इंग्लैंड को खलेगी जेसन रॉय की कमी, 2016 टी-20 विश्वकप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ जड़े थे 44 गेंदों में 78 रन

Last Updated: बुधवार, 10 नवंबर 2021 (16:43 IST)
हमें फॉलो करें
दुबई: के पिछले पुरुष टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में प्लेयर ऑफ़ द मैच थे। उन्होंने 2016 में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 44 गेंदों में 78 रन बनाए थे। वहीं 50 ओवर के विश्व कप में चोट से वापसी के बाद लीग मैचों में उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। लेकिन अब जेसन रॉय पिंडली की चोट के कारण टी20 विश्व कप से बाहर हो गए हैं।

उनकी जगह इंग्लैंड की टीम में जेम्स विंस को लिया गया है, जो लियाम डॉसन के साथ पहले से एक रिज़र्व खिलाड़ी के रूप में टीम के साथ है और उन्हें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की तकनीकी टीम द्वारा स्वीकृत भी किया गया था।

रॉय को यह चोट सुपर 12 के अंतिम मैच में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ मैच में लगी थी, जिसमें इंग्लैंड की टीम को इस टूर्नामेंट में पहले पराजय का सामना करना पड़ा था। पहले उन्हें क्षेत्ररक्षण के दौरान पैरों में दर्द महसूस हुआ था और वह अपनी मांसपेशियों को पकड़ रहे थे। इसके बाद जब वह बल्लेबाज़ी करने उतरे, तो पांचवें ओवर में दर्द के कारण उन्हें रिटायर हर्ट होना पड़ा। वह टीम फ़ीजियो और टॉम करेन के कंधे पर हाथ रख कर लंगड़ाते हुए मैदान से निकले थे।

रॉय ने कहा था, "मैं विश्व कप से बाहर होने से दुखी हूं। इस कड़वे सच को स्वीकार कर पाना बहुत मुश्किल है। मैं अपनी टीम को सपोर्ट करने के लिए यहीं रहूंगा और उम्मीद है कि हमारी टीम ट्रॉफ़ी उठाएगी। यह अब तक एक अविश्वसनीय यात्रा रही है। हमारे टीम के खिलाड़ियों को ख़ुद पर भरोसा रखना होगा और मैच पर पूरा ध्यान लगाना होगा।"

रॉय ने आगे कहा कि उनका रिहैब शुरू हो चुका है और उम्मीद है कि वह अगले साल की शुरुआत में कैरेबियन टी20 दौरे से पहले ख़ुद को तैयार करने की पूरी कोशिश करेंगे।

इंग्लैंड की टीम की एकादश में फ़िलहाल रॉय की जगह विंस को शामिल किया जा सकता है लेकिन इस बात की भी संभावना है कि टीम में सैम बिलिंग्स को शामिल किया जाएगा, जो मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज़ के तौर पर खेल सकते हैं। ऐसी परिस्थिति में डाविड मलान या जॉनी बैयरस्टो को पारी की शुरुआत करनी पड़ सकती है। ऐसा भी हो सकता है कि टीम में रॉय की जगह पर डेविड विली या टॉम करेन को शामिल किया जाए, जो गेंदबाज़ी के साथ-साथ सातवें या आठवें नंबर पर बल्लेबाज़ी भी कर सकते हैं।

इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन ने दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ खेले गए मैच के बाद कहा था कि रॉय टीम के लिए अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण" थे। मॉर्गन ने कहा, "रॉय टीम के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण खिलाड़ी हैं। टीम के लिए शीर्ष क्रम पर उन्होंने काफ़ी आक्रमकता के साथ बढ़िया बल्लेबाज़ी की थी। टीम में उनके नहीं होने से हम काफ़ी दुखी हैं और इस बात के लिए दुआ भी कर रहे हैं कि उनकी चोट ज़्यादा गंभीर ना हो।"

इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ भी चोट की वजह से हैं विश्व कप से बाहर

202 से इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ टायमल मिल्स बाहर हो गए हैं। मिल्स की दाईं जांघ में खिंचाव हो गया था और अब उन्हें प्रतियोगिता से बाहर होना पड़ा। उनकी जगह टीम में रीस टॉप्ली को शामिल किया गया था। टॉप्ली इंग्लिश दल के साथ फ़िलहाल संयुक्त अरब अमीरात में ही हैं, क्योंकि वह रिज़र्व खिलाड़ी के तौर पर टीम के साथ थे। लेकिन अब टॉप्ली मुख्य दल का हिस्सा हैं।

शारजाह में सुपर-12 के मुक़ाबले में श्रीलंका के ख़िलाफ़ मिल्स की दाईं जांघ में खिंचाव हो गया था और फिर स्कैन में पता चला कि उनकी चोट गंभीर है जिस वजह से चार साल बाद टीम में वापसी करने वाले मिल्स का सफ़र अनचाहे अंदाज़ में इस विश्वकप में थम गया था।

दोनों खिलाड़ियों की चोट रही दुर्भाग्यपूर्ण

इन दोनों ही खिलाड़ियों को इंग्लैंड की टीम सेमीफाइनल में मिस कर सकती है। इंग्लैंड के लिए दुख की बात यह है कि दोनों ही खिलाड़ियों को दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से चोट लगी थी। दोनों की ही चोट में गेंद से या किसी खिलाड़ी से टकराने से चोट नहीं लगी थी।

जहां जेसन रॉय रन लेते वक्त खुद को चोटिल कर बैठे थे वहीं मिल्स तो बस रन अप ले रहे थे और तब ही इशारा कर दिया था कि वह अब बल्लेबाजी नहीं कर पाएंगे। मिल्स इंग्लैंड की गेंदबाजी क्रम में विविधता लाते थे क्योंकि वह बाएं हाथ के गेंदबाज थे।



और भी पढ़ें :