केजरीवाल ने पंजाब को बताया AAP मॉडल, कहा- मान ने हर मंत्री के लिए तय कर दिए हैं टारगेट, अगर पूरे न हुए तो…

पुनः संशोधित रविवार, 20 मार्च 2022 (20:28 IST)
हमें फॉलो करें
चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक ने रविवार को पंजाब में नवनियुक्त मंत्रियों से स्पष्ट शब्दों में प्रदर्शन करने या हटाए जाने के लिए तैयार रहने को कहा। केजरीवाल ने कहा कि जो विधायक मंत्री नहीं बनाए जाने से नाखुश हैं, उन्हें राज्य की प्रगति के लिए व्यक्तिगत महत्वाकांक्षाओं को पीछे छोड़ने की जरूरत है।

केजरीवाल ने कहा कि वे एक बड़े भाई की तरह उनका मार्गदर्शन करेंगे जबकि सभी विधायकों को पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व में एक मजबूत टीम के रूप में ईमानदारी से काम करना होगा। केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद लिए गए फैसलों के लिए मान की सराहना भी की।

उन्होंने कहा कि मान साहब हर मंत्री को काम के सिलसिले में लक्ष्य देंगे। उन्हें चौबीसों घंटे काम करना होगा। पंजाब में नई सरकार के गठन के बाद के जरिए पार्टी विधायकों को अपने पहले संबोधन में आप प्रमुख ने कहा कि अगर आपके (मंत्रियों) लक्ष्य पूरे नहीं हुए, तो जनता कहेगी कि इस मंत्री को बदलो, दूसरे मंत्री को लाओ...काम किया जाना है और मान साहब जो भी लक्ष्य देंगे, उसे पूरा करना होगा।
केजरीवाल ने विधायकों को भी सलाह दी कि वे अधिकारियों समेत किसी के भी खिलाफ अभद्र या आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल न करें। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें अपने प्रदर्शन से पंजाब के लोगों का दिल जीतना होगा और पार्टी नेताओं को चेतावनी दी कि अगर वे कोई गलत काम करते हैं तो उनके खिलाफ ‘सख्त कार्रवाई’ की जाएगी।

केजरीवाल ने कहा कि मैं सब कुछ बर्दाश्त कर सकता हूं, लेकिन बेईमानी और जनता के पैसे की चोरी नहीं। अगर मुझे या मान साहब को पता चलता है कि किसी ने गलत काम किया है तो कोई मौका नहीं दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि लोगों ने हम पर विश्वास दिखाया है और हम उनका भरोसा नहीं तोड़ सकते।

चुनाव में प्रतिद्वंद्वी दलों के कद्दावर नेताओं की हार की ओर इशारा करते हुए केजरीवाल ने कहा कि

घमण्ड मत करना। आपने उन्हें नहीं हराया। यह लोग हैं, जिन्होंने उनको हराया है। केजरीवाल ने कहा कि यह मत समझें कि मैं अब विधायक बन गया हूं और मंत्री और फिर मुख्यमंत्री बनूंगा। ये बातें आपके दिमाग में नहीं आनी चाहिए।
आप संयोजक ने विभिन्न सरकारी विभागों में 25,000 रिक्तियों को भरने की घोषणा तथा पूर्व मंत्रियों और पूर्व विधायकों की सुरक्षा वापस लेने से संबंधित फैसलों के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री की प्रशंसा की।

उन्होंने दावा किया कि जहां आप सरकार पंजाब में शानदार काम कर रही है, वहीं 4 राज्यों में चुनाव जीतने वाली भाजपा के नेता अभी भी मंत्री पद के लिए लड़ रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कि पिछले तीन दिनों में मान साहब ‘तुस्सी कमाल कर दित्ता... हमें सचमुच आप पर गर्व है। मान द्वारा एक भ्रष्टाचार रोधी हेल्पलाइन नंबर शुरू करने की घोषणा पर केजरीवाल ने कहा कि मैं इसे भ्रष्टाचार रोधी ऐक्शन लाइन कहूंगा।

उन्होंने पंजाब के सभी आप विधायकों से समर्पण के साथ काम करने का आग्रह करते हुए कहा कि ‘‘लोगों ने अपना विश्वास जताया है और अब काम करना, नतीजे देना हमारी जिम्मेदारी है। केजरीवाल ने विधायकों को याद दिलाया कि चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कहा था कि उनकी पार्टी एक ईमानदार सरकार देगी।
आप प्रमुख ने अपने विधायकों को चंडीगढ़ में न बैठने और लोगों के बीच रहने, उनकी समस्याओं को सुनने और उनका समाधान करने के लिए कहने को लेकर मान की प्रशंसा की। केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने सुना है कि कुछ विधायक जो मंत्री नहीं बने, वे नाखुश हैं। उन्होंने कहा कि हमने 92 सीट हासिल की और केवल 17 ही मंत्री बन पाए। ऐसा नहीं है कि जो विधायक मंत्री नहीं बने, वे किसी से कम हैं। हमारे सभी विधायक रत्न हैं।
केजरीवाल ने कहा कि हम सभी को एक टीम के रूप में काम करना है और अपनी व्यक्तिगत महत्वाकांक्षाओं और हितों को पीछे छोड़ना है, तब पंजाब प्रगति करेगा और आगे बढ़ेगा। लेकिन अगर ये निजी महत्वाकांक्षाएं, लालच आड़े आ जाएं तो पंजाब हार जाएगा। पंजाब की प्रगति के लिए जरूरी है कि सभी विधायक भगवंत मान के नेतृत्व में एक मजबूत टीम के तौर पर काम करें।

केजरीवाल ने विधायकों से अधिकारियों की पोस्टिंग के लिए मुख्यमंत्री या मंत्रियों से नहीं मिलने को कहा। उन्होंने कहा कि अगर आप लोगों के काम करना चाहते हैं तो आप मुख्यमंत्री और मंत्रियों से मिलें।
केजरीवाल ने कहा कि वे ईमानदार अधिकारियों की नियुक्ति करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर कोई अधिकारी लोगों के काम नहीं करता है तो आप शिकायत दर्ज करा सकते हैं। किसी का नाम लिए बिना केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने एक व्यक्ति को पुलिस वाले से यह कहते हुए देखा है कि वह उसे उल्टा लटका देंगे।

उन्होंने कहा कि ऐसी भाषा का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए। आप प्रमुख ने कहा कि हमें हर किसी, विरोधियों, प्रतिद्वंद्वियों और सभी कर्मचारियों का सम्मान करना है। (भाषा)



और भी पढ़ें :