Petrol and diesel की कीमतों में लगी आग, शिवसेना ने पूछा- 'क्या यही हैं अच्छे दिन'

पुनः संशोधित सोमवार, 22 फ़रवरी 2021 (19:48 IST)
मुबंई। और के दामों में बढ़ोतरी से आम जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। विपक्षी पार्टियां भी मोदी सरकार पर लगातार हमले कर रही है। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर शिवसेना ने भाजपा पर‍ निशाना साधा है।

शिवसेना की युवा शाखा यानी युवा सेना ने जगह-जगह पर नई कीमतों के बैनर लगाए हैं। युवा सेना ने ये बैनर बांद्रा पश्चिम में कई पेट्रोल पंपों और सड़क के किनारों पर इन बैनरों को लगाया है। बैनर के ऊपर युवा सेना ने लिखा है क्या यही है अच्छे दिन?
पोस्टर्स में साल 2015 और साल 2020 के गैस, पेट्रोल और डीजल की कीमतों की तुलना की गई और पूछा गया कि क्या यही है अच्छे दिन? इन पोस्टरों में 2015 में पेट्रोल के दाम 64.60 रुपए बताए गए हैं जबकि 2021 में यह 96.62 रुपए प्रति लीटर हो गया है (मुंबई में आज की ताजा कीमत 97 रुपए प्रति लीटर है)।



और भी पढ़ें :