CAA के विरोध में महाराष्ट्र बंद, 3000 से अधिक हिरासत में

Last Updated: शुक्रवार, 24 जनवरी 2020 (16:24 IST)
पुणे। नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) और केंद्र सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के खिलाफ महाराष्ट्र में के नेतृत्व वाले वंचित बहुजन अगाड़ी (वीबीए) की ओर से आहूत भारत बंद में भाग लेने के लिए शुक्रवार को राज्यभर में 3,000 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया। के राज्य प्रवक्ता सिद्धार्थ मोकले ने बताया कि 100 से अधिक संगठनों के समर्थन के साथ बंद सफल रहा।
ALSO READ:
क्या का विरोध कर रही महिला ने 500 रुपए के बदले प्रदर्शन करने की बात स्वीकारी...जानिए सच...
पुलिस नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने बताया कि पुणे में प्रदर्शनकारियों ने दत्तवाड़ी इलाके और कोथरू में कुछ वाहनों पर पथराव किया। चेंबूर के पास मुंबई में राज्य परिवहन निगम के वाहनों पर पथराव की मामूली घटनाओं के अलावा अब तक कोई अप्रिय घटना सामने नहीं आई है।
मोकले ने बताया कि लोगों और यातायात को प्रभावित किए बिना दिन के दौरान कुछ क्षेत्रों में प्रदर्शन होंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि को केंद्र जबरन लागू करने की कोशिश कर रहा है जबकि इसे लेकर देश में अशांति का माहौल है।

उन्होंने कहा कि देश आर्थिक दिवालियापन की राह पर है। नोटबंदी और जीएसटी के साथ देश में अविश्वास के माहौल के कारण सरकार को राजस्व प्राप्त नहीं हो रहा। केंद्र की आर्थिक नीतियां गलत हैं और सरकार केवल इस तरह के कृत्यों से लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश कर रही है।



और भी पढ़ें :