0

पहले लॉकडाउन के बाद हमने नहीं बदली लाइफ स्टाइल, इस बार रखें याद, पढ़ें 10 काम की बातें

शुक्रवार,मई 14, 2021
0
1
कोरोना महामारी के दौर में अधिकतम कार्य घर से ही किया जा रहा है। कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम का नया कल्चर विकसित हुआ है। वर्चुअल मीटिंग में भी कई सारी बातें हैं जो बहुत मायने रखती है। तो आइए जानते हैं वर्चुअल मीटिंग में किन बातों का ध्यान रखें -
1
2
कोरोना काल की वजह से कही न कही आमजन पर आर्थिक स्थिति का भार बढ़ने लगा है। इस बीमारी से बचाव के लिए संपूर्ण देश में छोटा-छोटा लॉकडाउन लगाया जा रहा है
2
3
चैत्र नवरात्रि 2021 चल रही है। इन 9 दिनों में कई लोग मां की आराधना उपवास करते हुए करते हैं। गर्मी के दिनों में उपवास करते वक्त खान-पान का ध्यान रखना भी जरूरी है।
3
4
लॉकडाउन का अर्थ होता है तालाबंदी। जीवन में पहली बार ऐसे शब्द से आमना-सामना हुआ जहां आपको खुद अपने हाथों से खुद को कैद करना है।
4
4
5
गणगौर का पर्व महिलाएं पूरे साज-सज्जा के साथ इस मनाती है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं। मां गौरी की पूजा कर पति की लंबी
5
6
कोरोना वायरस का प्रभाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। देश-दुनिया में एक बार फिर से 2020 की स्थिति बन गई है। मिनी लॉकडाउन के तहत एहतियात बरती जा रही है।
6
7
कोरोना वायरस का कहर अब भी जारी है। किसी एक देश में नहीं बल्कि पुरी दुनिया पर इसका साया मंडरा रहा है। कई देशों में एक बार फिर से लॉकडाउन की नौबत आ गई है।
7
8
आम तौर पर सर्दी होने या शा‍रीरिक पीड़ा होने पर घरेलू इलाज के रूप में हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं, कि हल्दी वाले दूध के एक नहीं अनेक फायदे हैं? नहीं जानते तो हम बता रहे हैं-
8
8
9
‘अपना सपना मनी-मनी’ यही सबका सपना होता है, लेकिन पैसे से ही पैसा बनता है यह बात लड़कियों के समझ से थोड़ा परे हैं।
9
10
मीना कुमारी हिन्दी सिनेमा की बेहतरीन एक्ट्रैस में शुमार थीं। आज भी उनका नाम बड़ी अदब से लिया जाता है। छोटी उम्र से ही उन्होंने परेशानियों को झेलना सीख
10
11
आज भी दुनिया की सबसे सुरक्षित जगह मां का आंचल ही है।अपने बच्चों की खुशियों के लिए वो अपना आंचल सदा ईश्वर के समक्ष फैलाए रहती है। मां के आंचल-सा कोई संसार नहीं। पल्लू थामना, पल्लू पकड़ना, दामन पकड़ना, दामन थामना, आंचल में छिपना, ये सारे मात्र शब्द नहीं ...
11
12
कुछ बातों को ध्‍यान में रखकर कोरोना समय में भी 5 नायाब तरीके से होली खेली जा सकती है। आइए बताते हैं कैसे -
12
13
साल 2020 में आई महामारी कोरोना विकराल रूप के साथ अभी भी मौजूद है। एक दूजे को छूने से फैलने वाला यह रोग होली के पर्व को संकट में डाल रहा है.... इस पर्व पर तो सबसे मिलने की बात होती है सोशल डिस्टेंसिंग की नहीं, अभी हाथ मिलाने से भी परहेज है पर यह ...
13
14
इए जानते हैं अंतरराष्‍ट्रीय वुमंस डे पर महिलाओं को क्‍या गिफ्ट दे सकते हैं।
14
15
लॉकडाउन के कई सकारात्मक पक्ष भी हैं। इस वक्त ने अपनों के महत्व को समझाया, अपनों के साथ समय बिताने का मौका दिया, खुद को तलाशने का वक्त मिला,
15
16
काले हिजाब में से झांकती दो चमकती आंखें बहुत सवाल करती हैं, हंसती हैं, बोलती हैं, नम होती हैं, गुनगुनाती हैं और देख लेती हैं पूरा आसमान जिस पर कहीं कोई हिजाब नहीं है... हिजाब (Hijab) क्या है? वास्तव में हिजाब मुस्लिम महिलाओं द्वारा पहना जाने वाला वह ...
16
17
आपका परिचय दो तरह की महिलाओं से करवाना चाहती हूं। ये आपको अपने घर, ऑफिस, नाते-रिश्तेदार, दोस्त, पड़ोस, परिचय में कहीं भी मिल जाएगीं।
17
18
वर्ष 2020 मनुष्य की जिंदगी में कई बड़े बदलाव लेकर आया, वहीं महिलाओं के जीवन में भी कोरोना का खासा असर देखा गया। लॉकडाउन के वक्त लोगों ने अपना सारा वक्त घर पर बिताया। ऐसे में कोरोना काल में लोगों ने अपना ज्यादा से ज्यादा समय अपने घर पर बिताया। वहीं ...
18
19
आप प्रकृति की अनमोल और सबसे प्यारी रचना हैं। जैसी भी हैं, जो भी हैं गर्व कीजिए। अपने शरीर, बुद्धि, रंग-रूप, अंगों के मापों का कोई दूसरा निर्णायक नहीं हो सकता। जोर से खिलखिला कर हंसने का जी करे तो हंसिए। नाचने का मन करे नाचिए। गाएं-गुनगुनाएं।
19