मायावती के लिए अब सपा जानी दुश्मन, भाजपा से भी हाथ मिलाने को तैयार

Last Updated: गुरुवार, 29 अक्टूबर 2020 (12:44 IST)
लखनऊ। लोकसभा चुनाव समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के साथ मिलकर लड़ने वाली बसपा (BSP) की सुप्रीमो मायावती (Mayawati) का पारा अब सपा को लेकर चढ़ा हुआ है। मायावती अब सपा को धूल चटाने के लिए भाजपा से भी हाथ मिलाने को तैयार हैं।

मायावती ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि बसपा भविष्य में यूपी में होने वाले एमएलसी के चुनाव में सपा को शिकस्त देने के लिए भाजपा के उम्मीदवार को भी समर्थन देने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार को हराने के लिए वे किसी भी दूसरे दल के उम्मीदवार को समर्थन देने के लिए तैयार हैं।

मायावती ने कहा कि जब बसपा ने सपा के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया था, तब हमने पहले दिन से ही कड़ी मेहनत की थी। दूसरी ओर, सपा प्रमुख कहते रहे कि हमें 1995 का केस वापस ले लेना चाहिए। दरअसल, उनकी रुचि चुनाव से ज्यादा मुकदमे वापस लेने में थी।

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती ने कहा कि 2003 में मुलायमसिंह यादव ने बसपा तोड़ी थी, उनकी बुरी गति हुई थी। अब यही काम उनके बेटे अखिलेश ने किया है, उनकी भी वही स्थिति होगी। उन्होंने कहा कि 1995 का गेस्ट हाउस कांड का मुकदमा वापस लेना उनकी सबसे बड़ी भूल थी।



और भी पढ़ें :