0

एकादशी के दिन क्यों नहीं खाते हैं चावल?

मंगलवार,अगस्त 3, 2021
0
1
02 अगस्त को श्रावण यानि सावन मास की कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि रहेगी। हिंदू धर्म में नवमी की तिथि का विशेष महत्व माना गया है।सावन का दूसरा सोमवार नवमी की तिथि पर है। इसलिए इस दिन
1
2
सबसे लोकप्रिय व्रतों में से 16 सोमवार का व्रत है। आइए पढ़ें 16 सोमवार की 16 बातें ....
2
3
भगवान भैरव का एक रूप है काल भैरव। शिव पुराण में भैरव को महादेव शंकर का पूर्ण रूप बताया गया है। भगवान शंकर के अवतारों में भैरव का अपना एक विशिष्ट महत्व है। ब्रह्मवैवत पुराण के प्रकृति खंडान्तर्गत दुर्गोपाख्यान में आठ पूज्य निर्दिष्ट हैं- महाभैरव, ...
3
4
प्याज को ग्रामीण क्षेत्रों में कांदा भी कहते हैं। अंग्रेजी में इसे ओन्यन या अन्यन (onion) कहते हैं। यह कंद श्रेणी में आता है जिसकी सब्जी भी बनती है और इसे सब्जी बनने में मसालों के साथ उपयोग भी किया जाता है। इसे संस्कृत में कृष्णावल कहते थे। हालांकि ...
4
4
5
आइए जानते हैं कि श्रावण मास के गुरुवार का क्या महत्व है और क्या है इसके संबंध में रोचक बातें।
5
6
हिन्दू माह का चौथा माह होता है आषाढ़ माह। इस माह की शुक्ल एकादशी से चातुमास प्रारंम हो जाते हैं। आषाढ़ी एकादशी के दिन से चार माह के लिए देव सो जाते हैं। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार चातुर्मास का प्रारंभ 20 जुलाई 2021 को हो रहा है। आओ जानते हैं ...
6
7
Raksha Bandhan 2021 Date : जुलाई के आते ही त्योहार आरंभ हो जाते हैं.....विशेषकर राखी का पर्व सबका प्रिय होता है और श्रावण लगते ही इस शुभ दिन का इंतज़ार शुरू हो जाता है....साल 2021 में रक्षाबंधन का शुभ दिन कब आ रहा है आइए जानते हैं....
7
8
श्रावण मास के बुधवार को विशेष कर गणेशजी की विधिवत रूप से पूजा करने के 10 लाभ मिलते हैं। आओ जानते हैं कि वे कौन कौनसे फायदे हैं।
8
8
9
आषाड़ी एकादशी अर्थात देवशयनी एकादशी से चातुर्मास प्रारंभ हो चुका है और अब यह कार्तिक मार्स की शुक्ल पक्ष की एकादशी अर्थात देवउठनी एकादशी तक रहेगा। यदि चातुर्मास में आने 10 नियम अपना लिए तो होंगे आपको 10 फायदे।
9
10
चिकित्सा विज्ञान कहता है कि भय और क्रोध हमारे इम्यून सिस्टम को प्रभावित करता है। इम्यून सिस्टम का संतुलन बिगड़ने से जल्दी से रोग लग जाता है। ऐसे में किस तरह हनुमान चालीसा का पाठ आपका फायदा कर सकता है, जानिए 10 रहस्य।
10
11
यदि बिल्वपत्र पर चंदन या अष्टगंध से ॐ, शिव पंचाक्षर मंत्र या शिव नाम लिखकर चढ़ाया जाता है तो फलस्वरूप व्यक्ति की दुर्लभ कामनाओं की पूर्ति हो जाती है। कालिका पुराण के अनुसार चढ़े हुए बिल्व पत्र को सीधे हाथ के अंगूठे एवं तर्जनी (अंगूठे के पास की ...
11
12
श्रावण मास आरंभ होगया है...आइए जानते हैं इस महीने भगवान भोलेनाथ को कैसे करें प्रसन्न....सरल उपायों से खूब मिलेगा यश,धन और सफलता....प्रेम,शांति और समृद्धि....
12
13
श्रावण मास भगवान शिव का माह है। पंचांग के अनुसार ज्येष्ठ के बाद अषाढ़ और फिर श्रावण माह प्रारंभ हो गया है। आषाढ़ माह 24 जुलाई को समाप्त हो गया है और श्रावण माह 25 जुलाई 2021 से प्रारंभ हो चुका है। उज्जैन में विश्व प्रसिद्ध महाकाल ज्योतिर्लिंग स्थित ...
13
14
चंद्र देव सौम्य और शीतल देवता हैं लेकिन कुंडली में अशुभ हो तो कई परे‍शानियां देते हैं आइए जानते हैं उन्हें शुभ कैसे बनाया जाए...
14
15
भगवान शिव के प्रिय मास सावन का प्रारंभ हो गया है। श्रावण मास में भगवान शिव की पूजा की जाती है।
15
16
राहु काल को अशुभ माना जाता है। अत: इस काल में शुभ कार्य नहीं किए जाते है। यहां आपके लिए प्रस्तुत है सप्ताह के दिनों पर आधारित राहुकाल का समय, जिसके देखकर आप अपना दैनिक कार्य कर सकते हैं।
16
17
इस वर्ष शिवजी का प्रिय श्रावण मास यानी सावन का महीना 25 जुलाई, रविवार से शुरू हो रहा है और इसका समापन 22 अगस्त 2021 को होगा। आओ जानते हैं श्रावण मास से संबंधित समग्र जानकारी, एक ही स्थान पर...
17
18
जो लोग प्राइवेट कंपनी में या सरकारी ऑफिस में नौकरी करते हैं या जो लोग स्कूल कॉलेज में पढ़ते हैं उन्हें रविवार का इंतजार रहता है, क्योंकि रविवार को उनकी छुट्‍टी रहती है। रविवार याने संडे की छुट्टी का मजा लेने के लिए वे घूमने फिरने निकल जाते हैं या ...
18
19
'मौली' का शाब्दिक अर्थ है 'सबसे ऊपर'। मौली का तात्पर्य सिर से भी है। मौली को कलाई में बांधने के कारण इसे कलावा भी कहते हैं। इसका वैदिक नाम उप मणिबंध भी है। मौली के भी प्रकार हैं। शंकर भगवान के सिर पर चन्द्रमा विराजमान है इसीलिए उन्हें चंद्रमौली भी ...
19