सूर्य ग्रहण पर करें अपनी राशि अनुसार लाल किताब के ये अचूक उपाय, होगा लाभ

21 जून 2020 को की दृष्टि में वर्ष का पहला खंडग्रास सूर्यग्रहण होने जा रहा है। इसके बाद 14 दिसंबर को सूर्य ग्रहण होगा। आओ जानते हैं कि लाल किताब के अनुसार इस दौरान कौनसे सामान्य उपाय कर सकते हैं जिससे हमें लाभ मिले। यह उपाय सूर्य ग्रहण वाले और दूसरे दिन भी कर सकते हैं।
मेष और वृश्चिक राशि के लिए
1. हनुमान चालीसा का पाठ करें।
2. सफेद या काला सूरमा आंखों में लगाएं।
3. शुद्ध गुड़ खाएं और खिलाएं।
4. मसूर की दाल मंदिर में दान करें।
5. नीम के वृक्ष में जल चढ़ाएं और उसकी पूजा करें।
6. भाई और मित्रों से संबंध अच्छे रखें। क्रोध न करें।
7. गुलाबी या लाल चादर पर सोएं। आंत और दांत साफ रखें।

वृषभ और तुला राशि के लिए
1. चांदी का एक सिक्का अपने पास रखें।
2. शाम को घी का दीपक जलाएं।
3. सात प्रकार के अनाज और चरी का दान करें।
4. किसी को अनावश्यक परेशान ना करें और वादा करके मुकरे नहीं।
5. चाहें तो सफेद वस्त्र का दान करें।
6. भोजन का कुछ हिस्सा गाय, कौवे, और कुत्ते को दें।
7. स्वयं को और घर को साफ-सुथरा रखें और साफ कपड़े पहनें।
8. सुगन्धित इत्र या सेंट का उपयोग करें।
मिथुन और कन्या राशि के लिए
1. साबूत हरे मूंग का दान करें या बहते जल में बहाएं।
2. दुर्गा माता की पूजा करें।
3. बेटी, बहन, साली और बुआ का सम्मान करें।
4. चमड़े की जैकेट न पहनें, हरे रंग का उपयोग न करें।
5. तुलसी माता की पूजा करें।
6. और वादों को निभाएं।

कर्क राशि के लिए
1. खीर बनाकर दूसरों को खिलाएं।
2. मां के हाथों से चावल या दही खाकर ही किसी यात्रा का प्रारंभ करें।
3. बड़ के वृक्ष में जल चढ़ाएं और मंदिर में राजमा के बीज रखें।
4. पानी या दूध को साफ पात्र में सिरहाने रखकर सोएं और सुबह कीकर के वृक्ष की जड़ में डाल दें।
सिंह राशि के लिए
1. शराब और मांस का सेवन न करें।
2. किसी से मुफ्त में कुछ न लें।
3. हनुमान चालीसा का पाठ करें।
4. रविवार का व्रत रखें और सूर्य को अर्घ्य दें।
5. मुंह में मीठा डालकर ऊपर से पानी पीकर ही घर से निकलें।

धनु और मीन राशि के लिए
1. झूठ न बोलें। ज्ञान का घमंड न करें।
2. पीपल में जल चढ़ाएं और केसर का तिलक लगाएं।
3. गीता का पाठ या कृष्ण नाम जपें।
5. घर में कर्पूर या गुगल की धूप दें।
6. पिता, दादा और गुरु का आदर करें और मंदिर में कद्दू का दान करें।
मकर और कुंभ राशि के लिए
1. हनुमानजी चालीसा का पाठ करें और उन्हें चौला चढ़ाएं।
2. अंधे-अपंगों, सेवकों और सफाईकर्मियों को दान दें।
3. भगवान भैरव को कच्चा दूध चढ़ाएं।
4. आंत और दांत साफ रखें और काली चीटिंयों को अन्न खिलाएं।
5. तिल, उड़द, लोहा, तेल, काला वस्त्र, या जूता दान करें।
6. कौवे को प्रतिदिन रोटी खिलावे।



और भी पढ़ें :