0

महिला दिवस विशेष : आधी आबादी की पूरी बात, नारी के मन की आवाज

मंगलवार,मार्च 8, 2022
0
1
महिला दिवस पर संदेश देते हुए कहा 60 साल की उम्र के बाद भी जीवन खत्म नहीं होता है। अगर आप जिंदगी से बोरियत महसूस करते हैं तो अपनी हॉबिज को फिर से जिंदा कीजिए। रिटायरमेंट पीरियड बहुत अच्‍छा होता है इस उम्र में आपको अपने लिए टाइम मिलता है। आप लगभग सभी ...
1
2
क्या हुआ अगर मैं नारी हूं। इतनी बेबस बेचारी क्यों।। क्यों मुझे दबाया जाता है। क्यों मुझे जलाया जाता है।। कभी मुझको रौंदा जाता है । कभी एसिड फेंका जाता है।।
2
3
आमतौर पर महिलाएं अपने आपको हमेशा अनदेखा करके रखती है। परिवार के अन्य सदस्यों की ज़रूरतों, उनकी सेहत, पारिवारिक और सामाजिक जिम्मेदारियों को निभाते-निभाते वे अक्सर खुद को सबसे अंत में रखती है या यूं कहें, कि खुद पर कभी ध्यान ही नहीं देती। ज़रा गौर ...
3
4
आज दुनिया के लगभग सभी देशों में लैंगिक समानता की बात की जा रही है लेकिन राष्ट्रों द्वारा बड़ी प्रगति कर लेने के बावजूद यह विचार एक सपना ही बना हुआ है। वैश्विक आर्थिक सुधारों के बावजूद लगभग 60 प्रतिशत महिलाएँ आर्थिक रूप से कमजोर है, और आने वाले दिनों ...
4
4
5
१. धरती पहली स्त्री : एक पेड़ रोपा जाए २. किसी बड़ी उम्र की एकाकी स्त्री को साथ लेकर कहीं लंच पर जाया जाए
5
6
इंदौर। शहर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर इंदौर प्रेस क्लब ने महिला पत्रकारों का सम्मान किया। इस अवसर पर वेबदुनिया की फीचर संपादक स्मृति आदित्य को दीर्घ सेवा सम्मान, वेबदुनिया मराठी की रूपाली बर्वे को विशिष्ट सेवा सम्मान और वेबदुनिया ...
6
7

महिला दिवस पर कविता : नारी

सोमवार,मार्च 7, 2022
womens day poem in hindi, पुरुषप्रधान इस देश में ना मिल सका, नारी को मान..., नारी तो बस नारी है।
7
8
सृजनकरणी सबसे बढ़कर, नारियाँ जग बनाती बेहतर। मुखड़ा सुंदर, मन भी सुंदर, द्वैष न धारे वे उर के अंदर। सह लेती सब पीड़ा-अभाव, नहीं पालती बदले का भाव। बार-बार नहीं जिद्द पर अड़ती, परिस्थिति अनुरूप ही चलती।
8
8
9
उनकी विजयी मुस्कान !! बहुत भली सी लगतीं हैं हँसने मुस्कुराने वाली ये औरतें टी.वी. के पर्दे पर सिनेमा के बड़े पर्दे पर बड़े बड़े विज्ञापनों में चमकती /दमकती अपनी अदाओं से लुभाती सबको बहुत भली लगतीं हैं ....
9
10
women's Day Speech नमस्कार, महिला दिवस की शुभकामनाएं। आज सबसे ज्यादा महिला सशक्तिकरण की बातें होंगी। लेकिन महिला सशक्तीकरण क्या है यह कोई नहीं जानता
10
11
नारी तुम स्वतंत्र हो, जीवन धन यंत्र हो। काल के कपाल पर, लिखा सुख मंत्र हो।
11
12
महिला दिवस हर साल 8 मार्च को मनाया जाता है। यह दिन महिलाओं को खास महसूस कराता है। हर महिला एक-दूसरे की प्रेरणा बन सकती है। महिला दिवस पर उनका आभार व्यक्त किया जाता है। जरूरी नहीं है आप सभी बधाई दें लेकिन जो आपके लिए हरदम तैयार रहती हैं, आप उन्‍हें ...
