0

12 अगस्त शुक्रवार वरलक्ष्मी व्रत की कैसे की जाती है पूजा, पढ़ें कथा

गुरुवार,अगस्त 11, 2022
0
1
Hal Chhath 2022 : भगवान श्रीकृष्ण के बड़े भाई बलराम का जन्म भादो मास की षष्ठी तिथि के दिन हुआ था। उन्हें बलदाऊ भी कहते हैं। उनके हाथ में हमेशा हल रहता है जिस कारण इस तिथि को हल छठ और हलषष्ठी भी कहते हैं। महिलाएं अपने बेटे की लंबी उम्र के लिए व्रत ...
1
2
Sawan Purnima Vrat 2022 : 11 अगस्त 2022 गुरुवार को रक्षाबंधन के त्योहार के साथ ही श्रावणी उपाकर्म और श्रावण पूर्णिमा का व्रत भी रखा जाएगा। गुजरात में पवित्रोपना, मध्य भारत और उत्तर भारत में इस दिन व्रत रखा जाता है जिसे कजरी पूनम का व्रत भी कहा जाता ...
2
3
भाद्रपद की कृष्ण पंचमी को गोगा पंचमी का पर्व मनाया जाता है, जो नवमी तक चलता है। नवमी के दिन खास त्योहार रहता है। आओ जानते हैं कि कब है गोगा पंचमी और कौन है गोगादेव महाराज। आखिर क्यों मनाया जाता है यह त्योहार।
3
4
आपको भाई दूज और रक्षा बंधन के पर्व के बारे में मालूम है, लेकिन भाई भिन्ना पर्व भी मनाया जाता है। भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की पंचमी को भाई भिन्ना पर्व के रूप में भी मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 16 अगस्त 2022 मंगलवार के दिन यह पर्व मनाया ...
4
4
5
Kajalia गेंहू के छोटे-छोटे पौधों को कजलिया (kajaliya) कहते हैं। बुंदेलखंड में 'कजलिया' पर्व नई फसल की उन्नति का प्रतीक माना जाता है। यह प्रकृति, प्रेम और खुशहाली से जुड़ा हुआ त्योहार है, जो कि रक्षा बंधन के दूसरे दिन मनाया जाता है। कजलियां पर्व से ...
5
6
Luv Kush Jayanti 2022: श्रावण मास की पूर्णिमा यानी रक्षा बंधन के दिन लव और कुश की जयंती भी मनाई जाती है। प्रभु श्रीराम के लव और कुश जुड़वा पुत्र थे। लव और कुश के वंश के लोग आज भी हैं, जो लव और कुश की जयंती मनाते हैं। आओ जानते हैं इनके बारे में ...
6
7
11 अगस्त 2022 को रक्षांबधन है। यदि आप 12 तारीख यानी शुक्रवार को छुट्टी ले लेते हैं तो आप 4 से 5 दिनों के लिए कहीं घूमने जा सकते हैं, क्योंकि 15 अगस्त तक फिर छुट्टियां हैं। यदि आप प्लान कर रहे हैं तो हमारी बताई जगहों पर जाएंगे तो रक्षांबधन यादगार बन ...
7
8
Raksha bandhan 2022 : श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि के दिन श्रवण नक्षत्र के दौरान ही रक्षा बंधन मनाया जाता है। 11 अगस्त 2022 को भद्रा रहेगी लेकिन उसका वास पाताल में होने के कारण यह शुभ है, फिर भी कुछ लोग 12 अगस्त को राखी का त्योहार मनाएंगे। आओ जानते ...
8
8
9
श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी को स्कंद षष्ठी मनाई जाती है। यह शिव पुत्र भगवान कार्तिकेय की जन्मतिथि है। कार्तिकेयजी को दक्षिण भारत में मरुगन और सुब्रह्मण्यम कहते हैं। इस दिन भगवान ​कार्तिकेय की पूजा करने और व्रत रखने से शारीरिक कष्टों से मुक्ति ...
9
10
वर्ष 2022 में सावन मास में भगवान कार्तिकेय का प्रिय स्कन्द षष्ठी (skand sasthi) व्रत इस बार 3 अगस्त 2022 को पड़ रहा है। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार हर माह आने वाली षष्‍ठी तिथि पर भगवान कार्तिकेय (Lord Kartikey) का पूजन किया जाता है। जो स्कन्द षष्ठी ...
10
11
Mangala gauri vrat : श्रावण मास या सावन माह में जहां सोमवार के दिन शिवजी की विशेष पूजा होती है वहीं मंगलवार को माता पार्वती की पूजा भी होती है। आज यानी नागपंचमी के दिन मंगलवार है और इस दिन मंगला गौरी का व्रत भी रखा जा रहा है। मंगला गौरी पूजा से शिव ...
11
12
Durva Vrat 1 August : 1 अगस्त 2022 को दूर्वा गणपति व्रत तथा विनायक चतुर्थी मनाई जा रही है। इस दिन श्री गणेश का पूजन करते समय उन्हें दूर्वा चढ़ाने का विशेष महत्व है। यदि आप प्रतिदिन श्री गणेश को दूर्वा अर्पित नहीं कर पा रहे हैं तो परेशान होने की कोई ...
12
13
Hariyali teej 2022: श्रावण मास में हरियाली अमावस्या के बाद शुक्ल पक्ष की तीज को हरियाली तीज का पर्व मनाया जाता है। कहते हैं कि माता पार्वती के व्रत की शुरुआत हरियाली तीज से होकर हरितालिका तीज को समाप्त होती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार हरियाली तीज ...
13
14

