हिंदी सिनेमा में बॉक्स ऑफिस पर नए शिखर छूने वाली टॉप फिल्में

शोले

शोले (1975)

निर्देशक : रमेश सिप्पी

कलाकार : धर्मेन्द्र, अमिताभ बच्चन, संजीव कुमार, हेमा मालिनी, जया बच्चन, अमजद खान

PR

मुगले आजम का रिकॉर्ड टूटने में पन्द्रह वर्ष लग गए, लेकिन शोले ने मुगले आजम के साढ़े पांच करोड़ रुपये का रिकॉर्ड 65 करोड़ रुपये के नेट ग्रास कलेक्शन कर तोड़ा। फिल्म जब रिलीज हुई थी उस समय एक यूएस डॉलर की कीमत 8 रुपये 94 पैसे थी। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि शोले कि सफलता कितनी बड़ी है। जानकार बताते हैं कि यह आंकड़ा इससे भी अधिक बड़ा है। 65 करोड़ रुपये कलेक्ट कर आज भी एक फिल्म हिट बन जाती है और इतना कलेक्शन शोले ने वर्षों पूर्व ही कर लिया था। मुंबई के मिनर्वा सिनेमाघर में यह फिल्म पांच वर्ष तक चली। 60 से ज्यादा सिनेमाघरों में यह फिल्म पचास सप्ताह से ज्यादा और सौ से ‍अधिक सिनेमाघरों में यह पच्चीस सप्ताह से ज्यादा तक चली। फिल्म का एक-एक किरदार, संवाद लोगों को आज भी याद है। इस फिल्म की सफलता, मेकिंग और किस्सों की चर्चा करना यह संभव ही नहीं है। शोले जब रिलीज हुई तो शुरुआती दिनों में इसका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। निर्देशक रमेश सिप्पी तो इसका अंत बदलने की सोच रहे थे, लेकिन कुछ दिनों बाद फिल्म ने ऐसी रफ्तार पकड़ी कि बॉलीवुड की सफलतम फिल्मों में शामिल हो गई। इसका रिकॉर्ड तोड़ने में अगली फिल्म को 19 वर्ष लगे। ये भी तभी संभव हुआ जब टिकट दरों की कीमत में बहुत ज्यादा इजाफा हुआ। अमिताभ, धर्मेन्द्र तो छोड़िए लोगों को मैकमोहन, जगदीप और विजू खोटे द्वारा निभाए गए छोटे से किरदार तक याद है। फिल्म के संवादों के रिकॉर्ड और कैसेट्स की भी खूब बिक्री हुई। बैंगलोर के निकट रामगढ़ का सेट बनाया गया और सेट तक पहुंचने के लिए एक रोड भी बनाई गई। रमेश सिप्पी ने भव्य फिल्म बनाई और जब तक वे संतुष्ट नहीं हुए उन्होंने कई रिटेक्स लिए। शुरुआत में इस फिल्म की फिल्म समीक्षकों ने आलोचना की थी, लेकिन सफलता के बाद तारीफों के पुल बांध दिए। बीबीसी इंडिया ने 1999 में ‘शोले’ को फिल्म ऑफ द मिलेनियम घोषित किया।

19 वर्ष बाद किस फिल्म ने तोड़ा शोले का रिकॉर्ड... पढ़िए अगले पेज पर




और भी पढ़ें :