'पुण्यश्लोक अहिल्याबाई' में भोला का किरदार निभा रहे दुष्यंत वाघ से खास बातचीत

पुनः संशोधित गुरुवार, 25 फ़रवरी 2021 (17:30 IST)
सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के शो 'पुण्यश्लोक अहिल्याबाई' ने रानी अहिल्याबाई होल्कर की जिंदगी से जुड़ी कहानियों को अलग रूप में बयान करके दर्शकों के साथ एक खास रिश्ता कायम कर लिया है। इस शो में भोला का किरदार निभा रहे हैं। भोला घूम घूमकर अपनी कला का प्रदर्शन करने वाले एक कलाकार थे, जो भगवान शिव की तरह वेश अपनाते थे।
भोला भगवान शिव के वेश में रहते थे, तो बचपन में मासूम अहिल्या उन्हें सचमुच भगवान समझती थी। उन्हें लगता था कि वो उनकी मदद के लिए ही स्वर्गलोक से आए हैं। इस शो के मेकर्स ने भोला का महत्वपूर्ण किरदार निभाने के लिए दुष्यंत वाघ को चुना है। अपने किरदार के बारे में दुष्यंत ने खास बातचीत की।

अपने किरदार भोला के बारे में कुछ बताइए, जो आप इस शो में निभाने जा रहे हैं?
भोला मूल रूप से बहरूपिया है, जो यहां-वहां घूमकर तमाशा दिखाता है। वो बड़े साफ दिल का है, ईश्वर से प्रेम करता है और कर्म में विश्वास रखता है।

आपके पिछले सभी रोल्स से आपका यह किरदार कितना अलग है?
अपने किरदारों के बीच तुलना करना मेरे लिए जायज नहीं होगा। हर किरदार का अपना एक प्रभाव है और कहानी में अपना योगदान है। लेकिन इस सवाल का जवाब दूं तो बहरूपिया के किरदार में भोला कई तरह के रूप ले सकता है, जिससे उसे अलग-अलग सोच और जिंदगी के अलग अलग अनुभव करने का मौका मिलता है। इससे वो जिंदगी की मुश्किल बातों को भी बड़े सरल और साफ शब्दों में बता पाता है।
इस शो के लिए आपसे संपर्क किए जाने से पहले आप अहिल्याबाई होल्कर के बारे में कितना जानते थे?
मैं बस इतना जानता था कि वे एक ऐसी रानी थीं, जिन्होंने अपनी बुद्धिमानी से शांति और समृद्धि स्थापित की थी।

क्या अपने किरदारों को चुनने के लिए आप कुछ खास प्रक्रिया या विचार अपनाते हैं?
नहीं! यह स्वाभाविक रूप से होता है। मेरे मन को यह किरदार पसंद आना चाहिए। एक बार यह हो जाए तो फिर बाकी चीजें अपने आप हो जाती हैं।
क्या सेट का कोई खास किस्सा बताना चाहेंगे? कोई ऐसा खास पल, जो आपके को-एक्टर्स अदिती, क्रिश, राजेश जी और स्नेहलता से आपके संबंधों पर रोशनी डाले?
क्रिश इस बात को लेकर बेहद उत्साहित था कि उसे 'सेंटीमीटर' (उनके अपने शब्द) के साथ काम करने का मौका मिल रहा है। उसके प्यार के कारण मुझे शूटिंग करते हुए घर जैसा महसूस हुआ। मैं स्नेहलता को लंबे समय से जानता हूं और हम दोनों बड़ी अच्छी तरह घुल-मिल जाते हैं, हालांकि हमने कभी साथ काम नहीं किया था। इस शो की वजह से ही हमें एक दूसरे से चर्चा करने और साथ वक्त गुजारने का मौका मिला।
क्या आपने इस रोल की तैयारी के लिए कोई खास ट्रेनिंग या रिसर्च की थी?
मैंने रानी अहिल्याबाई होल्कर के बारे में गहरा अध्ययन किया, क्योंकि मैं उनकी प्रतिष्ठा और कीर्ति से बेहद प्रभावित औरआकर्षित था।




और भी पढ़ें :