अभी तो चमकता ही रहेगा सोना

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा|
ोने के ग्राहकों को निकट भविष्य में किसी तरह की राहत के आसार नहीं हैं। विश्लेषकों का कहना है कि रुपया जिस तरह से टूट रहा है, उससे तो सोने के दाम सितंबर तक 15,000 रुपए प्रति दस ग्राम से अधिक ही बन रहने की संभावना है।

के प्रभारी (धातु) सोमनाथ डे ने कहा कि रुपए में कमजोरी के चलते पिछले कुछ हफ्तों से सोने में तेजी बनी हुई है। रुपए में कमजोरी अगले कुछ दिन भी जारी रहेगी, जिससे कम से कम सितंबर तक सोना 15,000 रुपए से ऊपर ही रहेगा।
उन्होंने कहा कि अंतर में रुपया अगले दो महीनों में डॉलर की तुलना में 55 रुपए प्रति डॉलर तक टूट सकता है। इसका सीधा असर सोने की दाम पर दिखेगा। रुपया फिलहाल 51.72 रुपए प्रति डॉलर है।

सोने के भाव फिलहाल 15,450 रुपए प्रति दस ग्राम हैं। इससे पहले 19 फरवरी को यह 15,750 रु प्रति दस ग्राम की ऊँचाई को छू गया था। भारत दुनिया का सबसे बड़ा स्वर्ण उपभोक्ता है।
क्रिसिल के प्रधान अर्थशास्त्री डीके जोशी ने कहा कि अमेरिकी मुद्रा की वैश्विक माँग बढ़ने के कारण डॉलर मजबूत हुआ है और भारतीय मुद्रा कमजोर हो रही है। इसके अलावा भारतीय निर्यात में कमी तथा मुद्रा प्रवाह में नरमी का असर भी रुपए पर हो रहा है।

विशेषज्ञों का कहना है कि सोने के महँगा होने के कारण हाजिर बाजार में माँग प्रभावित हुई है। यह अलग बात है कि वैश्विक मंदी गहराने की आशंका के कारण निवेश के लिहाज से दुनियाभर में इसमें चमक बरकरार है।



और भी पढ़ें :