क्या यह विशालकाय कंकाल घटोत्कच का है...जानिए वायरल तस्वीर का पूरा सच...

Last Updated: मंगलवार, 16 जुलाई 2019 (13:21 IST)
सोशल मीडिया पर एक की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसको लेकर दावा किया जा रहा है कि वह कंकाल महाभारत काल के का है। दावा यह भी है कुरुक्षेत्र के पास खुदाई करते समय यह 80 फुट लंबी मानव कंकाल के अवषेश मिले हैं।

क्या है वायरल?


सोशल मीडिया पर एक विशालकाय कंकाल की तस्वीर के साथ यह मैसेज वायरल हो रहा है- “कुरुक्षेत्र में खुदाई के दौरान विदेशी रक्षा विशेषज्ञ को मिला भीम पुत्र जिसकी लम्बाई 80 फिट है।”



क्या है सच?

सच यह है कि यह कंकाल घटोत्कच का नहीं है, बल्कि यह तो मानव कंकाल भी नहीं है। यह एक स्कल्पचर है जिसे इटैलियन आर्टिस्ट जिनो डी डोमेनिसिस ने बनाया है। इस स्कल्पचर का नाम ‘Calamita Cosmica’ है, जोकि 28 मीटर लंबा और आठ टन वजनी है। इसका अनावरण 1990 में फ्रांस के ग्रेनोबल शहर के सेंटर नेशनल डेआर्ट कॉन्टेम्पोरियन में हुआ था।


वर्ष 2007 में मिलान के प्लाजो रियल में इसकी प्रदर्शनी लगी थी। वायरल तस्वीर वहीं की है। इस स्कल्पचर की कुछ और तस्वीरें देखने के लिए यहां क्लिक करें।

यह पहली बार नहीं है जब यह तस्वीर गलत दावे के साथ वायरल हुई है। भारत में यह तस्वीर 2015 से सोशल मीडिया पर इसी प्रकार के दावे के साथ वायरल हो रही है। वहीं, कई अन्य देशों में इसे बाइकिल के कैरेक्टर गोलियत का कंकाल ‍बताया गया है।



इस तस्वीर के अलावा घटोत्कच का कंकाल बताकर ये फेक तस्वीरें भी वायरल होती रही हैं।

अपने दावे को मजबूती देने के लिए जब नेशनल जियोग्रफी चैनल का नाम जोड़ा गया, तो चैनल ने बताया कि उनकी किसी टीम को भी ऐसा कोई कंकाल नहीं मिला है। यह एक फेक खबर है।


वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि विशालकाय कंकाल घटोत्कच का नहीं बल्कि एक आर्टिस्ट का बनाया स्कल्पचर है।




और भी पढ़ें :