9 तारीख को लालू यादव की रिहाई होगी और अगले दिन नीतीश कुमार की विदाई होगी : तेजस्वी यादव

Tejashwi Yadav 1
Last Updated: शुक्रवार, 23 अक्टूबर 2020 (19:24 IST)
नवादा। विधासभा चुनाव (Assembly Elections) की एक रैली को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता (Tejashwi Yadav) ने कहा कि 9 नवंबर को लालू जी (Lalu Prasad Yadav) की हो रही है। एक मामले में जमानत पहले हो गई है। एक आखिरी मामले में भी 9 नवंबर को जमानत मिल जाएगी। उसी दिन मेरा जन्मदिन भी है और 10 तारीख को नीतीश जी की विदाई होगी।
तेजस्वी यादव के पिता लालू यादव भ्रष्टाचार घोटाले में झारखंड में न्यायिक हिरासत में हैं। उन्हें हाल ही में झारखंड उच्च न्यायालय ने एक मामले में जमानत दी थी, लेकिन वे जेल से बाहर नहीं आ सके क्योंकि एक अन्य मामले में उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई की जा रही है। यही कारण है कि तेजस्वी को अपने पिता की जल्द रिहाई की उम्मीद है।

तेजस्वी ने बिहार में विकास एवं रोजगार का वादा दोहराते हुए शुक्रवार को दावा किया कि 15 साल से राज्य में मुख्यमंत्री रहे और डबल इंजन की सरकार है, लेकिन थाने और ब्लॉक में बिना भ्रष्टाचार के कोई काम नहीं होता है। तेजस्वी ने यहां चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना काल में जब बिहार के लोग परेशान हो रहे थे तब नीतीश कुमार 144 दिन तक अपने घर में रहे।
Tejashwi Yadav
बिहार के मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए राजद नेता ने कहा, लेकिन अब वह अपने घर से बाहर हैं, क्यों? तब भी कोरोना था और अब भी कोरोना है लेकिन अब उन्हें वोट चाहिए तो वे घर से बाहर निकल चुके हैं।’ तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि 15 साल से नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हैं, उनकी डबल इंजन की सरकार है, लेकिन थाने और ब्लॉक में बिना भ्रष्टाचार के कोई काम नहीं होता है।
उन्होंने स्थानीय भाषा में लोगों से पूछा कि 15 साल से 'डबल इंजन' की सरकार है लेकिन क्या ब्लॉक या जिला में कोई काम बिना चढ़ावा दिए होता है? तेजस्वी ने सभा में उपस्थित लोगों से पूछा ‘क्या 15 साल में नीतीश जी ने आपको रोजगार दिया, पलायन रोका? उन्होंने राज्य में कितने उद्योग धंधे लगवाए?’

उन्होंने कहा, ‘नीतीश जी कहते हैं कि बिहार समंदर के किनारे नहीं है इसलिए यहां उद्योग नहीं लग सकता। लेकिन मैं पूछना चाहता हूं कि लालू जी ने रेल मंत्री रहते हुए प्रदेश में रेल कारखाना लगवाए या नहीं लगवाए?’ तेजस्वी ने 10 लाख लोगों को नौकरी देने का वादा दोहराते हुए कहा ‘वे हमसे पूछते हैं कि पैसा कहां से आएगा?’
महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा ‘बिहार सरकार का बजट 2.13 लाख करोड़ रुपए का है और नीतीश कुमार 60 प्रतिशत राशि ही खर्च कर पाते हैं। बजट का 40 फीसदी पैसा खर्च नहीं हो पाता और इस प्रकार से 80 हजार करोड़ रुपया बचा रह जाता है। फिर भी वे हमसे पूछते हैं कि पैसा कहां से आएगा?’

उन्होंने युवाओं से कहा कि अगर राज्य में उनकी सरकार बनी तो उन्हें (युवाओं को) फॉर्म भरने की फीस और परीक्षा केंद्रों तक जाने का किराया भी दिया जायेगा। तेजस्वी ने कहा कि उनकी सरकार सभी वर्गों और जाति के लोगों को साथ लेकर चलेगी। (इनपुट भाषा से)



और भी पढ़ें :