0

भूख बढ़ाने के साथ ही किडनी के लिए भी फायदेमंद है ये मसाला, जानिए 5 फायदे

मंगलवार,मई 7, 2019
javitri
0
1
बिल्वपत्र जिसे बेलपत्र का प्रयोग खास तौर से भगवान शिव के पूजन अभिषेक में किया जाता है। लेकिन अगर इसे औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाए तो यह आपकी कई सेहत समस्याओं का बेहतरीन इलाज साबित हो सकता है। यकीन नहीं आता तो बेलपत्र से होने वाले सेहत के इन 5 ...
1
2
पौराणिक लेख और कई अत्याधुनिक शोधों ने इस बात को प्रमाणित किया है कि सफेद मूसली एक चमत्कारी औषधि है जिसका प्रयोग कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक करने में किया जाता है।
2
3
पीपल का पेड़ अपनी घनी छांव और ताजा प्राणवायु के लिए जाना जाता है और इसकी पूजा भी की जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पीपल का पेड़ आपको सेहत से जुड़े लाभ भी देता है? जानिए पीपल के यह 13 सेहत लाभ -
3
4
कई तरह के फलों एवं सब्जियों में पाया जाने वाला एक प्राकृतिक यौगिक शरीर में कोशिकाओं को पहुंचने वाले नुकसान का स्तर कम कर बुढापे से लड़ने में मददगार साबित हो सकता है। वैज्ञानिकों ने एक नए अध्ययन के आधार पर यह बात कही है।
4
4
5
एक हस्तलिखित पांडुलिपि या किताब इंदौर के रहने वाले साधारण से व्यक्ति नरेंद्र चौहान के पास सुरक्षित है। इस पांडुलिपि या किताब में पांच हजार नहीं बल्कि 84 हजार वर्षों तक जिंदा बने रहने के नुस्खे लिखे हैं।
5
6
आयुर्वेद में हरड़ का काफी महत्व है, इसे हरीतकी भी कहा जाता है । यह न केवल सेहत की समस्याओं के लिए फायदेमंद है, बल्कि इसके सौंदर्य लाभ भी कम नहीं है। इस छोटी सी हरड़ के बड़े सेहत लाभ आपको भी जरूर जानना चाहिए। इसके यह 10 ऐसे नुस्खे जो आपको चौंका देगें ...
6
7
नवदुर्गा, यानि मां दुर्गा के नौ रूप। इन 9 औषधि‍यों में भी विराजते हैं, मां अम्बे के यह नौ रूप, जो समस्त रोगों से बचाकर जगत का कल्याण करते हैं। नवदुर्गा के नौ औषधि स्वरूपों को सर्वप्रथम मार्कण्डेय चिकित्सा पद्धति के रूप में दर्शाया गया और चिकित्सा ...
7
8
आयुर्वेद में स्वास्थ्य संबंधी हर समस्या का इलाज मौजूद है, जो समस्या से राहत ही नहीं देता बल्कि समस्या को जड़ से समाप्त करता है। जानिए 10 ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां, जो आपको बिना किसी साइड इफेक्ट के स्वास्थ्य लाभ देंगी और सेहत समस्याओं से निजात ...
8
8
9
प्याज भोजन से लेकर सलाद तक का अभिन्न हिस्सा है। हालांकि कई लोग प्याज का सेवन नहीं करते, लेकिन जो लोग करते हैं, उनके लिए तो इसके बगैर खाना बेस्वाद सा होता है। सिर्फ स्वाद के लिए ही प्याज का उपयोग नहीं होता, सेहत के लिए भी यह लाभकारी होता है। गर्मी ...
9
10
सेहत संबंधी कोई भी परेशानी हो, घरेलू नुस्खों के जरिए उन्हें ठीक किया जा सकता है। पुदीना भी इन्हीं घरेलु नुस्खों में से एक है, जिसका महत्व आयुर्वेद में भी बताया गया है। फिलहाल जानिए पुदीने के 16 उपाय, जो सेहत समस्याओं से निजात दिलाए -
10
11
गर्मी के दुष्प्रभाव और सेहत की हर समस्या के लिए बेल का प्रयोग रामबाण है। यह न केवल शरीर में ठंडक पैदा करेगा बल्कि आपको सेहत से जुड़े ऐसे लाभ देगा, जिसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। गर्मियों में रामबाण है बेल और उसका शर्बत। जानें 7 फायदे -
11
12
भारतीय आयुर्वेद में ऐसे ऐसे नुस्खे हैं जिनसे बड़े से बड़े असाध्य रोगों का भी इलाज संभव है। आज हम आपको बता रहे हैं आयुर्वेद की एक ऐसी अनमोल औषधि के बारे में जो बेहद आसानी से मिलती है लेकिन इस गुणों को जानेंगे तो हैरान रह जाएंगे। इस औषधि के प्रयोग से न ...
12
13
आयुर्वेद में स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों के इलाज मौजूद है। ऐसी चीजें जो हमारे आसपास ही हैं लेकिन हमें उनके बारे में जानकारी नहीं है। प्रस्तुत है 10 ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां जो आपको बिना किसी साइड इफेक्ट के स्वास्थ्य लाभ देंगी।
13
14
. एक चम्मच अलसी के बीजों को अच्छी तरह से चबाकर खाइए और दो गिलास पानी पीजिए। ऐसा प्रतिदिन सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले करना है।
14
15
घर में आम तौर पर ऐसी कई सारी चीजें होती है जिन्हें हम रोजाना मुखवास या मसालों के रूप में उपयोग करते हैं, लेकिन वे मसाले अन्य कई तरह से हमारे लिए उपयोगी एवं लाभकारी होते हैं, जिनकी हमें जानकारी ही नहीं होती .... ऐसी ही एक बेशकीमती चीज है इलायची ...
15
16
आयुर्वेद के अलावा भारत की स्थानीय संस्कृति में कई चमत्कारिक पौधों के बारे में पढ़ने और सुनने को मिलता है। एक ऐसी जड़ी है जिसको खाने से जब तक उसका असर रहता है, तब तक व्यक्ति गायब रहता है।
16
17
मुलहठी जहां शरीर को शक्तिशाली बनाती है, वहीं अन्य कई रोगों में वह लाभकारी हैं। खासकर महिलाओं में होने वाले अनियमित मासिक ऋतुस्राव के लिए तो एक विशेष औषधि के तौर पर प्रयोग की जाती है। आइए जानते हैं मुलेहठी के औषधीय उपाय...
17
18
एक बहुत ही उपयोगी एवं सुपरिचित जड़ी है मुलहठी, जिसे अन्य बोलचाल में मुलेठी भी कहते हैं। यह दो वर्ष तक खराब नहीं होती और विभिन्न नुस्खों में औषधि के रूप में प्रयोग की जाती है।
18
19
सफेद मूसली सदियों से हमारे देश में बल पुष्टिकारक के तौर पर जानी जाती है। चीनी जड़ी जिंसेंग की तुलना में सफेद मूसली अधिक गुणकारी है। स्थानीय जड़ी होने के कारण सफेद मूसली जिंसेंग की तुलना में बहुत सस्ती है।
19