लखीमपुर खीरी में रेप के बाद 2 बहनों की हत्या से हड़कंप, 6 आरोपी गिरफ्तार

हिमा अग्रवाल| पुनः संशोधित गुरुवार, 15 सितम्बर 2022 (11:01 IST)
हमें फॉलो करें
उत्तरप्रदेश का लखीमपुर खीरी एक बार फिर से सुर्खियों में है, यहां पर 2 दलित नाबालिग बहनों के शव पेड़ पर लटके होने की सूचना पर हड़कंप मच गया। इन दोनों सगी बहनों के साथ पहले रेप की वारदात को अंजाम दिया गया और फिर उनकी हत्या करके शव को पेड़ पर टांग दिया गया। इस घटना को अंजाम देने का आरोप दूसरे सुमदाय के युवकों पर लगा है। परिजनों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने अपहरण, रेप और हत्या में मुकदमा दर्ज करते हुए 6 युवकों को गिरफ्तार कर लिया है।

लखीमपुर खीरी में इस शर्मनाक वारदात निघासन थाना क्षेत्र के तमोलीपुरवा गांव की है। यहां की रहने वाली दो दलित सगी बहने का शव एक ही दुपट्टे से बधुवार को एक पेड़ पर लटके मिले। दोनों बहनों के शव देखकर गांव में सनसनी फैल गई और ग्रामीण खेतों में दौड़ पड़े। सूचना पर पुलिस पहुंची और दोनों शवों को अपने कब्जे में लेने का प्रयास करने लगी।

इस दौरान पुलिस और गांव वालों में कहासुनी और धक्का मुक्की भी हुई, कई घंटों की मशक्कत के बाद पुलिस ने दोनों बहनों के शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए लखीमपुर भेज दिया है।

दलित दो सगी बहनों का रेप और हत्या मामले की गूंज लखनऊ तक पहुंची, जहां से घटना की निष्पक्ष जांच के लिए आईजी लखनऊ जोन लक्ष्मी सिंह और एसपी लखीमपुर खीरी संजू सुमन घटनास्थल पहुंचे।

मृतक बच्चियों की मां माया देवी ने अपनी तहरीर में गांव के ही दूसरे समुदाय के लड़के उनकी बेटियों को घर से जबरन ले गए। पुलिस ने तहरीर के आधार पर गांव के ही छोटू समेत चार लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज करते हुए अपनी इंवेस्टिगेशन शुरू कर दी।
पुलिस ने खुलासा किया है कि उनकी प्रारम्भिक जानकारी में पता चला है कि छोटू नाम के युवक जो दोनों दलित बालिकाओं के घर के पास रहता है। छोटू ने लालपुर गांव के रहने वाले जुनैद, सुहैल, हाफिजुर रहमान के साथ दोनों मृतक बालिकाओं की दोस्ती कराई थी। दूसरे समुदाय के तीन युवक इन नाबालिग बहनों को अपने साथ बहला-फुसलाकर घर से ले गए।

जहां जुनैद और सुहेल ने खेतों में इनके साथ इच्छा के विरूद्ध रेप किया गया। इन बालिकाओं का शादी करने की बात पर विवाद हुआ, किशोरियों के साथ उनकी मर्जी के विरुद्ध दुष्कर्म किया, किशोरियों द्वारा शादी की बात करने पर इन आरोपी युवकों से विवाद हुआ।
विवाद और रेप की बात खुल जाने के भय से इन अभियुक्तों ने दुपट्टे से गला दबाकर दोनों की हत्या कर दी। इस घिनौनी वारदात को अंजाम देने के बाद इन तीनों आरोपियों ने अपने दो अन्य साथियों कलीमुद्दीन और आरिफ को बुला कर दोनों किशोरियों को शव पेड़ से लटका दिये।
पुलिस ने अब तक इस मामले में अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। वही पुलिस कस्टडी से जुनैद ने फरार होने की कोशिश की थी, जिसमें मुठभेड़ के दौरान उसके पैर में गोली लग गई, अब वह पुलिस गिरफ्त में है। वही दोनों किशोरियों के शवों का पोस्टमार्टम उनके परिजनों की मौजूदगी में किया जा रहा है।
लखीमपुर में इन किशोरियों के साथ हुई इस शर्मनाक घटना ने एक बार फिर महिला की सुरक्षा पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है।



और भी पढ़ें :