0

20 सितंबर को अधिकमास की चतुर्थी : जानें मुहूर्त, पूजन विधि एवं मंत्र

शनिवार,सितम्बर 19, 2020
Vinayaka Chaturthi 20 Sep  2020
0
1
पौराणिक शास्त्रों के अनुसार पुरुषोत्तम (अधिक) मास में भगवान श्रीहरि व शिव जी, रामभक्त हनुमान का पूजन करना अत्यंत फलदायी है।
1
2
प्रत्येक माह में दो चतुर्थी होती है। इस तरह 24 चतुर्थी और प्रत्येक तीन वर्ष बाद अधिमास की मिलाकर 26 चतुर्थी होती है। सभी चतुर्थी की महिमा और महत्व अलग अलग है। आओ जानते हैं चतुर्थी का रहस्य।
2
3
प्रत्येक माह में दो चतुर्थी होती है। इस तरह 24 चतुर्थी और प्रत्येक तीन वर्ष बाद अधिमास की मिलाकर 26 चतुर्थी होती है। सभी चतुर्थी की महिमा और महत्व अलग-अलग है। आओ जानते हैं चतुर्थी के संबंध में 8 रहस्य।
3
4
अधिक (पुरुषोत्तम) मास शुरू हो गया है। यह महीना श्रीहरि विष्णुजी की उपासना का माना गया है। इन दिनों सच्चे मन से भगवान विष्णु का ध्यान, पूजन, मंत्र, श्लोक, धार्मिक पाठ, कथा और स्तोत्र, आरती,
4
4
5
पंचांग के अनुसार आश्विन मास में पुरुषोत्तम (अधिक) मास 18 सितंबर से शुरू हो गया है और इस मास का समापन 16 अक्टूबर 2020 को होगा।
5
6
मलमास, अधिक मास अर्थात पुरुषोत्तम मास (18 सितंबर 2020 से 16 अक्टूबर 2020) का महत्व, पौराणिक आधार क्या है
6
7
भगवान ब्रह्मा के कहने पर विश्वकर्मा ने ये दुनिया बनाई थी। द्वारका से लेकर, भगवान शिव का त्रिशूल भी विश्वकर्मा जी ने बनाया है।
7
8
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान विश्वकर्मा को देवताओं का शिल्पी कहा जाता है। उन्हें संसार के पहले इंजीनियर और वास्तुकार के रूप में जाना जाता हैं। आज उनकी जयंती पर पढ़ें भगवान विश्वकर्मा के 108 नाम...
8
8
9
विश्वकर्मा पूजा के दिन कुछ ऐसे भी कार्य हैं जिन्हें करना वर्जित माना गया है। आइए जानते हैं कि कौन से वो कार्य हैं जो विश्वकर्मा पूजा के दिन चाहिए...
9
10
इस वर्ष 16 सितंबर 2020 को विश्वकर्मा पूजा की जाएगी। हर साल अश्विन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को विश्वकर्मा पूजा की जाती है।
10
11
26 अगस्त 2020 को प्रारंभ हुआ महालक्ष्मी व्रत का 10 सितंबर को समापन दिवस है। भाद्रपद शुक्ल अष्टमी से हर वर्ष महाराष्ट्रियन परिवारों सहित सभी उत्तर भारतीयों में महालक्ष्मी उत्सव का आरंभ होता है और अश्विन कृष्ण अष्टमी को इस व्रत का समापन होता है।
11
12
सनातन धर्मावलंबियों में जिउतिया (जीमूतवाहन) व्रत का खास महत्व है। इस वर्ष यह व्रत 10 सितंबर 2020, गुरुवार को किया जाएगा।
12
13
इस वर्ष जीवित्पुत्रिका व्रत 10 सितंबर 2020, बृहस्पतिवार को किया जाएगा। हर साल आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को यह व्रत किया जाता है।
13
14
श्री महालक्ष्मी व्रत भाद्रपद शुक्ल अष्टमी से प्रारंभ किया जाता है। इस दिन स्नान करके 16 सूत के धागों का डोरा बनाएं, उसमें 16 गांठ लगाएं,
14
15
पुराणों के देवी लक्ष्मी के बारे में भिन्न-भिन्न मत मिलते हैं सभी को अच्छे से पढ़ने से ही स्पष्ट होगा कि आखिर सत्य क्या है। जैसे सती पहले हुई और पार्वती बाद में परंतु सभी उन्हें दुर्गा कहते हैं जबकि दुर्गा देवी का एक अलग ही रूप है। इसी तरह यह भी ...
15
16
माह की किसी भी चतुर्थी के दिन भगवान श्री गणेश की पूजा के दौरान संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत की कथा पढ़ना अथवा सुनना जरूरी होता है।
16
17
शनिवार, 5 सितंबर 2020 को आश्विन मास की संकष्टी गणेश चतुर्थी है। आश्विन कृष्‍ण चतुर्थी यानी पितृ पक्ष में आने वाली इस चतुर्थी पर पूजन का बहुत महत्व है।
17
18
संजा पर्यावरण को समर्पित एक लोक पर्व है। यह पर्व प्रकृति की देन फल-फूल, गोबर, नदी, तालाब आदि के देखरेख के साथ ही हमें इन चीजों को संजोने की प्रेरणा भी देता है।
18
19
भाद्रपद माह के शुक्ल पूर्णिमा से पितृ मोक्ष अमावस्या तक श्राद्ध पक्ष में कुंआरी कन्याओं द्वारा मनाया जाने वाला संजा पर्व भी हमारी विरासत है,
19