राहुल गांधी बोले- प्रधानमंत्री कभी माकपा मुक्त भारत क्यों नहीं कहते?

पुनः संशोधित शनिवार, 3 अप्रैल 2021 (18:03 IST)
कोइलांडी (केरल)।

द्वारा 'मुक्त भारत' का नारा दिए जाने पर उनकी आलोचना करते हुए राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि ऐसा लगता है कि मोदी को केवल कांग्रेस से ही समस्या है, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी से नहीं।
से सांसद गांधी ने कहा, प्रधानमंत्री जहां भी जाते हैं, कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं। जब वह सुबह उठते हैं तब कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं और जब वह सोने जाते हैं तब कांग्रेस मुक्त भारत कहते हैं। प्रधानमंत्री कभी माकपा मुक्त भारत क्यों नहीं कहते?

गांधी ने कहा, उन्हें वामदलों से कोई समस्या नहीं है लेकिन कांग्रेस से है। केरल में छह अप्रैल को होने वाले पहले चरण के मतदान से पहले चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे गांधी ने एक सभा को संबोधित करते हुए यह बयान दिया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस जहां लोगों को जोड़ने का काम करती रही, वहीं वामदल लोगों में विभाजन पैदा करते रहे। गांधी ने कहा कि हम (कांग्रेस) जहां भी जाते हैं, सबको जोड़ने का काम करते हैं।

उन्होंने कहा, हम जोड़ने वाली ताकत हैं। हम जहां भी जाते हैं, लोगों की पहचान करते हैं और उन्हें एक करते हैं और शक्तिशाली बनाते हैं। को आड़े हाथों लेते हुए गांधी ने कहा कि संघ यह समझता है कि जो लोग सबको जोड़ते हैं उनसे उसे सबसे बड़ा खतरा है।

गांधी ने कहा, और वे बहुत अच्छी तरह समझते हैं कि उनकी तरह वामदल भी समाज को बांटने का काम करता है।उन्होंने कहा, वामपंथ भी आक्रोश और हिंसा की विचारधारा है। कांग्रेस ने कभी घृणा नहीं फैलाई और केवल सबको एक किया।

उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार का विभाजन देश और राज्य को कमजोर करेगा। गांधी ने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा सभी भारतीयों को समान रूप से लाभ पहुंचाने की है और देश तभी प्रगति करेगा, जब वह एक रहेगा।(भाषा)




और भी पढ़ें :