लखीमपुर हिंसा के आरोपी आशीष मिश्रा को डेंगू, जेल अस्पताल में भर्ती

Last Updated: रविवार, 24 अक्टूबर 2021 (07:35 IST)
लखीमपुर खीरी। लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को डेंगू की वजह से जेल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस कस्टडी रिमांड खत्म होने से पहले ही केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष को जेल में दाखिल किया गया है।
लखीमपुर खीरी जिला जेल के अधीक्षक पीपी सिंह ने बताया कि इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि आशीष डेंगू से पीड़ित हैं या नहीं। उसका नमूना शुक्रवार को जांच के लिए भेजा गया था। रिपोर्ट आने के बाद तस्वीर साफ हो जाएगी।

इससे पहले लखीमपुर में किसानों को कुचलने और हिंसा के मामले में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा समेत 4 आरोपियों को कोर्ट ने शुक्रवार को 2 दिन की पुलिस कस्टडी रिमांड पर भेज दिया था। पुलिस रिमांड आज शाम को खत्म होगी।
क्या होता है डेंगू, कैसे फैलता है : डेंगू एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमण फैलाता है, इसलिए इसे संक्रामक रोग ही माना जाता है। हालांकि, डेंगू के मरीज़ से हाथ मिलाने, उसके साथ बैठने या उसके मुंह या नाक से निकलने वाली बूंदों के ज़रिए डेंगू नहीं होता।

डेंगू से संक्रमित होने पर प्लेटलेट्स की संख्या कम होने लगती है। इसलिए इस मौसम में अगर आपको बुख़ार आता है, तो डेंगू की जांच ज़रूर करा लें। डेंगू होने पर बुखार के अलावा सिर, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द भी होता है।
डेंगू से कैसे बचें :
1. डेंगू से बचाव के लिए जितना हो सके सावधानी रखें। इसके लिए हमेशा ध्यान रखें की पानी में गंदगी न होने पाए। लंबे समय तक किसी बर्तन में पानी भरकर न रखें। इससे मच्छर पनपने का खतरा रहता है।

2. पानी को हमेशा ढंककर रखें, और हर दिन बदलते रहें, अन्यथा इसमें मच्छर आसानी से अपनी वंशवृद्ध‍ि कर सकते हैं।
3. कूलर का पानी हर दिन बदलते रहें।

4. खि‍ड़की और दरवाजे पर मच्छर से बचने के लिए जाली लगाएं, जिससे मच्छर अंदर न आ सके।

5. पूरी बांह के कपड़े पहनें या फिर शरीर को जितना हो सके ढंक कर रखें।
इसके अलावा आंखों के पिछले हिस्से में दर्द, कमज़ोरी, भूख न लगना, गले में दर्द होना, मुंह का स्वाद खराब हो जाना और शरीर पर रैशेज़ जैसे लक्षण भी नज़र आ सकते हैं। इससे बचने के लिए यह जानना ज़रूरी है कि यह होता कैसे है।




और भी पढ़ें :