'ये रिश्ता क्या कहलाता है' के कार्तिक लॉकडाउन में मनाएंगे ईद

Last Updated: शनिवार, 23 मई 2020 (16:57 IST)
के काण कलाकारों को अपने परिवार के साथ वक्त बिताने के लिए मिल रहा है। ईद-उल-फितर के त्योहार नजदीक है, इसलिए रोजा रखने वाले लोगों को तालाबंदी के कारण अपने काम से फुर्सत मिल गई। यहां तक ​​कि अभिनेताओं के लिए, जिन्हें रोजा करते समय शूट करना पड़ता था, चीजें थोड़ी आसान हो गई हैं। यह बात अभिनेता के लिए लागू होती है, जो वर्तमान में रमजान की अवधि अपने परिवार के साथ बिता रहे हैं।
अभिनेता, हर साल की तरह, अपना रोजा रख रहे हैं। वह रमजान को "शुद्धिकरण की अवधि" कहते हैं। उनके अनुसार "जब कोई शूट नहीं होता तभी परिवार के साथ समय बिताने के ‍लिए मिलता है। यह पहली बार है जब रमजान और ईद लॉकडाउन में होंगे। ”

"ये रिश्ता क्या कहलाता है" में कार्तिक गोयनका का किरदार निभाने वाले मोहिसन कबाब, पकोड़े और बिरयानी के शौकीन हैं। खासतौर पर मां के बनाए व्यंजन जो उन्हें खूब लाड़-प्यार करती हैं। वह स्वीकारते हैं यद्यपि उनकी अम्मी उन्हें घर पर काम नहीं करने दे रही है, लेकिन वे योगदान देने की कोशिश करते हैं।

कोरोना वायरस के बारे में बात करते हुए, मोहसिन कहते हैं, "मैं प्रार्थना करता हूं और चाहता हूं कि कोरोना दूर हो जाए और हम एक सामान्य जीवन जी सकें। मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि वे घर पर रहें और सरकार द्वारा निर्दिष्ट दिशानिर्देशों का पालन करें। सोशल डिस्टेंसिंग वास्तविकता है और हमें इसके साथ रहना होगा, सोशल डिस्टेंसिंग नया नॉर्मल है।"
उन्होंने आगे कहा कि इस संकट के दौरान खुद को व्यस्त रखना चाहिए और सकारात्मक रहना चाहिए। “मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखना बहुत आवश्यक है। सकारात्मक रहने की जरूरत है। मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि वे घर पर शांत और सुरक्षित रहें।

इस महामारी के दौरान एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को जो झटका लगा है, उसके बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “महामारी हमारे हाथ में नहीं है। हर कोई चाहता है कि कोरोना चले जाए। जो भी स्थिति हो, हमें वास्तविक रूप से और साथ मिलकर इसका सामना करना होगा। यह भी गुजर जाएगा। कुछ भी स्थायी नहीं है।"
हमें इस कठिन समय में अपने परिवार के साथ खड़े होने की जरूरत है। प्रसिद्ध दिवंगत अभिनेता राजकपूर कहते थे, 'शो को चलना चाहिए'," मोहसिन ने निष्कर्ष निकाला।




और भी पढ़ें :