Uttarakhand: विधायकों की एक-एक कर भीतरघात की शिकायत, कहीं हार के बहाने ढूंढने की कोशिश तो नहीं?

एन. पांडेय| Last Updated: शनिवार, 5 मार्च 2022 (10:25 IST)
हमें फॉलो करें
देहरादून। के भाजपा संजय गुप्ता, विधायक कैलाश गहतोड़ी, विधायक हरभजन सिंह चीमा और काबिना मंत्री बिशन सिंह चुफाल के बाद अब किच्छा विधायक राजेश शुक्ला ने भी भाजपा के बड़े लोगों पर निर्दलीयों को चुनाव जिताने का आरोप लगाया है। इससे लोग पूछने लगे है कि क्या यह रोना रोकर ये विधायक अपनी हार को स्वीकार करने लगे हैं?
ALSO READ:

उत्तर प्रदेश चुनाव में भाजपा के लिए स्वास्थ्य सेवाएं बनीं संजीवनी

लंबे समय के बाद किच्छा विधायक राजेश शुक्ला ने कहा है कि चुनाव में भाजपा के बड़े नेताओं ने निर्दलीय प्रत्याशी की मदद की। उनका कहना था कि किच्छा में भी बागी प्रत्याशी मैदान में था। ऊंचे पदों पर बैठे पार्टी के ही कुछ लोगों ने इस बागी प्रत्याशी का सपोर्ट किया। किच्छा के बागी प्रत्याशी अजय तिवारी को जिले के ही एक काबिना मंत्री का खासा नजदीकी माने जाने के तहत ऐसा आरोप वे लगा रहे हैं।
इसके अलावा कुछ मंत्री भी ऐसे ही आरोप भाजपा नेताओं पर पार्टी में लगा चुके हैं लेकिन सार्वजनिक रूप से वे चुप हैं। प्रदेश भाजपा नेतृत्व इन आरोपों पर चुप्पी साधे हुए हैं। फिलहाल विधायकों के के आरोपों को सार्वजनिक करने के पीछे नतीजों के बाद के बहाने तलाशने की कोशिश जारी है।



और भी पढ़ें :