गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. »
  3. उर्दू साहित्‍य
  4. »
  5. आज का शेर
Written By WD

तुझे हम वली समझते

ये मसाइले-तसव्वुफ़, ये तेरा बयान ग़ालिब,
तुझे हम वली समझते जो न बादाख़्वार होता।

मसाइले-तसव्वुफ़-------अध्यात्म की उलझनें
बयान --------------समझाने की विधि
वली -----------अल्लाह वाला, नेक बन्दा
बादाख़्वार -------- शराबी