बढ़ती ठंड को देख लॉयन सफारी पार्क में बब्बर शेर के लिए किया गया हीटर का इंतजाम

Author अवनीश कुमार| Last Updated: शुक्रवार, 27 नवंबर 2020 (15:16 IST)
लखनऊ। में तेजी के साथ गिरते पारे और देर रात अचानक बढ़ रही को देखते हुए अब इटावा के में और तेंदुआ समेत अन्य वन्य जीवों के बाड़ों को गरम रखने के लिए और घास के अलावा 38 हीटरों का इंतजाम किया गया है।
पार्क के रेंजर विनीत सक्सेना ने शुक्रवार को बताया कि पार्क में ब्रैडिंग सेंटर, एनिमल हाउस, क्वारंटीन सेंटर समेत सभी जगह कड़ाके की सर्दी में तापमान को दुरुस्त रखने के लिए विशेष और व्यापक इंतजाम किए गए हैं। बाड़ों में जमीन पर पुआल और घास के साथ बोरे बिछाए गए हैं। छत से ओस और हवा से बचाव के लिए बाड़ों पर शीट या चटाई लगाई गई है। खिड़कियों में चटाई लगाकर अनेक बाड़ों को पैक कर दिया गया है।
उन्होंने बताया कि सभी केंद्रों पर रूम हीटर, हीटर, पुआल, कारपेट, पर्दे और खिड़कियों में शीशे आदि लगाए गए हैं ताकि किसी भी तरह से जानवरों तक हवा न पहुंच सके और सभी सेंटरों का तापमान गर्माहटभरा बना रहे। वैसे तो पूरे के पूरे सफारी में ही तापमान बहुत ही अधिक कम रहता है लेकिन एनिमल हाउस में पारा अन्य स्थानों के मुकाबले सबसे कम रहता है। यहां 4 शेरों के लिए 5 हीटरों का इंतजाम किया गया है। इसमे 2 ऑइल हीटर और 3 फाग हीटर हैं। इसके साथ ही पूरे इटावा सफारी पार्क में 38 हीटर लगाए गए हैं।
सक्सेना ने बताया कि जहां शेर शावक और भालू इत्यादि को रखा गया है, वहां तापमान मापने के लिए थर्मामीटर को लगाकर रखा गया है जिसके जरिए समय-समय पर ऑन ड्यूटी सफारी स्टाफ तापमान चेक करता रहता है। इसके साथ ही जानवरों के रखने के सभी स्थानों को पूरी तरीके से लॉक करके रखा गया है। जहां प्लास्टिक सीट से कवर किया गया है वहीं दूसरी ओर तिरपाल डाला गया है इससे अंदर हवा जाने की कोई गुंजाइश नहीं रखी गई है। केवल शुद्ध हवा के लिए थोड़े से स्थान को हर केंद्र में छोड़कर रखा गया है।
उन्होंने बताया कि इटावा सफारी पार्क में ब्रैडिंग सेंटर का तापमान रात में 7 से लेकर के 10 तक गिर जाता है। इसके साथ ही एनिमल हाउस 1 का तापमान 8 के आसपास रात को रहता है जबकि सुबह 4 बजे के आसपास तापमान 13 और दिन में 22 या 23 तक रहता है। इससे ऊंची जगह पर तापमान 28 डिग्री तक भी रहता है। जानवरों को गर्म रखने के लिए तापमान मेंटेन रखने के लिए ये सब इंतजाम किए गए हैं। हीटर के अलावा नाइट सेल के अंदर लकड़ी के तख्ते डालकर के रखे गए। उनमें पुआल की व्यवस्था कर दी गई है और रोशनदान को एयर टाइट बंद करा दिया गया है।
पुआल की गर्मी से जानवरों को खासा आनंद मिलता है। जो स्टाफ और ड्यूटी पर रहता है, वह इस बात को देखकर के बताता है कि जानवर ज्यादातर समय पुआल पर ही बैठा रहता है। इससे यह बात स्पष्ट होती है कि पुआल से जानवरों को गर्मी मिलती है।

इटावा सफारी पार्क में 4 लेपर्ड और 2 लेपर्ड शावक हैं। 18 बब्बर शेर हैं जिसमें 9 नर और 9 मादा हैं। 3 भालू है और 66 के आसपास ब्लैक बक हैं। 12 सांभर और 37 हिरण हैं। इतने जानवर यहां हैं, जो अपने-अपने नाइट शेड में रहते हैं। इस समय तापमान सफारी में 7 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंचा हुआ है। वैसे यह तापमान जनवरी माह में पहुंचा करता था। वैसे सफारी परिसर में अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग तापमान रिकॉर्ड किया गया है।



और भी पढ़ें :