अवैध बार चलाने के आरोप भड़की स्मृति ईरानी, कहा- मैंने सोनिया-राहुल की लूट का खुलासा किया, यही मेरी बेटी की गलती

Last Updated: शनिवार, 23 जुलाई 2022 (19:27 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि उनकी 18 वर्षीय बेटी कॉलेज की प्रथम वर्ष की छात्रा है और किसी बार को नहीं चला रही है। ईरानी ने के आरोपों पर कहा कि मेरी बेटी की गलती यह है कि उसकी मां ने सोनिया और राहुल गांधी द्वारा 5,000 करोड़ रुपए की ‘लूट’ पर संवाददाता सम्मेलन किया।


अमेठी से भाजपा सांसद स्मृति ईरानी ने कहा कि मैं राहुल गांधी को 2024 में अमेठी लोकसभा सीट से फिर से चुनाव लड़ने की चुनौती देती हूं, और मैं वादा करती हूं कि वे फिर से हारेंगे। मैं कानून की अदालत, लोगों की अदालत में जवाब मांगूंगी।

उनकी बेटी जोइश ने गोवा के एक ‘‘अवैध बार’’ में अपनी संलिप्तता के आरोपों को शनिवार को ‘‘निराधार’’ करार दिया और कहा कि वह न तो रेस्तरां की मालकिन हैं और न इसे चला रही हैं। जोइश ईरानी की ओर से उनके वकील कीरत नागरा ने एक बयान जारी करके अपनी मुवक्किल के खिलाफ आरोपों से इनकार किया और कहा कि स्मृति ईरानी के राजनीतिक विरोधियों ने उनके खिलाफ "मनगढ़ंत" आरोप लगाए हैं, जिनका एकमात्र उद्देश्य राजनीतिक नेता की बेटी होने के कारण मुवक्किल (जोइश) को बदनाम करना है।
मीडिया के एक वर्ग में आईं खबरों के बाद कांग्रेस ने आरोप लगाया कि ईरानी की बेटी गोवा में एक 'अवैध बार' चला रही हैं। कांग्रेस ने यह भी मांग की कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को केंद्रीय मंत्री को बर्खास्त कर देना चाहिए। जोइश का बयान इन खबरों के बाद आया है।

कांग्रेस ने इसे ‘हुत गंभीर मुद्दा’ करार देते हुए बार को भेजे गए कथित ‘कारण बताओ नोटिस’ की एक प्रति भी साझा की है और कहा है कि अधिकारियों के कथित दबाव के बाद नोटिस देने वाले आबकारी अधिकारी का तबादला किया जा रहा है। जोइश के वकील ने हालांकि कहा कि उन्हें किसी भी प्राधिकरण से कोई नोटिस नहीं मिला है।
वकील ने कहा कि मेरी मुवक्किल 18 वर्षीय छात्रा और एक नवोदित शेफ हैं, जिन्होंने पाक कला सीखने के लिए विभिन्न रेस्तराओं में काम किया है और उनकी मां के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों द्वारा उन्हें डराने की कोशिश की जा रही है।

नागरा ने एक बयान में कहा कि इन राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों ने हमारी मुवक्किल के खिलाफ विभिन्न प्रकार के निराधार एवं मनगढ़ंत आरोप लगाए हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि वे लोग सिर्फ इसलिए दुष्प्रचार कर रहे हैं ताकि तथ्यों की जांच-परख किए बिना मुद्दाविहीन बात को सनसनी बनाकर पेश किया जा सके और वे मेरी मुवक्किल को सिर्फ इसलिए बदनाम करने पर आमादा हैं कि वह एक नेता की पुत्री हैं।
उन्होंने आगे कहा कि ज़ोइश का रेस्तरां के प्रबंधन और अन्य मामलों पर कोई नियंत्रण या निगरानी नहीं है तथा यहां उनका सीमित मेलजोल सिली सोल्स कैफे के शेफ के साथ केवल इंटर्नशिप कार्यक्रम से जुड़ा था।

नागरा ने कहा कि हमारी मुवक्किल न तो रेस्तरां की मालकिन हैं और न ही वह ‘सिली सोल्स गोवा’ नामक रेस्तरां का संचालन करती हैं। इसके अलावा उन्हें किसी भी प्राधिकरण से कोई ‘कारण बताओ नोटिस’ नहीं मिला है।
बयान के अनुसार जोइश वर्तमान में उच्च शिक्षा ग्रहण कर रही हैं और रेस्तरां में न तो काम कर रही हैं, न ही उन्हें कोई जानकारी है। उनका रेस्तरां के संबंध में कथित रूप से किसी भी घटना से कोई लेना-देना नहीं है।

कांग्रेस के प्रवक्ता पवन खेड़ा ने संवाददाताओं से कहा कि ईरानी परिवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं और उनकी बेटी गोवा में कथित तौर पर एक रेस्तरां चला रही हैं, जिसमें "फर्जी लाइसेंस" से एक बार चल रहा है।
उन्होंने कहा कि स्मृति ईरानी की बेटी द्वारा लिया गया लाइसेंस एक ऐसे व्यक्ति के नाम पर है, जिसकी मई 2021 में मृत्यु हो गई थी, और लाइसेंस गोवा में जून 2022 में लिया गया था। लेकिन जिस व्यक्ति के नाम पर लाइसेंस है, उसकी मृत्यु 13 महीने पहले हुई थी। यह अवैध है।



और भी पढ़ें :