लो स्कोरिंग हो सकता है भारत पाक मैच, टॉस जीतने वाला कप्तान लेगा यह निर्णय

Last Updated: रविवार, 24 अक्टूबर 2021 (11:37 IST)
आखिरकार वह घड़ी आ गई जिसका सबको बेसब्री से इंतजार था। के मैच का दोनों ही देशों के क्रिकेट फैंस के अलावा दुनिया भर के फैंस की निगाहें भी इन दोनों चिर प्रतिद्वंदी के मुकाबले पर होती हैं।

इस मैच में अपने पसंदीदा खिलाड़ियों द्वारा लगाए गए चौके छक्के पर फैंस झूमना पसंद करते हैं लेकिन जैसा हफ्ता बीता है और सुपर 12 का आगाज जैसे हुआ है उससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह मौका फैंस को कम ही मिलेगा। यानि की भारत पाकिस्तान मैच भी एक कम स्कोर वाला मैच साबित हो सकता है।

सुपर 12 में कल दो मुकाबले हुए और दोनों ही मुकाबलों में बहुत कम रह बने। चाहे वह दक्षिण अफ्रीका बनाम ऑस्ट्रेलिया हो या फिर वेस्टइंडीज बनाम इंग्लैंड।
ऑस्ट्रेलिया की विजयी शुरुआत, दक्षिण अफ्रीका को पांच विकेट से पीटा

अबू धाबी में ऑस्ट्रेलिया ने अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत दक्षिण अफ्रीका को यहां शनिवार को टी-20 विश्व कप 2021 के पहले मुकाबले में पांच विकेट से हराकर पूरे अंक हासिल किये।

ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका को ग्रुप एक के इस मुकाबले में नौ विकेट पर 118 रन के मामूली स्कोर पर रोकने के बाद 19.4 ओवर में पांच विकेट पर 121 रन बनाकर टूर्नामेंट में विजयी शुरुआत की। लक्ष्य मुश्किल नहीं था और कप्तान आरोन फिंच के शून्य और डेविड वार्नर के 14 रन बनाकर टीम के 20 रन के स्कोर तक पवेलियन लौट जाने के बाद स्टीवन स्मिथ ने 34 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 35 रन ,ग्लेन मैक्सवेल ने 21 गेंदों में 18 रन , मार्कस स्टॉयनिस ने 16 गेंदों में तीन चौकों के सहारे नाबाद 24 और विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने 10 गेंदों में दो चौकों के सहारे नाबाद 15 बनाकर टीम को जीत दिला दी। मैच में 19 रन पर दो विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड को प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।

टॉस हार कर पहले बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीकाई टीम शुरुआत से ही संघर्ष करती दिखी, जिसके चलते वह 20 ओवर में नौ विकेट पर 118 रन ही बना सकी। ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों, खास कर जोश हेजलवुड, पैट कमिंस और एडम जम्पा ने कसी हुई गेंदबाजी के जरिए तीनों सलामी बल्लेबाजों को बांध कर रखा। परिणामस्वरूप दबाव में आकर उन्होंने अपना विकेट गंवा दिए। क्विंटन डी कॉक के साथ ओपनिंग करने आए कप्तान तेम्बा बावुमा सबसे पहला शिकार बने। पार्ट टाइम गेंदबाज ग्लेन मैक्सवेल ने उन्हें आउट किया। उन्होंने दो शानदार चौकों की मदद से सात गेंदों पर 12 रन बनाए। वहीं डी कॉक एक चौके की मदद से 12 गेंदों पर सात, जबकि आखिरी अभ्यास मैच में पाकिस्तान के खिलाफ विस्फोटक शतक जड़ने वाले रैसी वान डेर डुसेन तीन गेंदों पर दो रन बना कर आउट हुए।

शीर्ष क्रम के फ्लॉप रहने के बाद मध्य क्रम के बल्लेबाज एडेन माक्ररम ने पारी को संभाला, जिसमें हेनरिक क्लासेन ने उनका साथ दिया, हालांकि क्लासेन लंबी पारी नहीं खेल पाए और दो चौकों की मदद से 13 गेंदों पर 13 रन बना कर आउट हो गए। इसके बाद अनुभवी बल्लेबाज डेविड मिलर ने माक्ररम के साथ पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 34 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की। मिलर हालांकि अपना स्वभाविक खेल नहीं खेल पाए और बगैर कोई बाउंड्री लगाए 18 गेंदों पर 16 रन बना कर अपना विकेट गंवा दिया, लेकिन माक्ररम दूसरे छोर पर टिके रहे और तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 36 गेंदों पर 40 रन की अहम पारी खेली। वहीं अंत में तेज गेंदबाज कैगिसो रबादा ने भी एक चौके और एक छक्के के सहारे 23 गेंदों पर 19 रन बनाए। उनके इस योगदान की वजह से टीम 118 के स्कोर तक पहुंच पाई।