12
13
महिला और पुरूषों के बीच होने वाले भेदभाव की लकीरें शहरों में कम होने लगी है। पुरुष प्रधान का तमगा महिलाएं अपने बूते पर खड़ें होकर उसे साफ करने की कोशिश कर रही है। कॉफमैन फेलो रिसर्च सेंटर द्वारा एक रिसर्च की गई थी। जिसमें सामने आया कि निवेशक ऐसी ...
13
14
International Womens Day Essay 2022 नारियां स्वयं को बदलने और पुरुष-प्रधान समाज द्वारा रचित बेड़ियों से स्वयं को आजाद करवाने हेतु कृतसंकल्प हैं। अब प्रश्न यह है कि नारी कितना बदले और क्यों? इसी बात की विवेचना हम इस निबंध में करेंगे।
14
15
Poem on International Womens Day नारी का अभिमान, प्रेममय उसका घर है, नारी का सम्मान, जगत में उसका वर है।नारी का बलिदान, मिटाकर खुद की हस्ती, mahila diwas kavita
15
16
कुल मिलाकर यह दिवस इन दिनों सिर्फ एक उत्‍सव बनकर रह गया है, और उत्‍सव का दायरा सिर्फ एक मौज मस्‍ती तक ही सीमित रहता है। ऐसे में महिला दिवस से जुड़े मूल्‍यों और महिलाओं के वास्‍तव में सशक्‍त होने वाले तत्‍वों के बारे में इस दिन बात नहीं होती है और ...
16
17
महिला दिवस की चौखट पर खड़े जब हम 3 बड़े सवालों सेहत, सुरक्षा और स्वतंत्रता से रूबरू होते हैं तो हमारे सामने एक बड़ा सा शून्य नजर आता है और फिर सब धुंधला हो जाता है....
17
18
सन 1910 में सोशलिस्ट इंटरनेशनल द्वारा कोपनहेगन में महिला दिवस की स्थापना हुई। 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विटज़रलैंड में लाखों महिलाओं द्वारा रैली निकाली गई। मताधिकार, सरकारी कार्यकारिणी में जगह, नौकरी में भेदभाव को खत्म करने जैसी कई ...
18
19
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं की यह सफलता निश्चित ही संतोष प्रदान करती है। ऐसे में यह भी आवश्यक है कि सुदृढ़ समाज और राष्ट्र के हित में महिला, पुरुष के मध्य प्रतिद्वंद्विता स्थापित नहीं की जाए वरन सहयोगात्मक संबंध बढ़ाए जाएं। शिक्षित एवं संपन्न ...
19
20
लेफ्टिनेंट कर्नल अनुराग शुक्ला ने सोलर कुकर और दूध पाउडर पर रबड़ी बनाकर सभी को चकित किया। उन्होंने यह भी कहा कि ‘महिलाओं को टेक फॉर ग्रांटेड मत लीजिए, वे समानता और सम्मान की पात्र हैं।
20
21
बहुत मन होता है कि दिवस के बहाने कुछ सकारात्मक सोचें, मगर जब चारों ओर दहेज, बलात्कार, अपहरण, हत्या, आत्महत्या, छेड़छाड़ प्रताड़ना, शोषण, अत्याचार, मारपीट, भ्रूण हत्या और अपमान के आंकड़े बढ़ रहे हों तो महिला प्रगति किन आंखों से देखें?
21
22
महिला दिवस 2021 विशेष : श्मशान.. यह शब्द सिहरन पैदा करता है, वैराग्य को जन्म देता है, भयभीत कर देता है.. लेकिन जीवन का यथार्थ है यह, जिसका सामना हर उस व्यक्ति को करना है जिसने जन्म लिया है.... भारतीय संस्कृति में इस स्थान से स्त्रियों को उनके कोमल ...
