गलवान में चीनी सैनिकों के मारे जाने के सबूत, ग्रेवस्टोन की तस्वीरें हुई वायरल

पुनः संशोधित शनिवार, 29 अगस्त 2020 (11:51 IST)
नई दिल्ली। लद्दाख की घाटी में 15 जून को भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में चीनी सैनिकों के भी मारे जाने के सबूत सामने आ गए हैं। हालांकि चीन ने कभी भी इस बारे में खुलकर कुछ नहीं कहा। वह इस बात को दुनिया से छिपाता ही रहा है। दूसरी ओर, इस झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे।
दरअसल, संभावित की कब्र का पत्थर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीबो (Weibo) पर शेयर हुआ है। ऐसा माना जा रहा है कि यह कब्र उस चीनी सैनिक की है, जो भारतीय सैनिकों से झड़प के दौरान मारा गया। वीबो के बाद ये फोटो ट्‍विटर हैंडल पर शेयर हो गए। बताया जा रहा है कि यह चीनी सैनिक चेन जियानग्रोंग की कब्र है।
सोशल मीडिया पोस्ट में एक सैन्य मंच पर एक चीनी सैनिक चेन कब्र के बारे में जानकारी देते हुए तस्वीर पोस्ट की गई है। कब्र पर चीनी भाषा मंदारिन में लिखा गया है कि फुजियान के पिंगनान से 69316 ट्रुप का सैनिक चेन जियानग्रोंग का मकबरा। इसमें यह भी लिखा गया है कि इस सैनिक ने जून 2020 में भारतीय सैनिकों के साथ हुए संघर्ष में अपना बलिदान दिया और मरणोपरांत केंद्रीय सैन्य आयोग (CMC) द्वारा याद किया गया।
आपको बता दें कि 2 माह से अधिक समय गुजर जाने के बाद चीनी सरकार की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई कि भारत के साथ हुई झड़प में कितने चीनी सैनिकों की मौत हुई थी। दूसरी ओर, इस हिंसक झड़प में भारत की ओर 16 बिहार रेजीमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल बी. संतोष बाबू सहित 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। (फोटो : सोशल मीडिया)



और भी पढ़ें :