0

Relationship : लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप को इस तरह बनाएं मजबूत, जानिए टिप्स

सोमवार,नवंबर 23, 2020
0
1
करवा चौथ का दिन हर महिला के लिए बेहद खास होता है। इस पावन पर्व पर महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए निर्जला व्रत करती है। ये दिन पति और पत्नि दोनों के लिए ही बहुत खास होता है, वहीं रिश्तों में मिठास बरकरार रखने के लिए ये दिन बहुत मायने रखता है। ...
1
2
अधिकतर लोग कहते हैं कि age is just a number। जी हां, उम्र सिर्फ एक नंबर ही तो है। किसी भी सच्चे रिश्ते में उम्र का फर्क कितना मायने रखता है? ज्यादातर लोग मानते हैं कि लड़के की उम्र लड़की से बड़ी होनी चाहिए ताकि दोनों के बीच आपसी समझ और तालमेल बना ...
2
3
तो सभी बुराईयों को भूलाकर अपने पार्टनर की अच्छाईयों का ख्याल करके अपने रिश्तें को मजबूत बनाएं। यह पर्व परिवार के साथ मिलकर उत्साह के साथ मनाया जाता है। ऐसे में यदि आप अपने पार्टनर से किसी बात को लेकर नाराज है, तो सभी गिले शिकवों को मिटाकर इस दशहरे ...
3
4
कुछ लोग रिश्ता टूटने के बाद भी आपस में एक दोस्त बनकर रहना चाहते है। लेकिन अपने पू्र्व प्रेमी के साथ दोस्ती का रिश्ता रख पाना आसान नहीं हो पाता क्योंकि प्यार और शादी ये एक ऐसे रिश्ते है जिसमें लोग एक दूसरे के साथ इमोशनली कनेक्ट रहते है..........
4
4
5
लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कई तरह की मुश्किलें आती है। और इसे बनाए रखना भी काफी मुश्किल होता है। जल्दी गलतफेहमी होने के चलते लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप टूटने के खतरे भी अधिक होते है। किसी भी रिश्तें को मजबूत बनाएं रखने के लिए कुछ बातों का ख्याल रखना ...
5
6
वहीं रिश्तों में आई दरार और मनमुटाव उन खुशियों को नाराजगी और दूरियों में बदल देते हैं। एक मजबूत रिश्ता आपके व्यवहार, एक दूसरे को समझने पर निर्भर करता हैं......
6
7
"मैं और मेरे साथ भी मैं" वाला जो फंडा है वही इस जिंदगी का सबसे अहम रहस्य है। जिसने इसे समझ लिया उसने जीवन जी लिया। अपने जीवन के चौपन बरस इस फलसफे पर ही चले हैं। मेरे साथ मैं की जो परिभाषा है वो कुछ अलग है।
7
8
किसी भी रिश्ते में आपसी समझ होना बहुत जरूरी होती है। खासकर पति-पत्नी का रिश्ता आपसी समझ पर आधारित होता है। नोक-झोंक, थोड़े-बहुत लड़ाई-झगड़े रिश्ते को और मजबूत बनाने का काम करते हैं, क्योंकि जब दो लोग किसी रिश्ते में जुड़ते है तो झगड़ा होना या किसी ...
8
8
9
जिसका ब्रेकअप हुआ हो चाहें ब्रेकअप किसी भी कारण से हुआ हो, लेकिन हम उस रिलेशनशिप को भूलने के लिए ये सवाल खुद से या आसपास के लोगों से जरूर पूछते हैं। अक्सर, पिछले रिश्ते से जुड़ी यादों को भूलने के लिए, अधिकतर लोग ब्लॉक करने की सलाह देते हैं। सोशल ...
9
10
प्रतिवर्ष 1 अक्टूबर का दिन अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस या अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के रूप में मनाया जाता है। अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस मनाने की शुरुआत सन् 1990 में की गई थी।
10
11
ऐसे में वे अपने रिश्तों में आई गलतफेमियों को ठीक करने की बजाय उसमें उलझकर रह जाते है। आइए जानते हैं.......
11
12
पिछ्ले दिनों एक्ट्रेस नीना गुप्ता ने अपने फेंस को चेतावनी के रूप में सलाह दी है कि वे शादीशुदा आदमी के प्यार में न पड़ें। मैंने इसके कारण अपनी जिंदगी में बहुत परेशानियां झेलीं हैं।
12
13
परिवार हमारे भारतीय समाज की एक ऐसी इकाई है, जिससे मनुष्य को संपूर्ण सहयोग मिलता है। भावनात्मक, आर्थिक, शारीरिक हर प्रकार से हम परिवार में स्वयं को सुरक्षित पाते हैं।
13
14
सामने बैठ कर मीठी बातें बोलने वाला और पीठ पीछे अपने कार्य का नुक़सान या निंदा करने वाला कोई पाखंडी मित्र हो तो उसे त्याग देना चाहिए क्योंकि वह विष से भरे हुए ऐसे घड़े के समान होता है जिसके मुख पर दूध लगा हो।
14
15
हर शख्स के जीवन में एक ही रिश्ता ऐसा होता है, जो वह अपनी मर्जी व अपने विवेक से चुनता है। और वो रिश्ता है दोस्ती का। एक सच्ची दोस्ती व एक सच्ची मित्रता बहुत मुश्किल से मिलती है। दोस्ती एक ऐसा रिश्ता है, जो हमें जन्म से नहीं मिलता तथा इसे हम खुद बनाते ...
15
16
बेबी की दोस्त अलका ने कान में जो टॉप्स पहने थे उसमें एक सफेद मोती चिपका था। वो बड़े जतन से उसे संभाल कर पहने थी। कहीं गिर न जाएं। बेबी ने पूछा ऐसे क्यों कर रही ? अलका ने बड़े प्यार और गर्व से बताया कि मेरी भाभी नेपाल से ये टॉप्स सच्चे मोती के लाई है। ...
16
17
आज व्यस्तता, तनाव व असमाधानी वृत्ति ने अधिकतर लोगों का सुख-चैन छीन रखा है। धन दौलत, महंगी कार, बड़े बंगले, पद, पहचान, प्रभाव व पैसा होने पर भी आत्मिक संतुष्टि, तृप्ति व समाधान का अभाव जीवन को नीरस बना रहा है।
17
18
किसी भी रिश्ते को समय देकर आपस में बातचीत करके इसमें आई गलतफहमी को दूर किया जा सकता है, उसे मजबूत बनाया जा सकता है। वहीं अगर रिश्तों में दरार आ जाए और आप एक-दूसरे से मिलकर उसे ठीक भी न कर पाएं तो पार्टनर की जुबान पर जो सबसे पहला नाम आता है, वो है ...
18
19
लॉक डाउन के दौरान सोशल मीडिया पर ही पूरा घर-बंद देश उमड़ पड़ा... क्योंकि बाकि बचे हुए तो जीने मरने, अपने देश-गांव की मिटटी में लौटने की, जान की परवाह किए बिना, भूखे-प्यासे अपने परिवारों के साथ संघर्ष कर रहे हैं। देश इन्हीं दो वर्गों में बंट गया।
19