22
23
भारत की महिलाओं की स्थिति को लेकर एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। महिलाओं के साथ हुए अन्‍याय को लेकर काम करने वाली संस्था ब्रेकथ्रू इंडिया ने बायस्टेंडर बिहेवियर के साथ यह स्टडी जारी की है।
23
24
हम बात उनकी नहीं कर रहे हैं जो सफलता के प्रतिमान गढ़ चुकी हैं, हम उनकी भी बात नहीं कर रहे हैं जो कीर्तिमान रच रही हैं, हम उनकी भी बात नहीं कर रहे हैं शिखर पर परचम लहरा रही हैं.... हम बात कर रहे हैं उनकी जो ना अधिकार जानती है न प्रतिकार... जो सिर्फ ...
24
25
भोपाल में मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी में एग्रीकल्चर की असिस्टेंट ‌प्रोफेसर साक्षी भारद्वाज ने अपने पर्यावरण के प्रति प्रेम और जुनून के चलते अपने महज 800 स्क्वायर फीट की जगह में 450 किस्म के 4 हजार पौधों का एक सेल्फ सस्टेंड गार्डन बना डाला और जिसका ...
25
26
बडी विडंबना है भगवान तेरी इस बहुरूपिया जन्नत में। जहां एक ओर कठपुतली की तरह ढील है और एक ओर तान रखा है। जी हां, आप-हम पुन: स्वयं को याद दिला रहे हैं कि 'तुम महिला हो' जिसकी तुम्हें बधाई हो। क्यों हम स्वयं इस खूबसूरत बेइज्जती को बड़ी ही शिद्दत से ...
26
27
मैं भी आयशा ही हूं लेकिन जिंदा आयशा... तुम्हारे और मेरे नसीब में ज्यादा फर्क नहीं है। वही सब कुछ मेरे साथ भी हुआ जो तुम्हारे साथ हुआ। वही दहेज, वही शौहर की बेवफाई, वही घर की औरतों के ताने, वही बार बार की मांग और बार-बार मायके से ससुराल, ससुराल से ...
27
28
भोपाल। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर ‘वेबदुनिया’ आपको उन महिलाओं से मिलवा रहा है जिन्होंने अपनी लगन और परिश्रम के बल पर न केवल अपने जीवन में एक खास मुकाम हासिल किया बल्कि आज देश-दुनिया में एक रोल मॉडल के तौर पर भी जानी पहचानी जा रही है।
28
29
1917 में पहले विश्व युद्ध के दौरान रूस की महिलाओं ने ब्रेड और पीस के लिए हड़ताल की थी। महिलाओं ने अपनी हड़ताल के दौरान अपने पतियों की मांग का समर्थन करने से भी मना कर दिया था और उन्हें युद्ध को छोड़ने के लिए राजी किया था।
29
30
हाल ही फोर्ब्स ने दुनिया की सबसे शक्तिशाली 100 महिलाओं की सूची में भारत की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण, एचसीएल एंटरप्राइज की सीईओ रोशनी नादर मल्होत्रा और बायोकॉन की संस्थापक किरण मजूमदार शॉ को शामिल किया गया।
30
31
ठीक इसी तरह 11.7 प्रतिशत महिलाएं विज्ञान, तकनीक, मार्केटिंग और गेम्स के श्रेत्रों में आपस में जुड़ने के लिए इसका इस्तेमाल करती हैं। इसमें बैंगलोर, चेन्नई और हैदराबाद सबसे आगे हैं।
31
32
ऐसी बेटियां नजर आती हैं जिन्‍होंने जल, थल और नभ तीनों जगह अपना परचम लहराया और आज गर्व के साथ समूचा देश उनका नाम लेता है। जैसे भारतीय वायुसेना की फ्लाइट लेफ्टिनेंट शि‍वांगी सिंह राफेल उड़ाने वाली पहली महिला है। प्रिया झिंगन थल सेना में पहली महिला ...
32