो रही है, वहीं उनके विरोध में आवाज उठ रही है। दीपिका पादुकोण के इस रुख ने सोशल मीडिया को दो ग्रुप्स में बांट दिया है। #ISupportDeepika से लेकर #boycottchhapaak तक ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे हैं और इस लड़ाई में नेताओं से लेकर बॉलीवुड सितारे सब उतर आए हैं।
वहीं दीपिका के जेएनयू में विरोध प्रदर्शन में शामिल होने की खबर मिलते ही सोशल मीडिया पर #BoycottChhapaak भी ट्रेंड करने लगा। बीजेपी नेता तेजिंदर सिंह बग्गा ने ट्वीट कर दीपिका की फिल्म का बायकॉट करने को कहा। बग्गा ने लिखा, 'टुकड़े-टुकड़े गैंग और अफजल गैंग का समर्थन करने पर अगर आप दीपिका पादुकोण की फिल्मों का बहिष्कार करेंगे, तो रीट्वीट करें।'
कई सेलेब्स दीपिका के सपोर्ट में नजर आए और उन्होंने लोगों से देखने पर जोर दिया। अनुराग कश्यप ने लिखा, किसी भी प्रजाति में फीमेल हमेशा से ही ताकतवर थी, है और रहेगी। छपाक का पहला दिन सारे शो। वो सभी लोग जो हिंसा के खिलाफ खड़े हैं उन्हें बुक माई शो पर जाना चाहिए और इन लोगों को दिखा देना चाहिए। एक साइलेंट बयान देने का समय आ गया है जो सबसे ज्यादा मारक साबित होगा।
अनुभव सिन्हा ने ट्वीट कर कहा कि मैं हमेशा से ये कहता रहा हूं कि महिलाएं सबसे ज्यादा स्ट्रॉन्ग होती हैं। दीपिका के लिए सम्मान।

बता दें कि 10 जनवरी को दीपिका की फिल्म छपाक रिलीज हो रही है। यह फिल्म एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल के जीवन और उनके संघर्ष की कहानी पर आधारित है। इस फिल्म का निर्देशन मेघना गुलजार ने किया है।



और भी पढ़ें :