एलपीजी, केरोसिन पर नकद सब्सिडी

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 28 फ़रवरी 2011 (13:19 IST)
विभिन्न सब्सिडी योजनाओं के दुरुपयोग से चिंतित वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने सोमवार को कहा कि सरकार अगले साल मार्च से केरोसिन, एलपीजी और उर्वरकों पर लाभार्थियों को सीधी नकद सब्सिडी उपलब्ध कराएगी।

वित्तमंत्री ने वित्त वर्ष 2011-12 का बजट पेश करते हुए कहा कि लागत दक्षता और तथा उर्वरक के लिए बेहतर डिलीवरी के लिए सरकार धीरे-धीरे चरणबद्ध तरीके से गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को सीधे नकद सब्सिडी स्थानांतरित करने की दिशा में आगे बढ़ेगी।
वित्त मंत्री ने कहा कि यह व्यवस्था मार्च, 2012 से लागू किए जाने का प्रस्ताव है। उन्होंने अपने बजट भाषण में कहा कि नंदन नीलेकणि की अध्यक्षता में एक कार्यबल केरोसिन, एलपीजी और उर्वरकों के लिए सीधे सब्सिडी देने की प्रस्तावित प्रणाली के तौर-तरीकों पर काम कर रहा है।

मुखर्जी ने कहा कि इस कार्यबल की अंतरिम रिपोर्ट इस साल जून तक आने की उम्मीद है। फिलहाल सरकार बीपीएल परिवारों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के माध्यम से सब्सिडी पर केरोसिन उपलब्ध कराती है। इसके अलावा सब्सिडी पर एलपीजी सिलेंडर भी उपलब्ध कराया जाता है।
उर्वरकों के मामले में सरकार कंपनियों को सब्सिडी देती है, जो किसानों को सस्ती दरों पर उर्वरक उपलब्ध कराती हैं। इससे पहले इसी माह सरकार ने भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के चेयरमैन नंदन नीलेकणि की अध्यक्षता में कार्यबल का गठन किया था। (भाषा)



और भी पढ़ें :