'NAG' एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण, जानिए क्या है इसमें खास

Last Updated: गुरुवार, 22 अक्टूबर 2020 (12:57 IST)
पोखरण। भारत ने गुरुवार को द्वारा विकसित 'नाग' का अंतिम परीक्षण एक वारहेड के साथ सफलतापूर्वक किया। राजस्थान के पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में सुबह 6.45 बजे इस अत्याधुनिक एंटी गाइडेड मिसाइल का परीक्षण किया गया।
ALSO READ:
'पृथ्वी-2' मिसाइल का सफल परीक्षण, 350 किलोमीटर तक कर सकती है हमला
यह मिसाइल किसी भी मौसम में दुश्मन के बड़े युद्ध टैंकों को मार गिराने की क्षमता रखती है। इसमें इंफ्रारेड भी है, जो लॉन्च से पहले टारगेट को लॉक करता है। इसके बाद अचानक ऊपर उठती है और फिर तेजी से टारगेट के एंगल पर मुड़कर उसकी ओर चल देती है। लक्ष्‍य भेदने की इसकी क्षमता काफी सटीक है।

यह मिसाइल जमीन से जमीन पर 4 किलोमीटर तक मार कर सकती है और हेलीकॉपटर से इसकी मारक क्षमता बढ़कर 5 किमी हो जाती है।
सीमा पर चीन के साथ जारी तनाव के बीच इस मिसाइल परीक्षण को काफी अहम माना जा रहा है। आज ही आईएनएस करावत्ती को भी नौसेना में शामिल किया जा रहा है। भारतीय सेना को मजबूती देने की दिशा में हाल ही में सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस समेत कई मिसाइलों के परिक्षण किए गए हैं।



और भी पढ़ें :