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से जोश हेजलवुड ने चार ओवर में 19, एडम जम्पा ने चार ओवर में 21 और मिचेल स्टार्क ने चार ओवर में 32 रन देकर दो-दो विकेट लिए। वहीं पैट कमिंस और ग्लेन मैक्सवेल को भी एक-एक विकेट मिला।

चैंपियन विंडीज को 55 रन ढेर कर छह विकेट से जीता इंग्लैंड

दुबई में इंग्लैंड ने अपने गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन से गत चैंपियन वेस्ट इंडीज को आईसीसी टी 20 विश्व कप के ग्रुप एक के मुकाबले में शनिवार को 14.2 ओवर में मात्र 55 रन पर ढेर कर दिया और फिर 8.2 ओवर में चार विकेट पर 56 रन बनाकर एकतरफा जीत हासिल कर ली।

इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने सही फैसला किया। लेग स्पिनर आदिल राशिद ने 2.2 ओवर की घातक गेंदबाजी में मात्र दो रन देकर चार विकेट झटके। ऑफ स्पिनर मोईन अली ने चार ओवर में 17 रन देकर दो विकेट और टायमल मिल्स ने चार ओवर में 17 रन देकर दो विकेट लिए। क्रिस वोक्स और क्रिस जॉर्डन को एक-एक विकेट मिला।

वेस्ट इंडीज की तरफ से एकमात्र क्रिस गेल ने 13 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 13 रन बनाये और दहाई की संख्या में पहंचने वाले वह एकमात्र बल्लेबाज रहे। कप्तान कीरोन पोलार्ड ने 14 गेंदों पर छह रन बनाये जबकि अकील हुसैन ने 13 गेंदों पर नाबाद छह रन बनाये। गेल, पोलार्ड और हुसैन तीन बल्लेबाज ऐसे रहे जिन्होंने दहाई की संख्या में गेंदें खेलीं।

छोटे लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड ने चार विकेट गंवाकर जीत हासिल की और विंडीज का लगातार पांच मैच जीतने का विजय क्रम रोक दिया। ओपनर जोस बटलर ने 22 गेंदों में तीन चौकों की मदद से नाबाद 24 रन बनाये जबकि कप्तान इयान मॉर्गन सात गेंदों में सात रन बनाकर नाबाद रहे। जैसन रॉय ने 10 गेंदों में एक छक्के के सहारे 11 रन बनाये। लेफ्ट आर्म स्पिनर अकील हुसैन ने जानी बेयरस्टो (9)और लियाम लिविंगस्टोन (1) को अपनी ही गेंद पर कैच किया। मोईन अली चार गेंदों में तीन रन बनाकर रन आउट हुए। मोईन अली को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।
टॉस जीतकर फील्डिंग का फैसला करेगा कप्तान

चाहें विराट कोहली हो या बाबर आजम जो आज टॉस जीतेगा वह गेंदबाजी का फैसला करेगा क्योंकि बाद में बल्लेबाजी के दौरान ओस आ जाती है और गेंद पकड़ने में दिक्कत महसूस होती है। ओस के बारे में कप्तान कोहली ने अपनी चिंता हाल ही में जाहिर की थी।

एक और चिंता इस बात की भी है कि भारत को दुबई में मैच खेलना है जहां कल वेस्टइंडीज सिर्फ 55 रनों पर इंग्लैंड के खिलाफ ऑलआउट हो गई थी। ऐसे में पिच किस तरह की होगी यह भी दोनों कप्तानों के लिए चिंता का विषय होने वाला है।

लगातार आईपीएल के बाद पिछले हफ्ते से ही के क्वालिफायर मुकाबले खेले गए थे। एक हफ्ते में यह तीसरा मौका है जब कोई टीम 100 से कम पर आउट हुई हो। इससे पहले नामीबिया (96) और हॉलैंड (44) श्रीलंका के खिलाफ इन पिचों पर आउट हो चुकी हैं।



और भी पढ़ें :