UP में मिले डेल्टा प्लस वैरिएंट के केस, MBBS छात्रा समेत दो की पुष्टि

पुनः संशोधित गुरुवार, 8 जुलाई 2021 (11:13 IST)

कोरोना के सबसे घातक वैरिएंट डेल्टा प्लस ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में दस्तक दे दी है। गोरखपुर और देवरिया के दो मरीजों में की पुष्टि हुई है। हैरान करने वाली बात तो यह है कि, इन दो मरीजों में से एक की मौत भी हो गई है। जब से यूपी में डेल्टा प्लस वैरिएंट के केस सामने आए है, तब से राज्य में मानों हड़कंप मच गया है।


डेल्टा प्लस वैरिएंट के कसम सामने आने के बाद प्रदेश में जीन सिक्वेंसिंग टेस्ट कराए जा रहे हैं। करीब 600 से ज्यादा सैंपल अब तक जीन सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जा चुके हैं। जानकारी के लिए बता दें कि, यूपी में इससे पहले भी 550 सैंपल की जीन सिक्वेंसिंग कराई गई थी। इन सैंपल की जांच आईजीआईबी दिल्ली में हुई। हालांकि, इसमें किसी डेल्टा प्लस वैरिएंट की पुष्टि नहीं हुई थी।


एक तरह भले ही कोरोना के मरीज घट रहे हो लेकिन दूसरी तरफ डेल्टा प्लस वैरिएंट धीरे-धीरे एक राज्य से दूसरे राज्य तक अपने पैर पसार रहा है। देश में डेल्टा प्लस का खतरा बढ़ गया है। अभी तक कुल 12 राज्यों में डेल्टा प्लस के केस रिपोर्ट किए गए हैं और इस दौरान 51 से अधिक मरीजों की पुष्टि हो चुकी है।

यूपी में डेल्टा प्लस के जो दो मरीज मिले, उसमें एक की मौत हो गई है। मरीज देवरिया का रहने वाला था और उसकी उम्र 66 वर्ष थी। वह 17 मई को पॉजिटिव हुआ था। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में गंभीर हाल में परिजनों ने मई महीने में ही उसे भर्ती कराया था और जून माह में उसकी मौत हो गई।


वहीं, दूसरी मरीज एक एमबीबीएस की छात्रा है। उसकी उम्र 23 वर्ष है। वह बीआरडी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस की पढ़ाई करती है और लखनऊ की रहने वाली है। यह छात्रा 26 मई को पॉजिटिव हुई थी। जिसके बाद जीन सिक्वेंसिंग सैंपल टेस्ट के लिए भेजा गया था। फिलहाल उसकी तबीयत में सुधार है।



और भी पढ़ें :