ट्रंप ने की विदेश नीति पर फाइनल प्रेसिडेंशियल डिबेट की मांग

Last Updated: मंगलवार, 20 अक्टूबर 2020 (16:54 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति ने राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले चुनाव में विदेश नीति पर फाइल प्रेसिडेंशियल डिबेट की की है। इस सिलसिले में ट्रंप के प्रचार अभियान के प्रमुख बिल स्टेपियन ने चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा है और विदेश नीति के मुद्दे पर कराने की मांग की है।
उन्होंने पत्र में कहा कि प्रचार की अखंडता और अमेरिकी नागरिकों की भलाई के लिए हम आपसे 22 अक्टूबर को होने वाले अंतिम प्रेसिडेंशियल बहल को विदेश नीति पर कराने की अपील करते हैं। इसी मुद्दे पर बहस की सहमति बनी है और पिछले प्रचारों में यही परंपरा रही है।
स्टेपियन ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि मॉडरेटर क्रिस्टेन वेल्कर ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई, अमेरिकी नागरिक, रेस इन अमेरिका, जलवायु परिवर्तन, राष्ट्रीय सुरक्षा, नेतृत्व और विदेश नीति जैसे कुछ मुद्दों की घोषणा की है जिनमें से ज्यादातर मुद्दों पर पहली बहस के दौरान चर्चा हो चुकी हैं। उन्होंने बहस के दौरान उम्मीदवारों के फोन को बंद कराने की मांग की है।
कोरोना राहत पैकेज पर 48 घंटों में निर्णय लेने की मांग : अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने व्हाइट हाउस कार्यालय और कांग्रेस सांसदों से कहा है कि अगर वे नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों से पहले कोविड-19 राहत पैकेज पर कोई प्रस्ताव पारित करना चाहते हैं तो उन्हें 48 घंटों के भीतर में इस पर विचार करना होगा।

पेलोसी ने एबीसी के साथ साक्षात्कार में कहा कि व्हाइट हाउस और कांग्रेस को 48 घंटे यह देने के लिए दिए गए हैं कि क्या वे राष्ट्रपति चुनाव से पहले कोविड को लेकर एक और राहत पैकेज चाहते हैं या नहीं? उन्होंने कहा कि हम इसलिए उनसे पूछ रहे हैं, क्योंकि हमें राहत पैकेज को लेकर तैयारी करनी होगी और पैकेज को लेकर निर्णय लेना होगा।
स्पीकर से इस बारे में पूछे जाने पर कि क्या अमेरिकियों को 3 नवंबर चुनाव दिवस से पहले कोरोना महामारी से राहत मिलेगी या नहीं? इस पर उन्होंने कहा कि यह ट्रंप प्रशासन पर निर्भर करता है। सच यह है कि हम नहीं कर सकते लेकिन हम इस वायरस के प्रसार को रोकना ही चाहते हैं।

हाउस स्पीकर के प्रवक्ता और स्पीकर स्टाफ के उपप्रमुख ड्रू हैमिल के अनुसार पेलोसी और वित्तमंत्री स्टीवन मेनुचिन महीनों से एक नए कोविड-19 राहत पैकेज को लेकर चर्चा कर रहे हैं और शनिवार रात को इस संबंध में कुछ सकरात्मक निर्णय भी लिए गए हैं। फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल ने हाल ही में अमेरिकी सांसदों से कोरोना महामारी से प्रभावित लोगों और व्यवसायों को अधिक से अधिक वित्तीय राहत प्रदान करने का आग्रह भी किया है। (वार्ता)



और भी पढ़ें :