इंस्टाग्राम पर आपत्तिजनक ग्रुप को लेकर दिल्ली पुलिस की साइबर सेल की जांच शुरू

Last Updated: सोमवार, 4 मई 2020 (20:50 IST)
नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन में लोग अपने घरों में कैद है। ऐसे में कुछ शरारती कम उम्र के बच्चों ने पर बना डाले हैं। जब इन आपत्तिजनक ग्रुपों की भनक को लगी तो हरकत में आ गई और उसने न केवल आईटी एक्ट 66 और 67A के तहत केस दर्ज किया बल्कि आपत्तिजनक कंटेंट साझा करने वाले ग्रुप की जानकारी भी मांगी है ताकि दोषियों को सजा दी जा सके।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इंस्टाग्राम पर आपत्तिजनक ग्रुप का मामला दक्षिण दिल्ली के बच्चों से जुड़ा हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ कम आयु के बच्चों ने इंस्टाग्राम पर #boyslockerroom नाम से एक ग्रुप बनाया और वे लड़कियों से अश्लील चैट करने लगे। यहां ‍तक की ग्रुप ने लड़कियों की आपत्तिजनक तस्वीर डालकर बलात्कार करने तक की धमकियां तक देने लगे।

इस गोरखधंधे का भांडा तब फूटा, जब एक ट्विटर यूजर ने ग्रुप के स्क्रीन शॉट को लेकर सोशल मीडिया पर डाला, जिसके बाद कई लोग हरकत में आ गए। दिल्ली में महिला कांग्रेस की तरफ से इस मामले को लेकर केंद्र सरकार के साथ ही साथ गृह मंत्री अमित शाह को भी निशाने पर लिया गया।

महिला कांग्रेस ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान महिलाओं के खिलाफ साइबर अपराधों में तेजी आई है। दूसरी तरफ
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी सक्रिय हो गई हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर ट्वीट कर इस मामले पर पुलिस और इंस्टाग्राम को नोटिस जारी करने की बात कही थी।

मालीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा था, 'इंस्टाग्राम पर 'boys locker room' नाम के एक ग्रुप के स्क्रीनशॉट देखे. ये हरकत एक घिनौनी, अपराधी और बलात्कारी मानसिकता का प्रमाण है। मामले को संज्ञान में लेते हुए पुलिस और इंस्टाग्राम को नोटिस जारी कर रहे हैं। इस ग्रुप के सभी लड़के अरेस्ट होने चाहिए, एक कड़ा संदेश देने की जरूरत है।'

20 घंटे पहले लदेदा फरजाना ने सोशल मीडिया पर लिखा 'अगर सच है, तो बहुत दु:ख की बात है कि वे स्कूल के लड़के हैं!! यही कारण है कि हमारे बेटों को यह सिखाना बहुत महत्वपूर्ण है कि कैसे व्यवहार करें!



और भी पढ़ें :