मैच प्रिव्यू: 5 साल बाद मिलेगा टी-20 विश्वकप का नया चैंपियन, कीवी औरं कंगारुओं का ऐसा रहा है हेड टू हेड रिकॉर्ड

Last Updated: रविवार, 14 नवंबर 2021 (15:41 IST)
दुबई:आखिरकार की तारीख आ ही गई। एक तरफ होगी तो दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया। दोनों ही आज तक एक बार भी टी-20 विश्वकप जीतने में असफल रही है। इसका मतलब यह है कि आज करीब 5 साल बाद टी-20 को एक नया चैंपियन मिलेगा।

ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवर के क्रिकेट में रिकार्ड पांच विश्व कप खिताब जीते हैं लेकिन दिलचस्प बात है कि वह अभी तक टी20 विश्व कप ट्राफी अपने नाम नहीं कर पाया है।

वहीं दूसरी ओर न्यूजीलैंड हमेशा आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) की प्रतियोगिताओं में निरंतर प्रदर्शन करती रही है और अब लगता है कि केन विलियमसन के कुशल नेतृत्व में उसके पास आगे बढ़ने का आत्मविश्वास मौजूद है।

यह उनका पहला टी20 विश्व कप फाइनल होगा और अगर वे इसे जीत जाते हैं तो यह देश के लिये शानदार उपलब्धि होगी जहां से लगातार विश्व स्तरीय खिलाड़ी निकलते रहते हैं।

ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने खिलाड़ियों के जोशिले प्रदर्शन से रविवार को यहां तस्मानियाई प्रतिद्वंद्वी न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल में जीत हासिल कर पहली टी20 विश्व कप ट्राफी अपने नाम करने के लिये बेताब होगी।ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दोनों ने अपने सेमीफाइनल मुकाबले जिस अंदाज में जीते थे, उसे देखते हुए ‘रिंग ऑफ फायर’ में एक और नाटकीय मैच की उम्मीद की जा सकती है।

ऑस्ट्रेलिया रही है न्यूजीलैंड पर भारी

जहां तक दोनों टीमों के बीच टी20 भिड़ंत की बात की जाये तो ऑस्ट्रेलिया का हमेशा मौजूदा विश्व टेस्ट चैम्पियन पर दबदबा रहा है। लेकिन न्यूजीलैंड ने भारत में 2016 चरण में विश्व कप में अपनी एकमात्र भिड़ंत में जीत हासिल की थी।

ओवरऑल आंकड़ों की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड अब तक 14 बार टी-20 क्रिकेट में आमने-सामने आए हैं, जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने नौ और न्यूजीलैंड ने पांच मैच जीते हैं। न्यूजीलैंड ने हालांकि घरेलू टी-20 सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 3-2 से शिकस्त दी थी।

घरेलू फैंस को करना होगा रात्रि जागरण

दोनों टीमों के बीच विश्व कप फाइनल का अंतिम मुकाबला 2015 में 50 ओवर प्रारूप में रहा था जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने फतह हासिल की थी जिसने तब से कोई आईसीसी टूर्नामेंट नहीं जीता है।दोनों टीमों के प्रशंसकों को अपने टीवी सेट पर यह मुकाबला देखने के लिये रात तक जागना होगा क्योंकि दोनों ही देशों में यह मध्यरात्रि के बाद शुरू होगा।

ग्रुप चरण में न्यूजीलैंड सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करने वाली टीम रही है, जिसने सेमीफाइनल में टूर्नामेंट से पहले प्रबल दावेदार माने जा रही टीम के खिलाफ अपनी शानदार बल्लेबाजी का नजारा पेश किया।

मार्टिन गुप्टिल का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 में रिकार्ड काफी अच्छा है और उनके सलामी जोड़ीदार डेरिल मिशेल भी अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलने के बाद फाइनल में खेलेंगे।कप्तान केन विलियमसन से हालांकि बड़ी पारी का इंतजार है और रविवार को उनसे इस मौके पर अच्छा करने की उम्मीद है।

जिम्मी नीशाम ने इंग्लैंड के खिलाफ मध्यक्रम में अपनी अहमियत साबित की लेकिन न्यूजीलैंड को डेवोन कोनवे की सेवाओं की कमी खलेगी जो सेमीफाइनल में आउट होने की निराशा में बल्ला पटखने के कारण हाथ चोटिल करा बैठे जिससे उनकी जगह टिम सिफर्ट खेलेंगे।

टिम साउदी और ट्रेंट बोल्ट की अनुभवी तेज गेंदबाजी जोड़ी से ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच और डेविड वार्नर पर पावरप्ले में लगाम कसे रखने की उम्मीद है।एडम मिल्न ने भी तीसरे तेज गेंदबाज के तोर पर अच्छा काम किया है जबकि लेग स्पिनर ईश सोढी मध्य के ओवरों में प्रभावशाली रहे हैं।

फिंच सेमीफाइनल में पाकिस्तान के शाहीन शाह अफरीदी की तेज इनस्विंगर से गच्चा खा गये लेकिन वह न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने 251 रन में इजाफा करना चाहेंगे। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों में न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 में उनके नाम सबसे ज्यादा रन हैं।

पिछली दो पारियों में वार्नर ने दिखा दिया कि फॉर्म अस्थायी होती है और ‘क्लास’ स्थायी। और पूरी उम्मीद है कि वह फाइनल में अपने बल्ले से धमाल दिखायेंगे। वहीं ग्लेन मैक्सवेल और स्टीव स्मिथ से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होगी जो अभी तक टूर्नामेंट में बड़ा प्रभाव नहीं छोड़ पाये हैं।

मार्कस स्टोइनिस और मैथ्यू वेड ने पाकिस्तान के खिलाफ लक्ष्य का पीछा करते हुए शानदार जीत दिलायी जिससे लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम बेहतर नतीजे के लिये पूरी तरह तैयार दिखती है।

लेग स्पिनर एडम जम्पा ने टूर्नामेंट में 10.91 के औसत से 12 विकेट चटकाये हैं, उनसे फिर से मध्य के ओवरों में शानदार प्रदर्शन की उम्मीद होगी जबकि मैक्सवेल भी अपनी ऑफ स्पिन से मदद कर सकते हैं।

मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस और जोश हेजलवुड की तेज गेंदबाजी तिकड़ी न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना पहला टी20 मैच खेलेगी। हेजलवुड हालांकि पाकिस्तान के खिलाफ अच्छा नहीं कर सके लेकिन वह वापसी करने के लिये बेताब होंगे।

टीमें इस प्रकार हैं :

ऑस्ट्रेलिया:आरोन फिंच (कप्तान), एशटन एगर, पैट कमिंस, जोश हेजलवुड, जोश इंगलिस, मिशेल मार्श, ग्लेन मैक्सवेल, केन रिचर्डसन, स्टीव स्मिथ, मिशेल स्टार्क, मार्कस स्टोइनिस, मिशेल स्वेपसन, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), डेविड वार्नर, एडम जम्पा।

न्यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्तान), टॉड एस्टल, ट्रेंट बोल्ट, मार्क चैपमैन, एडम मिल्न, मार्टिन गुप्टिल, केलय जैमीसन, डेरिल मिशेल, जिम्मी नीशाम, ग्लेन फिलिप्स, मिशेल सैंटनर, टिम सिफर्ट (विकेटकीपर), ईश सोढ़ी, टिम साउदी।

मैच भारतीय समयानुसार शाम साढ़े सात बजे शुरू होगा।



और भी पढ़ें :