मध्यप्रदेश में मंदाकिनी नदी खतरे के निशान से ऊपर, चित्रकूट के घाट पानी में डूबे

पुनः संशोधित रविवार, 1 अगस्त 2021 (15:48 IST)
सतना। के सतना जिले के नयागांव थाना क्षेत्र में मंदाकिनी नदी का पानी खतरे के निशान को पार कर गया है और चित्रकूट से सभी घाट पानी में डूबे हुए हैं।
इस साल जिला मुख्यालय में नियंत्रण कक्ष नहीं बनाया गया था। हालांकि जिला प्रशासन लगातार बारिश से उत्पन्न हालातों की जानकारी जुटाने में लगा हुआ है।
यहां पिछले 24 घंटों से हो रही बारिश के चलते जिले में बाढ़ के हालात बनते जा रहे हैं। मंदाकिनी नदी में आई बाढ़ से चित्रकूट के सभी घाट पानी में डूबे हुए हैं। रामघाट के निकट बाढ़ का पानी दुकानों में घुसने लगा है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पुलिसबल के साथ आपदा प्रबंधन की टीम को तैनात किया गया है।
जिले की टमस नदी भी उफान पर है। बारिश के चलते जहां मझगवां थाना क्षेत्र के कैलाश पुर में जुड़ावन दाहिया का कच्चा मकान गिर गया, वहीं नयागांव थाना क्षेत्र के चित्रकूट में सुमन यादव के कच्चे मकान के गिर जाने की जानकारी पुलिस सूत्रों ने दी है। जिले के बिरसिंहपुर कस्बे में भी जलभराव की स्थिति निर्मित हो गई है।
बताया गया कि कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते इस साल जिला मुख्यालय में बाढ़ नियंत्रण कक्ष नहीं बनाया गया था। हालांकि जिला प्रशासन लगातार बारिश से उत्पन्न हालातों की जानकारी जुटाने में लगा हुआ है।(वार्ता)



और भी पढ़ें :