महाराष्ट्र सरकार की बाढ़ पीड़ितों व मरम्मत कार्यों के लिए 11,500 करोड़ के पैकेज की घोषणा

Last Updated: मंगलवार, 3 अगस्त 2021 (22:33 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। ने पिछले महीने बारिश और बाढ़ प्रभावित लोगों को तत्काल सहायता प्रदान करने तथा बाढ़ में क्षतिग्रस्त बुनियादी ढांचे की मरम्मत करने के लिए मंगलवार को 11,500 करोड़ रुपए की राशि मंजूर की।
ALSO READ:

ग्वालियर-चंबल में 1100 से अधिक गांव बाढ़ से घिरे,1600 से अधिक का रेस्क्यू, शिवपुरी और श्योपुर में हालात गंभीर

एक बयान में राज्य सरकार ने कहा कि तत्काल राहत के अलावा 11,500 करोड़ रुपए के का एक हिस्सा मरम्मत कार्यों और बाढ़ की रोकथाम तथा इसके खतरे को कम करने से संबंधित मुद्दों के समाधान के लिए कुछ दीर्घकालिक उपाय करने पर खर्च किया जाएगा। राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री के समक्ष हाल में आई बाढ़ और भारी बारिश के संबंध में एक प्रस्तुति दी जिसके बाद महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने वित्तीय सहायता को मंजूरी दी।


सरकार द्वारा घोषित कुल वित्तीय पैकेज में से 1,500 करोड़ रुपए बाढ़ पीड़ितों को तत्काल सहायता प्रदान करने के लिए उपयोग किए जाएंगे जबकि 3,000 करोड़ रुपए क्षतिग्रस्त बुनियादी ढांचे के पुनर्निर्माण और मरम्मत के लिए खर्च किए जाएंगे। बयान में कहा गया है कि भविष्य में बाढ़ के प्रभाव को कम करने के लिए दीर्घकालिक उपाय को लेकर 7,000 करोड़ रुपए की राशि निर्धारित की गई है। राज्य सरकार ने मुआवजे के लिए अर्हता में भी ढील दी है।
बयान में कहा गया है कि ठाकरे ने अधिकारियों से एक विशेषज्ञ समिति गठित करने और जुलाई के अंत में भारी बारिश के बाद नदियों में आई बाढ़ का अध्ययन कराने के लिए राष्ट्रीय जल विकास अभिकरण (एनडब्ल्यूडीए) की मदद लेने को कहा है। रायगढ़, रत्नागिरि, सातारा, सांगली और कोल्हापुर जैसे जिले 21 से 23 जुलाई तक भारी वर्षा और बाढ़ के कारण बुरी तरह प्रभावित हुए थे। भूस्खलन जैसी वर्षाजनित घटनाओं में 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और 2 लाख से ज्यादा लोग घर छोड़ने को मजबूर हुए हैं। तटीय कोंकण क्षेत्र का रायगढ़ जिला सबसे अधिक प्रभावित हुआ, जहां 100 लोगों की मौत हुई।(भाषा)



और भी पढ़ें :