सृष्टि गोस्वामी संभालेंगी उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की कमान, बनेंगी एक दिन की CM

निष्ठा पांडे|
देहरादून। पर हरिद्वार जिले के दौलतपुर गांव की सृष्टि गोस्वामी रविवार को एक दिन के लिए बतौर बाल सीएम विधानसभा में बैठकर सीएम त्रिवेंद्रसिंह रावत की उपस्थिति में सरकार का कामकाज देखेंगी।
बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन देने के लिए बाल आयोग की पहल पर सृष्टि गोस्वामी को सरकार ने एक दिन का बाल सीएम बनने का अवसर प्रदान किया है। सृष्टि गोस्वामी रविवार 24 जनवरी को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक विधानसभा भवन के कमरा संख्या 120 में
विभागीय समीक्षा बैठक लेंगी।

सृष्टि बीएसएम पीजी कॉलेज रूड़की में बीएससी एग्रीकल्चर की पढ़ाई कर रही है। मई 2018 वे बाल विधानसभा की विधायक चुनी गईं। सृष्टि के पिता प्रवीन व्यापारी हैं और मां सुधा गोस्वामी गृहिणी हैं। राष्ट्रीय बालिका दिवस पर रविवार को एक दिन की सीएम बनने वाली हरिद्वार का बतौर सीएम सृष्टि गोस्वामी का कार्यक्रम जारी हो गया है।

कार्यक्रम प्लान इंडिया एवं श्री भुवनेश्वरी महिला आश्रम की ओर से तैयार किया गया है। उत्तराखंड बाल अधिकारी सरंक्षण आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने बताया कि कार्यक्रम विधानसभा कक्ष में दोपहर 12 बजे से शुरू होगा। पहले स्वागत और परिचय होगा। इसके बाद सीएम सृष्टि गोस्वामी का उद्बोधन होगा। इसके बाद सृष्टि को एक दिन का सीएम नामित करने की प्रक्रिया और बाल विधायकों का परिचय होगा। 1 बजे से वे विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक लेंगी।

इस दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहेंगे।बाल मुख्यमंत्री बनी श्रृष्टि की समीक्षा बैठक में पीडब्ल्यूडी के प्रमुख अभियंता डोबरा-चांटी पुल, पर्यटन विकास परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी होम स्टे योजना, उरेडा के निदेशक सोलर विकास कार्य, सिंचाई विभाग के प्रमुख अभियंता सूर्य धार झील निर्माण, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के निदेशक पोषण अभियान और आंगनबाड़ी, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण महानिदेशक अटल आयुष्मान योजना जैसे कार्यक्रम पर पांच-पांच मिनट की प्रस्तुतिकरण देंगे।

उत्तराखंड बाल अधिकारी सरंक्षण आयोग की अध्यक्ष उषा नेगी ने विधानसभा सचिव को भी पत्र लिखकर कार्यक्रम में सभी प्रतिभागियों और आयोजकों को पास प्रदान करने को कहा है।
सृष्टि रविवार को उत्तराखंड सरकार की योजनाओं की समीक्षा करने से पहले मुख्यमंत्री ऑफिस का काम भी देखेंगी। सृष्टि गोस्वामी बचपन से ही होनहार हैं। वर्ष 2019 में सृष्टि गर्ल्स इंटरनेशनल लीडरशिप के लिए थाईलैंड में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं।

सृष्टि पिछले दो साल से ‘आरंभ’ नामक योजना चला रही हैं। इसमें क्षेत्र के गरीब बच्चों को पढ़ाई के लिए प्रेरित करने के साथ मुफ्त में किताबें भी मुहैया कराती हैं।
सृष्टि की मां सुधा गोस्वामी को बेटी पर गर्व है। सुधा का कहना है कि बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से पीछे नहीं हैं। बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए माता-पिता का सहयोग और प्रेरणा जरूरी है। सृष्टि ने जो मुकाम हासिल किया है उससे हर बेटी वाले माता-पिता को गर्व होगा।श्रृष्टि का छोटा भाई श्रेष्ठ पुरी कक्षा 11 का छात्र है।



और भी पढ़ें :