डीजल पर वैट घटा, शराब महँगी

मध्यप्रदेश में राघवजी ने बजट पेश किया

भोपाल (वार्ता)| वार्ता|
मध्यप्रदेश के वित्तमंत्री राघवजी ने बुधवार को विधानसभा में वर्ष 2008-09 का बजट पेश करते हुए डीजल तथा कई अन्य वस्तुओं पर मूल्य वर्धित कर (वैट) में कमी करने, वृत्ति कर में छूट की सीमा बढ़ाने तथा विदेशी शराब और ब‍ियर पर कुछ नए शुल्क लगाने की घोषणा की।

राघवजी ने राज्य की भाजपा सरकार का लगातार पाँचवाँ बजट पेश करते हुए कहा कि इसमें 2839.78 करोड़ रुपए का राजस्व आधिक्य और 4741 करोड़ रुपए का राजकोषीय घाटा अनुमानित है।

उन्होंने कहा कि राज्य के आम उपभोक्ताओं और किसानों को महँगाई से राहत देने के एक प्रयास के तौर पर डीजल पर वैट की दर 26 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत कर दी गई है। इससे आगामी वित्तवर्ष में सरकार को 85 करोड़ रुपए की हानि अनुमानित है। इसी तरह कुछ वस्तुओं को वैट से मुक्त किया गया है, जबकि कुछ पर दर में कमी की गई है।
कर्मचारियों की वृत्ति कर से राहत देने की माँग पर अनुकूल रुख दर्शाते हुए 1.20 लाख रुपए तक की आय वाले करदाताओं को इससे पूरी तरह मुक्त कर दिया गया है।

इसी तरह 1.20 लाख रुपए से अधिक लेकिन डेढ़ लाख से कम वार्षिक आय वाले करदाताओं पर वृत्ति कर का भार 1500 रुपए से घटाकर एक हजार रुपए तथा डेढ़ लाख से अधिक लेकिन 1.80 लाख से कम वार्षिक आय वर्ग के करदाताओं के लिए इसे 2500 रुपए से घटाकर 1500 रुपए किया जा रहा है।
वित्तमंत्री ने कहा कि करों में छूट के प्रस्तावों के कारण आगामी वित्त वर्ष की राजस्व आय में 245.34 करोड़ रुपए की हानि और यात्री कर दरों और विदेशी मदिरा, ब‍ियर, स्प्रिट और रेक्टीफाइड स्प्रिट के उत्पादन पर लागू विभिन्न शुल्कों के युक्तियुक्तकरण तथा वृद्धि से 45.66 करोड़ का अतिरिक्त राजस्व अनुमानित है।

उन्होंने कहा कि स्थायी संपत्ति के हस्तांतरण के दस्तावेजों पर लगने वाली स्टाम्प शुल्क की दरों में 0.5 प्रतिशत की कटौती की जा रही है।



और भी पढ़ें :