टी-20 विश्वकप में आसान ग्रुप को ही भारत ने अपनी गलती से ऐसे बना लिया Group of Death

Last Updated: बुधवार, 27 अक्टूबर 2021 (13:35 IST)
हमें फॉलो करें
जब क्वालिफायर्स के मुकाबलों का अंत हुआ था तो जो टीमें सुपर 12 में आयी थी उससे भारतीय फैंस बहुत खुश थे। एक ग्रुप में श्रीलंका और बांग्लादेश चली गई वहीं के ग्रुप में स्कॉटलैंड और नामीबिया आ गई।


ऐसा समझे जाने लगा कि यह ग्रुप तो बहुत आसान हो गया और जहां बांग्लादेश और श्रीलंका गए वह ग्रुप, ग्रुप ऑफ डेथ बन गया। लेकिन यह तब तक ही था जब भारत से नहीं भिड़ा था। पाकिस्तान से भिड़ने के बाद यह आसान ग्रुप भी भारत के लिए ग्रुप ऑफ डेथ बन गया।

इसका कारण यह है कि जो टीमें भारत को आसान लग रही थी वह दूसरे देशों के लिए भी तो आसान ही थी। इसके बाद एक एकतरफा हार भारत को शुरुआती मैच में ही मिल गई और पाकिस्तान 10 विकेट से जीत गया।

इस नतीजे के बाद तो भारत के लिए समीकरण बहुत तेजी से बदले। वह तो भला हो कल पाकिस्तान से जीत गया। नहीं तो भारत की न्यूजीलैंड पर जीत भी उसको सेमीफाइनल में जगह सुनिश्चित नहीं कर पाती। क्योंकि सेमीफाइनल के लिए 3 टीमों में जंग होती।
वहीं पाकिस्तान की न्यूजीलैंड पर 5 विकेट से जीत से अब यह साफ हो गया है कि भारत बनाम न्यूजीलैंड का मैच दोनों टीमों के लिए करो या मरो का होगा। 31 अक्टूबर को होने वाले इस मैच में अगर भारत जीत जाता है तो उसे टूर्नामेंट में एक नई संजीवनी मिलेगी।

हालांकि इसके बाद भारत को यह सुनिश्चित करना होगा कि वह किसी कमजोर टीम खासकर अफगानिस्तान से मैच ना हार बैठे। ऐसी स्थति में फिर रन रटे के आधार पर फैसला होगा कि न्यूजीलैंड या भारत में से सेमीफाइनल के लिए कौन क्वालिफाय करता है।

पाकिस्तान का सेमीफाइनल में पहुंचना अब लगभग तय है। इस टीम ने अपने पहले ही दो सबसे मुश्किल टीमों से खेले और जीते भी। अफगानिस्तान के खिलाफ मैच के बाद यह टीम अपनी बैंच स्ट्रेंग्थ भी आजमा सकती है।

अगर न्यूजीलैंड भारत को हरा देता है तो भारत के दरवाजे टी-20 विश्वकप में लगभग बंद हो जाएंगे। 2012 के बाद यह पहला मौका होगा जब टीम सेमीफाइऩल में प्रवेश करने से चूक जाएगी।

गौरतलब है कि इस विश्वकप के बाद कप्तान विराट कोहली टी-20 मैचों की कप्तानी से विदा लेने वाले हैं। ऐसे में टीम इंडिया यहां से पलटवार करना चाहेगी और अपने कप्तान को यह कप एक फेयरवेल गिफ्ट के तौर पर देना चाहेगी। टी-20 विश्वकप में न्यूजीलैंड से कभी नहीं जीता है भारत
भारत के लिए एक बुरी खबर यह भी है कि वह टी-20 विश्वकप में अब तक न्यूजीलैंड से एक भी मैच नहीं जीता है। साल 2007 में भारत पहली बार टी-20 विश्वकप विजेता बनी थी और उस टूर्नामेंट मेंं भारत सिर्फ न्यूजीलैंड से एक मात्र मैच हारा था जो लीग मैचों के दौरान खेला गया था। इसके बाद साल 2016 में भी न्यूजीलैंड ने भारत को उसी के मैदान पर धूल चटा दी थी।

हालांकि भारत पाकिस्तान से टी-20 विश्वकप में कभी नहीं हारा था तो इस टूर्नामेंट की शुरुआत में हार गया। लेकिन न्यूजीलैंड से कभी नहीं जीता तो शायद इस बार जीत जाए और टूर्नामेंट में एक नए जोश के साथ आगे बढ़े। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :