0

आज प्रदोष व्रत, जानिए पूजन सामग्री की सूची...

गुरुवार,जनवरी 17, 2019
pradosh vrat samgri
0
1
पुत्रदा एकादशी, अपने नाम के अनुसार ही यह एकादशी श्रेष्ठ संतान सुख प्रदान करने वाली मानी जाती है। पद्मपुराण में इस ...
1
2
मां शाकंभरी की पौराणिक ग्रंथों में वर्णित कथा के अनुसार, एक समय जब पृथ्‍वी पर दुर्गम नामक दैत्य ने आतंक का माहौल पैदा ...
2
3
शाकंभरी नवरात्रि पौष माह की शुक्ल पक्ष की अष्टमी से पूर्णिमा तक मानी जाती है। मकर संक्रांति से माता शाकंभरी नवरात्र का ...
3
4
पोंगल का त्योहार प्रतिवर्ष मकर संक्रांति के आसपास मनाया जाता है। यह उत्सव लगभग 4 दिन तक चलता है।
4
4
5
पोंगल चार दिनों तक चलने वाले इस पर्व के चार पोंगल होते हैं। पूर्णतया प्रकृति को समर्पित यह त्योहार फसलों की कटाई के बाद ...
5
6
असम में माघ महीने की संक्रांति के पहले दिन से माघ बिहू अर्थात भोगाली बिहू मनाया जाता है। इस दौरान खान-पान धूमधाम से ...
6
7
हिन्दू धर्मग्रंथों के अनुसार श्री गणेश की कृपा प्राप्ति से जीवन के सभी असंभव कार्य भी संभव हो जाते हैं। नववर्ष 2019 की ...
7
8
जनवरी 2019 शुरू हो गया है। इस महीने में कई विशेष व्रत और त्योहार आएंगे। पढ़ें खास व्रत और त्योहार की तारीखें...
8
8
9
अगहन पूर्णिमा को मां अन्नपूर्णा जयंती मनाई जाती है। वर्ष 2018 में 22 दिसंबर, शनिवार को अन्नपूर्णा जयंती पड़ रही है। मां ...
9
10
वर्ष 2018 में शनिवार, 22 दिसंबर को मां अन्नपूर्णा जयंती मनाई जाएगी। इस दिन विशेषकर माता अन्नपूर्णा की साधना की जाती है। ...
10
11
16 दिसंबर 2018, रविवार से खरमास लग गया है। खरमास में खास तौर पर भगवान सूर्य देव और भगवान विष्णु की पूजा-उपासना करने का ...
11
12
हिन्दू परम्परा में मुहूर्त का विशेष महत्व होता है। हमारे सनातन धर्म में प्रत्येक कार्य के लिए एक अभीष्ट मुहूर्त ...
12
13
जिन जातकों की कुंडली में कर्क राशि अर्थात् नीच का मंगल होता है, उन्हें मंगल को मजबूत करने तथा मंगल के शुभ फल पाने के ...
13
14
मार्गशीर्ष माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को 'चम्पा षष्ठी' पर्व मनाया जाता है। इसे स्कन्द षष्ठी तथा सुब्रहमन्य षष्ठी ...
14
15
मार्गशीर्ष शुक्ल पंचमी को भगवान श्रीराम तथा जनकपुत्री सीता का विवाह हुआ था। तभी से इस पंचमी को 'विवाह पंचमी पर्व' के ...
15
16
विवाह पंचमी का सभी पुराणों में विशेष महत्व है लेकिन इतना महत्व होने के बावजूद कई जगह इस दिन विवाह नहीं किए जाते हैं।
16
17
उत्पन्ना एकादशी अगहन या मार्गशीर्ष मास की कृष्ण एकादशी को किया जाता है। एकादशी के उपवास से मन निर्मल और शरीर स्वस्थ ...
17
18
शास्त्रों के अनुसार एकादशी करने का नियम यह है कि इसे साल में कभी भी शुरू नहीं किया जा सकता। इसे सिर्फ उत्पन्ना एकादशी ...
18
19
अगहन मास को मार्गशीर्ष कहने के पीछे भी कई तर्क हैं। भगवान श्री कृष्ण की पूजा अनेक स्वरूपों में व अनेक नामों से की जाती ...
19