0

चाणक्य नीति : आपके दु:ख से इन 8 लोगों को कोई फर्क नहीं पड़ता

शुक्रवार,अगस्त 12, 2022
0
1
Kajalia गेंहू के छोटे-छोटे पौधों को कजलिया (kajaliya) कहते हैं। बुंदेलखंड में 'कजलिया' पर्व नई फसल की उन्नति का प्रतीक माना जाता है। यह प्रकृति, प्रेम और खुशहाली से जुड़ा हुआ त्योहार है, जो कि रक्षा बंधन के दूसरे दिन मनाया जाता है। कजलियां पर्व से ...
1
2
इस वर्ष 11 अगस्त 2022 को रक्षा बंधन यानी राखी का पर्व मनाया जा रहा है। आप भी बाजार से चीनी राखियां खरीदने के बजाय इस रक्षा बंधन के खास पर्व पर अपने भाई की सुरक्षा के लिए घर में ही अपने हाथों से शुद्ध वैदिक राखी बनाएं और यह त्योहार मनाएं-
2
3
आप बचपन से भाई को राखी से पहले तिलक लगाती आई हैं लेकिन क्या आपको पता है कि यह तिलक क्यों लगाया जाता है। क्या है इसका शुभ महत्व।। आइए जानते हैं....Importance of Rakhi Tilak
3
4
Gautam Buddha quotes गौतम बुद्ध बौद्ध धर्म के संस्थापक हैं। उन्होंने दुनिया को शांति, अहिंसा का पाठ पढ़ाया है। साथ ही मित्रता के बारे में भी बतलाया हैं। आइए यहां जानते हैं मित्रता, दोस्ती और शत्रु (अमित्र) के बारे में क्या कहते हैं भगवान बुद्ध-12 ...
4
4
5
Krishna kamal Flower : कमल के फूल को हिन्दू धर्म में बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। यह कई प्रकार के होते हैं। ब्रह्म कमल, सफेद कमल, नीलकमल, कृष्‍णकमल आदि। कृष्ण कमल के फूल की बनावट राखी की तरह है। इसलिए इसे राखी का फूल भी कहते हैं। यह बेल की तरह ...
5
6
Skanda Purana Katha gyan : भगवान शंकर के बड़े पुत्र कार्तिकेय का ही एक नाम स्‍कन्‍द है। उन्हीं के नाम पर लिखा गया स्कंद पुराण। इसे महापुराण माना जाता है। पुराणों के क्रम में इसका तेरहवां स्थान है इसके खंडात्मक और संहितात्मक उपलब्ध दो रूपों में से ...
6
7
Kalki avatar: कल्कि अवतार को भगवान विष्णु का भविष्य का 10वां अवतार माना जाता है। यह अवतार कब होगा, कहां होगा और कैसा होगा। आओ जानते हैं 10 खास बातें।
7
8
भारतीय संस्कृति के अनुसार कुछ ऐसे मौके होते हैं जबकि दूज, चतुर्थी और पूर्णिमा को चंद्र दर्शन का खास महत्व रहता है। श्रावण मास में सिंधारा दूज के दिन चंद्र दर्शन करना शुभ माना गया है। 30 जुलाई 2022 को सिंधारा दूज का पर्व मनाया जा रहा है। आओ जानते हैं ...
8
8
9
मालवा के आसपास के क्षेत्रों में हरियाली अमावस्या पर युवतियां और महिलाएं द्वारा एक अनूठी परंपरा निभाई जाती हैं, जिसमें वे एक-दूसरे की पीठ पर जोरदार मुक्का मारती है और फिर उन्हें गिफ्ट के स्वरूप में धानी और गुड़ भेंट में देती हैं। साथ ही ज्यादा से ...
9
10
Hariyali amavasya ke upay : श्रावण मास में अमावस्या को हरियाली अमावस्या कहते हैं, क्योंकि इस दिन तक सभी ओर हरियाली छा जाती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 28 जुलाई 2022 गुरुवार को हरियाली अमावस्या का पर्व मनाया जाएगा। आओ जानते हैं इस दिन के 5 ...
10
11
हाल ही में नासा के शक्तिशाली टेलीस्कोप जेम्स वेब ने धरती से 2500 प्रकाश वर्ष दूर स्थित साउदर्न रिंग प्लैनेटरी कैरीना नेबुला की तस्वीरें जारी की थी। जिसमें पहाड़ और घाटियों जैसे नजारे दिखाई दिए हैं। इससे पहले हबल टेलिस्कोप ने एक तस्वीर जारी कि थी ...
11
12
Pandit dhirendra krishna garg : आजकल बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र गर्ग बहुत चर्चा में है। कहते हैं कि वह लोगों के मन की बात जानकर उनकी समस्या का समाधान कर देते हैं। ऐसा दावा है कि रामकथा के साथ ही वे दिव्य दरबार लगाते हैं, जिसमें वे चमत्कारिक रूप ...
12
13
Sawan 2022 धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सावन महीने में भगवान शिव जी के साथ-साथ सूर्यदेव की भी विधि-विधान के साथ पूजा-उपासना करनी चाहिए। क्योंकि सूर्यदेव समस्त ग्रह एवं नक्षत्र मंडल के अधिष्ठाता हैं और इन दिनों वर्षा ऋतु होने के कारण बरसात के पानी से ...
13
14
Chanakya niti: चाणक्य नीति के अनुसार दांपत्य जीवन में खुश रहने और उन्नति करने के लिए पति और पत्नी का गुणी होना जरूरी है। यदि पत्नी में 3 खास गुण और पति में 5 खास गुण रहे तो समझो जीवन तर गया।
14
15
Hariyali Teej Festival राजस्थान में एक बड़ी ही प्यारी लोक कहावत प्रचलित है। 'तीज तीवारां बावड़ी, ले डूबी गणगौर...' यानी श्रावणी या हरियाली तीज से आरंभ पर्वों की यह सुमधुर श्रृंखला गणगौर के विसर्जन तक चलने वाली है। सारे बड़े त्योहार तीज के बाद ही आते ...
15
16
Mandir me ghanti kyu bajate hai : मंदिर के प्रवेश द्वारा पर घंटी लगी होती है। घंटी बजाकर ही मंदिर में प्रवेश किया जाता है। कई लोग मंदिर से बाहर निकलते समय भी बजाते हैं घंटी। आओ जानते हैं कि क्यों बजाई जाती है घंटी और क्या है इसके नियम।
16
17
Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य की नीति के अनुसार यदि व्यक्ति को तरक्की करना हो, परेशानियों से बचना हो और सुखपूर्वक जीवन यापन करना हो तो उसे कुछ जगहों पर नहीं रहना चाहिए। उन्हीं कुछ जगहों में से हम आपके लिए लाएं हैं 5 खास बातें।
17
18
15 जुलाई 2022, बेंगलुरु। भारतीय संत और आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक गुरुदेव श्री श्री रविशंकर को सूरीनाम में उनके द्वारा किए गए मानवतावादी कार्यों के लिए देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, ग्रैंड कॉर्डन ऑनरेरी ऑर्डर ऑफ द यलो स्टार ( एरे- ऑर्डे वान दे गेले ...
18
19
Chanakya Niti: कौटिल्य को ही पूरी दुनिया आचार्य चाणक्य के नाम से जानती है। उन्होंने धर्मनीति, कूटनीति और राजनीति का पाठ हम सबको पढ़ाया है। आचार्य चाणक्य के अनुसार आपको 4 तरह के हालातों से बचकर रहना चाहिए क्योंकि इसे जानका खतरा पैदा हो सकता है।
19