पेट्रोल-डीजल के बाद दूध पर भी महंगाई की मार, क्या 1 मार्च से 100 रुपए लीटर मिलेगा...

Last Updated: रविवार, 28 फ़रवरी 2021 (15:30 IST)
नई दिल्ली। कृषि कानून के विरोध और तेजी से बढ़ रहे पेट्रोल, डीजल के दामों को देखते हुए हरियाणा के हिसार में खाप पंचायत ने के दाम बढ़ाने का फैसला किया है। पंचायत ने गांव में दूध के दाम नहीं बढ़ाए है, अगर दूध बाहर जाता है तो उसे खरीदने वालों को यह 100 रुपए प्रति लीटर मिलेगा।
खाप पंचायत के एक प्रतिनिधि ने कहा कि हमने दूध को 100 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से देने का फैसला किया है। हम डेयरी किसानों से अपील करते हैं कि सरकारी कोऑपरेटिव सोसाइटी को इसी दाम पर दूध बेचें।
दिल्ली
बॉर्डर पर किसानों के धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए भारतीय किसान यूनियन के अंबाला जिला प्रधान मलकीत सिंह ने भी बीते दिनों एक बयान में 1 मार्च से देशभर के किसानों से दूध की कीमत में 50 रुपए बढ़ाने की बात कही थी।
इसके बाद से ही माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर दूध 100 रुपए लीटर बेचे जाने का हैशटैग भी ट्रेंड करने लगा।

ट्विटर पर #1मार्च_से_दूध_100_लीटर हैशटैग के साथ ट्वीट कर रहे कुछ लोग पूछ रहे हैं कि जब लोग 100 रुपए लीटर पेट्रोल खरीद सकते हैं तो दूध क्‍यों नहीं?
उल्लेखनीय है कि देश में कई क्षेत्रों में पेट्रोल के दाम 100 रुपए प्रति लीटर के स्तर को पार कर गए। इस वजह से गांव से शहर दूध पहुंचाना महंगा पड़ रहा है। इसे देखते हुए दूध उत्पादक भी लंबे समय से इसके दाम बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

हालांकि देश के राज्यों में दूध के अलग-अलग भाव होते हैं और वहां के दुग्ध संघ दाम तय करते हैं।
फिलहाल यह 50 से 55 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है।

बहरहाल लोग यह सोचकर हैरान है कि अगर दूध वाकई 1 मार्च से 100 रुपए प्रति लीटर मिलने लगा तो वे इसे बच्चों को कैसे पिला पाएंगे?



और भी पढ़ें :