MaharashtraPoliticalCrisis: मुख्यमंत्री निवास 'वर्षा' छोड़ मातोश्री पहुंचे CM उद्धव ठाकरे, उमड़ा समर्थकों का हुजूम

Last Updated: गुरुवार, 23 जून 2022 (00:41 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे के विद्रोह के बीच शीर्ष पद छोड़ने की पेशकश के कुछ घंटों बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बुधवार रात दक्षिण मुंबई के अपने आधिकारिक आवास से उपनगरीय बांद्रा स्थित पारिवारिक आवास ‘मातोश्री’ पहुंच गए। यहां शिवसैनिकों ने उनका जमकर स्वागत किया।

पार्टी कार्यकर्ताओं को नारे लगाते और मुख्यमंत्री तथा उनके परिवार पर फूल बरसाते देखा गया। इस दौरान उन्होंने मास्क लगाया था और मातोश्री के पास उन्होंने कार्यकर्ताओं का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। आदित्य ठाकरे ने समर्थकों को विक्ट्री साइन दिखाया।
2 दिन पहले शिंदे के विद्रोह के कारण उनकी सरकार के समक्ष उत्पन्न राजनीतिक संकट के बीच ठाकरे अपने आधिकारिक आवास 'वर्षा' से परिवार के निजी बंगले ‘मातोश्री’ चले गए। जब ठाकरे सरकारी आवास से बाहर निकल रहे थे तब नीलम गोरहे और चंद्रकांत खैरे जैसे शिवसेना नेता वहां मौजूद थे। जब वह अपने परिवार के सदस्यों के साथ अपने आधिकारिक घर से रात 9 बजकर 50 मिनट पर निकले तो पार्टी कार्यकर्ताओं ने नारे लगाए और मुख्यमंत्री पर पंखुड़ियों की बारिश की। इससे पहले उनके निजी सामान से भरे बैग को कई कार में लादते हुए देखा गया था।
शाम को 'फेसबुक लाइव' में ठाकरे ने कहा था कि वे 'वर्षा' छोड़कर 'मातोश्री' में रहेंगे। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे नवंबर 2019 में मुख्यमंत्री बनने के बाद 'वर्षा' में रहने चले गए थे। हालांकि, शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि पार्टी विधायकों के एक वर्ग द्वारा विद्रोह के बावजूद ठाकरे इस्तीफा नहीं देंगे और आवश्यकता होने पर सत्ताधारी महाविकास आघाड़ी (MVA) गठबंधन विधानसभा में अपना बहुमत साबित करेगा। राकांपा और कांग्रेस भी एमवीए का हिस्सा हैं।
4 शिवसैनिक गुवाहाटी पहुंचे : महाराष्ट्र के चार विधायकों के साथ एक और चार्टर्ड विमान बुधवार को यहां पहुंचा। वे लोग दिन में गुवाहाटी पहुंचे शिवसेना के बागी विधायकों के साथ शामिल होंगे। सूत्रों ने यह जानकारी दी। चार विधायक-- चंद्रकांत पाटिल, योगेश कदम, मंजुला गावित और गुलाबराव पाटिल--गुजरात के सूरत से (महाराष्ट्र के) उन अन्य विधायकों की तरह यहां पहुंचे, जो महाराष्ट्र के मंत्री एकनाथ शिंदे के साथ सुबह में यहां आए थे।

सूत्रों ने बताया कि महाराष्ट्र के चार और विधायक एक चार्टर्ड विमान से यहां पहुंचे। उन्हें शहर के उस होटल ले जाया गया, जहां अन्य विधायकों को ठहराया गया है। गावित और चंद्रकांत पाटिल निर्दलीय विधायक हैं, जबकि कदम और गुलाबराव पाटिल शिवसेना विधायक हैं। सूत्रों ने बताया कि ये चारों विधायक बुधवार को सूरत पहुंचे थे और बाद में उन्होंने गुवाहाटी के लिए उड़ान भरी। गुलाबराव पाटिल, उद्धव ठाकरे नीत महाराष्ट्र सरकार में जलापूर्ति एवं स्वच्छता मंत्री हैं। वह बागवानी मंत्री संदीपल भुमरे के बाद शिंदे के खेमे में शामिल होने वाले दूसरे कैबिनेट मंत्री हैं।

महाराष्ट्र के बागी विधायकों का एक समूह शिंदे के नेतृत्व में बुधवार सुबह गुवाहाटी पहुंचा। उन्हें मंगलवार को मुंबई से सूरत ले जाया गया था और बुधवार तड़के उन्हें गुवाहाटी भेज दिया गया। सुबह पहुंचे विधायकों में एक नितिन देशमुख कुछ घंटे बाद एक चार्टर्ड विमान से नागपुर रवाना हो गए। देशमुख ने बाद में कहा कि वे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ हैं।
उद्धव के खिलाफ शिकायत : दिल्ली से भाजपा के एक नेता ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के विरुद्ध कथित तौर पर कोविड-19 प्रोटोकॉल तोड़ने के लिए एक शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने यह जानकारी दी। ठाकरे की जांच में बुधवार को कोरोनावायरस संक्रमण की पुष्टि हुई और वे मुंबई में अपने आधिकारिक आवास से व्यक्तिगत आवास की ओर जाते हुए समर्थकों से मिलने लगे थे।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ठाकरे के विरुद्ध मालाबार हिल पुलिस थाने में ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई है।



और भी पढ़ें :