0

Solar Eclipse 2020 : भारत में नहीं आएगा नजर साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, क्या है विशेष इस ग्रहण में?

रविवार,दिसंबर 13, 2020
0
1
साल का अंतिम सूर्य ग्रहण 14 और 15 दिसंबर को लगेगा। हिंदू पंचांग की गणना के अनुसार यह सूर्य ग्रहण वृश्चिक राशि में और ज्येष्ठा नक्षत्र में लगेगा।
1
2
इस 14 दिसंबर को वृश्चिक राशि में सूर्यग्रहण लगेगा, आइए जानें खास बातें .... सूर्य ग्रहण के दौरान के ग्रह गोचर का क्या होगा असर 12 राशियों पर...
2
3
14 दिसंबर को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है। सूर्य ग्रहण को ज्योतिष शास्त्र में बेहद महत्वपूर्ण माना गया है। ज्योतिष शास्त्र में सूर्य को सभी ग्रहों का राजा माना गया है, वहीं सूर्य आत्मा और ऊर्जा का भी कारक है।
3
4
ॐ जय सूर्य भगवान, जय हो दिनकर भगवान। जगत् के नेत्रस्वरूपा, तुम हो त्रिगुण स्वरूपा। धरत सब ही तव ध्यान, ॐ जय सूर्य भगवान।।
4
4
5
हिन्दू धर्म संस्कृति में सूर्य की उपासना करने का विशेष महत्व माना गया है।सूर्य ग्रहण पर यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं सूर्य चालीसा का संपूर्ण पाठ, अवश्‍य पढ़ें...
5
6
मेष राशि-सूर्य ग्रहण आपका आर्थिक पक्ष मजबूत करेगा। भविष्य में कई छोटी यात्रा बार बार होगी। छोटे भाई से वैचारिक मतभेद व नौकर को मन का भेद न बताएं अन्यथा धोखा मिल सकता है ।
6
7
सूर्यग्रहण के समय घर से बाहर नहीं निकलें। ग्रहण से पहले स्नान करें। तीर्थों पर न जा सकें तो घर में ही पानी में गंगाजल, तीर्थो का जल मिलाकर स्नान करें।
7
8
सरल शब्दों में कहें तो आदित्य ह्रदय स्तोत्र हर क्षेत्र में चमत्कारी सफलता देता है। विशेषकर मकर संक्रांति पर यह पाठ हर तरह के शत्रु से मुक्ति दिलाता है।
8
8
9
इस समय 21 जून रविवार आज सूर्य ग्रहण चल रहा है ,इस दौरान ग्रहों की स्थिति इस तरह है...
9
10
विद्वान सूर्यग्रहण को लेकर मान रहे हैं कि ग्रहण भारी विनाशक योग का सर्जन कर रहा है । यह देश व दुनिया के लिए महा दुःखदायी है। इस योग से पृथ्वी का भार कम होगा। लेकिन हमें ईश्वर पर भरोसा रख कर ये मंत्र जपने हैं...
10
11
श्री हनुमान चालीसा का एक-एक शब्द इतना प्रभावशाली है कि अगर पूरे मनोयोग से इसे 7 बार, 11 बार या फिर 108 बार पढ़ा जाए तो जीवन की हर बाधा दूर होने लगती है, हर रास्ता सरल और हर काम सफल होने लगता है। प्रस्तुत है श्री हनुमान चालीसा....
11
12
21 जून 2020 को सूर्य ग्रहण है। ग्रहण का प्रभाव सभी पर होता है। इस दौरान किए गए पुण्य कार्यों का सर्वश्रेष्ठ फल मिलता है। सूर्य ग्रहण के दौरान दान पुण्य का फल अक्षय माना गया है।
12
13
आज साल 2020 की सबसे बड़ी खगोलीय घटना होने जा रही है। सबसे अधिक समय और अब तक का सबसे बड़ा सूर्यग्रहण देखने को मिलेगा।
13
14
सूर्य ग्रहण 2020: जानिए आपके शहर का समय
14
15
21 जून को कई दशक बाद ऐसा संयोग बन रहा है जब एक साथ छह ग्रह सूर्य ग्रहण पर वक्री होंगे। वक्री होने से इन ग्रहों की चाल उल्टी पड़ जाएगी जिसका सीधा असर मानव जीवन पर पड़ेगा।
15
16
इस बार साल के सबसे बड़े दिन 21 जून को दुर्लभ खगोलीय घटना होगी। रविवार आषाढ़ अमावस्या को वलयाकार सूर्य ग्रहण लगेगा। इसे कंकणाकार ग्रहण भी कहते हैं। यह सूर्य ग्रहण देश के कुछ भागों में पूर्ण रूप से दिखाई देगा।
16
17
21 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण काफी महत्वपूर्ण है। सूर्य ग्रहण कई तरह के संयोग लेकर आ रहा है।
17
18
अथर्ववेद में सूर्य ग्रहण तथा चंद्रग्रहण को अशुभ तथा दुर्निमित कहा गया है। अत: राहु से ग्रस्त सूर्य की शांति के लिए प्रार्थना की गई है।
18
19
21 जून 2020 को सूर्य ग्रहण लगने वाला है।भारत में यह सूर्य ग्रहण दिखाई देगा। इसलिए यहां ग्रहण का सूतक काल मान्य होगा। आइए जानते हैं ग्रहण का सभी राशियों पर प्रभाव।
19