रुड़की में दागी प्रत्याशियों को राहत

रुड़की| ND| पुनः संशोधित शनिवार, 28 जनवरी 2012 (10:39 IST)
मतदाताओं को दागी प्रत्याशियों से परहेज करने के लिए कहने हेतु रुड़की आने वाली टीम अन्ना को प्रशासन ने जनसभा करने की अनुमति नहीं दी है। इस कारण दागी प्रत्याशियों के चेहरे खिल गए हैं। उन्होंने टीम अन्ना को रुड़की न पहुंचने से राहत की सांस ली है। वहीं, जनसभा की अनुमति न मिलने से अन्ना समर्थकों को निराश होना पड़ा है।

उत्तराखंड के विधानसभा चुनाव में इस बार भी बड़ी संख्या में दागी अपना भविष्य आजमा रहे हैं। ये दागी किसी एक पार्टी से नहीं बल्कि सभी पार्टियों में हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्मस की रिपोर्ट को सही मानें तो सर्वाधिक दागी बसपा से चुनाव लड़ रहे हैं जिनका प्रतिशत 33 तक है।

भाजपा से 22 प्रतिशत और कांग्रेस से 15 दागी चुनाव लड़ रहे हैं। इन दागियों में भाजपा शासनकाल के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का नाम भी बताया जा रहा है।
इस बीच, जानी मानी शिक्षाविद डॉ. अनुराधा सक्सेना का डॉ. अजय कुमार ने उन लोगों को वोट न देने की अपील की है जो पैसा देकर टिकट लाए हैं या फिर झूठे वायदे कर मतदाताओं को गुमराह कर वोट पाने की कोशिश कर रहे हैं।

एक अन्य समाचार के अनुसार, बाबा रामदेव द्वारा प्रदेश में चलाए जा रहे मतदाता जागरण अभियान पर यूकेडी (पी) ने हमला बोला है। यूकेडी का कहना है कि बाबा को अभियान पर निकलने से पहले खुद अपनी विश्वसनीयता साबित करनी होगी। (नईदुनिया)



और भी पढ़ें :