1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. congress leader rahul gandhi visited dwarkadhish temple in dwarka gujarat
Written By
Last Updated : शनिवार, 26 फ़रवरी 2022 (17:26 IST)

कांग्रेस के चिंतन शिविर के दौरान द्वारकाधीश के द्वार पर पहुंचे राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) इन दिनों गुजरात दौरे पर हैं। इस वर्ष के आखिरी में होने वाले विधानसभा चुनावों की रणनीति के लिए चिंतन शिविर चलाया जा रहा है, जो कि शुक्रवार को शुरू हुआ और रविवार को खत्म होगा।
चिंतन शिविर के दूसरे दिन की शुरुआत से पहले राहुल गांधी ने द्वारकाधीश मंदिर में पहुंचकर पूजा-अर्चना की। 
 
उनके स्वागत के लिए पारंपरिक लोक नृत्य प्रस्तुत किया गया। गांधी मंदिर में पूजा करने के बाद मंदिर में चढ़ाए जाने वाला एक बड़ा धार्मिक झंडा ‘धाजा’ लेकर गए।

भाजपा सरकार पर साधा निशाना : कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्रीय एजेंसियों के इस्तेमाल को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए शनिवार को कहा कि उसके पास केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), पुलिस और गुंडे हैं, लेकिन अंत में केवल सत्य मायने रखता है, जो गुजरात ने देश की जनता को सिखाया है।
 
गांधी ने गुजरात कांग्रेस द्वारा आयोजित चिंतन शिविर के दूसरे दिन यहां पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि उनके पास सीबीआई, ईडी, मीडिया, पुलिस, गुंडे और हर दिन के लिये नए-नए परिधान हैं। लेकिन वे चीजें बिल्कुल भी मायने नहीं रखतीं। गुजरात हमें सिखाता है कि सत्य क्या है। गांधी जी को देखिए। क्या उनके पास कभी अच्छे कपड़े थे, ईडी या सीबीआई थी? नहीं, क्योंकि सत्य सदैव साधारण होता है।
 
उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को समझना चाहिए कि वे पहले ही गुजरात विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं। आप इसे स्वीकार नहीं कर रहे हैं। गुजरात के लोग आपको बड़ी उम्मीदों से देख रहे हैं। भाजपा ने कांग्रेस को जितना नुकसान पहुंचाया है, उससे ज्यादा गुजरात के लोगों को पहुंचाया है।”
 
गांधी यहां राज्य कांग्रेस के तीन दिवसीय चिंतन शिविर में भाग लेने के लिए आए हैं, जिसका आयोजन इस साल दिसंबर में होने वाले राज्य विधानसभा चुनावों के लिए एक विस्तृत रणनीति तैयार करने पर चर्चा के लिए किया गया है। कार्यक्रम स्थल पर आने से पहले उन्होंने यहां द्वारकाधीश मंदिर का दौरा किया, जहां उन्होंने भगवान कृष्ण की पूजा की।