रविवार, 21 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. MSCI seeks information from Adani Group on Hindenburg report
Written By
Last Modified: शनिवार, 28 जनवरी 2023 (18:37 IST)

Adani Group : हिंडनबर्ग रिपोर्ट पर MSCI ने अडाणी समूह से मांगी जानकारी

Gautam Adani
नई दिल्ली। सूचकांक प्रदाता एमएससीआई ने शनिवार को कहा कि अडाणी समूह की कंपनियों के शेयर भाव को गलत तरीके से बढ़ाने का आरोप लगाने वाली हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट पर उसने समूह की प्रतिभूतियों से जानकारी मांगी है।

एमएससीआई ने कहा कि वह अडाणी समूह और उसकी कंपनियों के कामकाजी तौर-तरीकों के बारे में आई इस रिपोर्ट से अवगत है। उसने एक बयान में कहा, एमएससीआई इस स्थिति के बारे में सार्वजनिक रूप से उपलब्ध सूचना पर करीबी नजर रखे हुए है।

सूचकांक प्रदाता ने कहा, एमएससीआई वैश्विक निवेश-योग्य बाजार सूचकांक के लिए प्रासंगिक प्रतिभूतियों की योग्यता को प्रभावित कर सकने वाले कारकों एवं मौजूदा हालात पर हमारी निगाह है। उसने कहा कि इन मुद्दों पर बाजार प्रतिभागियों से समय पर फीडबैक आने का वह स्वागत करती है। वर्तमान में अडाणी समूह से जुड़ी आठ कंपनियां एमएससीआई स्टैंडर्ड सूचकांक का हिस्सा हैं।

बाजार जानकारों का मानना है कि कोई भी प्रतिकूल जानकारी मिलने पर एमएससीआई सूचकांक में अडाणी समूह की कंपनियों के भारांक को कम किया जा सकता है या फिर उसे सूचकांक से बाहर भी किया जा सकता है।

अगर इस तरह का कोई कदम उठाया जाता है तो फिर अडाणी समूह की कंपनियों के शेयरों में बिकवाली और तेज हो सकती है। हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट आने के बाद से दो कारोबारी दिनों में ही अडाणी समूह के बाजार पूंजीकरण में 4.17 लाख करोड़ रुपए की भारी गिरावट आ चुकी है।

हालांकि जानकारों को लगता है कि अडाणी समूह से फीडबैक आने और उसकी समीक्षा की प्रक्रिया पूरी न होने तक एमएससीआई कोई भी कदम नहीं उठाएगी। अमेरिका की एक्टिविस्ट निवेश शोध फर्म हिंडनबर्ग रिसर्च ने मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा था कि अडाणी समूह की कंपनियों ने शेयरों के भाव बढ़ाने के लिए गलत तरीके अपनाए हैं। इसके अलावा समूह की कंपनियों पर लेखांकन में धोखाधड़ी करने के आरोप भी लगाए गए हैं।

यह रिपोर्ट अडाणी समूह की प्रतिनिधि कंपनी अडाणी एंटरप्राइजेज का अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम (एफपीओ) आने के ऐन पहले आई है। कंपनी का एफपीओ के जरिए 20000 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य है, लेकिन शुक्रवार को निर्गम खुलने पर भारी बिकवाली होने से कंपनी के शेयर काफी नीचे चले गए।

अडाणी समूह ने इस रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा है कि इसे गलत इरादे से उसके एफपीओ को नुकसान पहुंचाने के मकसद से जारी किया गया है। इसके साथ ही उसने कानूनी विकल्प आजमाने पर विचार करने की भी बात कही है।
Edited By : Chetan Gour (भाषा)
ये भी पढ़ें
भारत जोड़ो यात्रा : कई विवादों और आरोप-प्रत्यारोप ने सुर्खियों में बनाए रखा