6 संकेतों से जानें आपकी कार को सर्विस सेंटर ले जाने की है जरूरत

खरीदना जितना मंहगा होता है, कार का रखरखाव उससे ज्यादा महंगा पड़ता है। कार खरीदते वक्त कंपनी उसका मेंटेनेंस शेड्यूल भी देती है। इसमें कार की सर्विस से जुड़ी जानकारी दी गई होती है और आपको उसे फॉलो करना होता है. सही समय पर कार की सर्विस कराने से परफोर्मेंस और माइलेज दोनों पहले जैसा ही बना रहता है। अगर कार पुरानी हो गई है तो आपको सर्विस के साथ समय-समय पर उसका मेंटेनेंस भी करवाते रहना चाहिए। ऑटो एक्सपर्ट्स के मुताबिक हर 6 महीने या 1 साल में कार की सर्विस करा लेनी चाहिए। आज हम आपको कार में आने वाली ऐसी समस्याओं के बारे में बता रहे हैं जिन्हें देखकर आप ये समझ जाएं कि आपकी कार को सर्विस की आवश्यकता है।
1. इंजन लाइट चेक करें : हर कार के डैशबोर्ड पर चेक इंजन की लाइट होती है। जब भी किसी वाहन के इंजन में कोई गड़बड़ी होती है या इंजन के सामान्य कामकाज को प्रभावित करने वाला कोई भी घटक या सेंसर काम नहीं करता है, तो डैशबोर्ड पर वार्निंग लाइट जल जाती है

2. ब्रेक में परेशानी : कार में ब्रेकिंग सिस्टम की कितनी अहमियत होती है ये तो हम सभी जानते हैं. ब्रेक आपके वाहन के साथ-साथ आपकी सुरक्षा के लिए भी अहम है। ऐसे में कार चलाते वक्त अगर आपको ब्रेक पैड में कोई भी परेशानी महसूस हो। ब्रेक पैड थोड़े अटने लगे तो आपको तुरंत कार की सर्विस करानी चाहिए। एक समय के बाद वाहन के ब्रेक पैड उखड़ने लगते हैं इन्हें करना बहुत आवश्यक है।
3. कार से लीकेज : कई बार ऐसा होता है कि आपके कार के नीचे पानी, इंजन ऑइल, कूलैंट या अन्य किसी चीज को गिरते हुए देखें। ऐसे में इसमें से कुछ भी दिखे तो यह एक बड़ी समस्या हो सकती है। अगर कार शुरू हो तो इसे तुरंत इससे सर्विस सेंटर ले जाएं।

4. एग्जॉस्ट से धुआं निकलना : सर्दियों के दौरान वाहन से निकलने वाला थोड़ा सा धुआं बहुत ही सामान्य होता है, लेकिन अगर आपकी कार से काला, नीला या मोटे सफेद रंग का धुआं निकल रहा है, तो आपको अपनी सेंटर ले जाने की आवश्यकता है।
5. कार से आवाज आए : अगर कार को स्टार्ट करते वक्त या चलाते समय कोई आवाज आए तो पता लगाने की कोशिश करें कि आवाज कहां से आ रही है। कई बार ये आवाज आपके वाहन के लिए नुकसान वाली हो सकती है। ऐसे में बार-बार कार के आवाज करने पर कार को तुरंत सर्विस सेंटर ले जाएं।

6. कम माइलेज और खराब परफॉर्मेंस : समय के साथ एक कार वियर एंड टियर के चलते अपना माइलेज (ईंधन दक्षता) और पावर खो देती है। हालांकि, यदि कार अपनी शक्ति को बहुत कम इस्तेमाल कर रही है या माइलेज काफी कम हो जाता है, तो कारों के इंजन पर ध्यान देने की जरूरत है।



और भी पढ़ें :