हरियाली तीज की पूजा विधि

शनिवार,जुलाई 30, 2022
Hariyali teej puja ka tarika bataye : श्रावण मास शुक्ल पक्ष की तीज को हरियाली तीज का पर्व मनाया जाता है। इस दिन माता पार्वती की पूजा करने से पति दीर्घायु होता है। अविवाहिता व्रत रखकर पूजा करती हैं तो मनोवांछित वर मिलता है। हरियाली तीज 31 जुलाई 2022 ...
14
15
सावन मास की हरियाली अमावस्या के दिन भगवान शिव तथा माता पार्वती की पूजा का विधान है। इस दिन गुरुवार पड़ने के कारण श्री विष्‍णु के पूजन का भी विशेष महत्व है। मान्यतानुसार इस दिन पीपल की जड़ में कच्चा दूध तथा जल चढ़ाने से पितृ प्रसन्न होते हैं। पीपड़ ...
15
16
Shravan Hariyali Amavasya 2022 इस वर्ष गुरुवार, 28 जुलाई को सावन महीने की अमावस्या है। इसे हरियाली अमावस्या कहते हैं। हिन्दू धर्म की मान्यता के अनुसार हरियाली अमावस्या प्रकृति के प्रति आभार व्यक्त करने का पर्व है। साथ ही प्रकृति को कुछ देने का भी ...
16
17
Sindhara Dooj: श्रावण मास में हरियाली अमावस्या से महिलाओं के व्रत प्रारंभ हो जाते हैं जो हरतारिका तीज तक चलते हैं। इस क्रम में शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि के दिन सिंधारा दौज या सिंधारा दूज का पर्व मनाया जाता है। इस दिन के दूसरे दिन हरियाली तीज रहती ...
17
18
हरियाली अमावस्या सावन माह में पड़ती है। इस माह में भगवान शिव की आराधना की जाती है। अमावस्या के दिन नदी स्नान तथा दान का बड़ा महत्व है। मान्यता है कि इस दिन पितरों की आत्मा के शांति के लिए तर्पण एवं श्राद्ध किया जाता है। हरियाली अमावस्या के दिन यह ...
18
19
Hariyali Amavasya 2022 इस बार गुरुवार, 28 जुलाई 2022 को श्रावण मास की पवित्र हरियाली अमावस्या है। इस अमावस्या के दिन कई तरह के धार्मिक कार्य किए जाते हैं। धार्मिक दृष्टि से इस अमावस्या का बहुत महत्व है। इस दिन पितृ तर्पण, पितृ से संबंधित दान, सूर्य ...
19